अगरबत्ती बना कर बने स्वयं रोजगार जानिए कैसे?

अगरबत्ती कैसे बनाये?

अगरबत्ती उद्योग एक ऐसा उद्यम है, जिसे कोई भी आसानी से कर सकता है। खादी ग्रामोद्योग, राजघाट की डेमन्स्ट्रेटर एवं ट्रेनर सरस्वती मेहता के मुताबिक अगरबत्ती उद्योग एक ऐसा उद्योग है, जो घर के एक कमरे से लेकर फैक्टरी स्तर तक खड़ा किया जा सकता है। यह हर रोज की खपत वाला प्रोडक्ट है, इसलिए हर मौसम में इसकी मार्केटिंग वैल्यू बरकरार रहती है। यह उद्योग गांव से लेकर कस्बों और शहरों तक में स्थापित किया जा सकता है।

योग्यता: पढ़े-लिखों के साथ मध्यम और कम शिक्षा प्राप्त लोग भी इस उद्योग में किस्मत आजमा सकते हैं।

प्रवेश: खादी ग्रामोद्योग में 200 रुपए का प्रवेश फॉर्म है। उसमें दिए प्रवेश फॉर्म के साथ एज प्रूफ की कॉपी और एक फोटो संलग्न करके जमा करें। एस़ सी., एस टी या मुस्लिम समुदाय को यह फॉर्म 100 रुपए प्रवेश शुल्क तथा अन्य पिछड़ा वर्ग या सामान्य वर्ग वालों को 100 रुपए प्रवेश शुल्क के अलावा 200 रुपए ट्रेनिंग शुल्क सहित जमा करना होगा।

अवधि: खादी ग्रामोद्योग में अगरबत्ती बनाने का ट्रेनिंग पीरियड सिर्फ 15 दिन है। कुछ प्राइवेट संस्थान एक सप्ताह से तीन महीने तक का प्रशिक्षण देते हैं।

शुरुआत: अगरबत्ती उद्योग गांव, कस्बे से लेकर छोटे-बड़े शहरों तक में सूक्ष्म, लघु और मध्यम तीनों स्तरों पर शुरू किया जा सकता है। यह काम 25 वर्ग गज के कमरे से लेकर एक हजार वर्ग गज जगह तक में स्थापित हो सकता है। इसकी शुरुआत 10 हजार से भी की जा सकती है। फैक्टरी स्तर पर काम करने के लिए आप लाखों में खेल सकते हैं।

कच्चा माल: कस्बों, शहरों के मुख्य बाजारों में कच्चा माल आसानी से मिल जाता है। दिल्ली में कच्चा माल सीलमपुर, सदर बाजार, तिलक बाजार में मिल जाता है। देश के अन्य शहरों में बेंगलुरू, मैसूर, कन्नौज, कानपुर, बरेली से कच्चा माल और बड़ोदरा, गुजरात में कच्चे माल के अलावा मशीनें भी मिलती हैं।

क्या-क्या चाहिए: अगरबत्ती बनाने के लिए बांस की तिल्ली, नरवा पाउडर, चारकोल पाउडर, जिगेट पाउडर, हर्बल पाउडर, सेंट पीपी बैग, अगरबत्ती बॉक्स, डीईपी कैमिकल आदि की जरूरत होती है। बिना सेंट वाली यानी प्राकृतिक खुशबू वाली अगरबत्ती बनाने के लिए गूगल, लोबान, मुश्क, कपूर, शुद्ध चंदन पाउडर, यारा यारा क्रिस्टल व अंबर क्रिस्टल आदि की आवश्यकता होगी।

उपकरण: लघु स्तर पर अगरबत्ती बनाने के लिए लकड़ी की डेस्क, पटला, लोहे की ट्रे, एल्युमीनियम के भगौने आदि की जरूरत होती है। फैक्ट्री स्तर पर कार्य करने के लिए मशीनें चाहिए। इन मशीनों में मिक्सिंग मशीन, रोलिंग मशीन, कटिंग मशीन, धूप कोन मशीन, ड्रायर आदि शामिल हैं।

आमदनी:- अगरबत्ती उद्योग में काम करने वालों की संख्या तीन से सौ तक हो सकती है। यह उद्योग उत्पादन से लेकर मार्केटिंग तक परिश्रम की मांग करता है। इस काम में 10 से लेकर 50 प्रतिशत तक की आमदनी हो सकती है।

ऋण: खादी ग्रामोद्योग से ट्रेनिंग लेने वाले प्रवेश फॉर्म में दिए गए ऋण फॉर्म को पूरा भर कर उसी संस्थान या खादी बोर्ड या अपने एरिया की बैंक शाखा, जहां आपका खाता खुला हो, में जमा करें। प्राइवेट ट्रेनिंग लेकर भी आप निजी स्तर पर या प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ऋण ले सकते हैं। खादी ग्रामोद्योग से ऋण लेने के लिए निम्न दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी-

पासपोर्ट साइज के 2 फोटो।

आवेदक की योग्यता के प्रमाण-पत्र की फोटो प्रतियां।

तकनीकी योग्यता का प्रमाण-पत्र।

अनुभव प्रमाण-पत्र की फोटो प्रति।

राशन कार्ड, पहचान पत्र, बिजली बिल आदि।

उद्योग शुरू करने वाली जगह की रजिस्ट्री की कॉपी। किराए की जमीन है तो किराया नामा और अगर आपके पिता, माता या भाई के नाम कोई जमीन है तो एनओसी।

20 रुपए के स्टांप पेपर पर नोटरी द्वारा जारी किया गया घोषणा पत्र।

अगर इकाई ग्रामीण क्षेत्र में है तो खंड विकास अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र।

उद्योग से संबंधित प्रोजेक्ट रिपोर्ट।

कहां से ले सकते हैं प्रशिक्षण

भारत में अगरबत्ती बनाने का प्रशिक्षण देने वाले कुछ प्रमुख संस्थान इस प्रकार हैं-

बहुउद्देश्यीय प्रशिक्षण केंद्र, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, गांधी दर्शन, राजघाट, नई दिल्ली-110002

बहुउद्देश्यीय प्रशिक्षण केंद्र, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, उद्योगपुरी, पोस्ट-खंडगिरी, भुवनेश्वर

डॉ राजेंद्र प्रसाद बहुउद्देश्यीय प्रशिक्षण केंद्र, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, पोस्ट-बी वी कॉलेज, शेखपुरा, पटना

सी़बी कोरा ग्रामोद्योग संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, शिंपोली रोड, बोरीवली पश्चिम, मुंबई

Keywords :- Agarbatti banane ke liye kya kare? Agarbatti banane ki puri jankari. अगरबत्ती बनाने के लिए क्या करे, कैसे सीखे, अगरबत्ती से कमाई करने के तरीके. रोजगार के तरीके. लघु और कुटीर उद्योग घर में कैसे लगाये? 








इन्हें भी जरूर पढ़े...

25 thoughts on “अगरबत्ती बना कर बने स्वयं रोजगार जानिए कैसे?

  1. Mukesh

    मे मुकेश करकर, सूरत, गुजरात से हु।
    मे natural अगरबत्ती बनाना चाहता हु।
    प्रशिक्षण लेने के लिए क्या करना होगा, ओर अगर formulation मिल जाये तो आपका आभारी रहूंगा।
    धन्यवाद।

    मुकेश करकर, सूरत। गुजरात।

    +91 9033718233.
    Mvkarkar208@gmail.com

    Reply
  2. Jay prakash

    Mai agarbatti banane ka kaam suru karna chahta hu
    Kaise suru kare ?

    Reply
  3. Sharad Katiyar

    Muje agarbatti banana seekhna h……
    Form kab milenge

    Reply
  4. NISAR ALAM

    mujhe agarbati banana sikhna h or agarbati mini industry kholne ka process jaanna h. bataiye please…..

    Reply
  5. Manoj Kumar

    जी क्या हरियाणा में भी कही अगरबती बनाने की ट्रेंनिग दी जाती है यदि हाँ तो कृप्या मुझे उस संस्थान का पत्ता व मो0 no देने का कष्ट करें मेरा
    Email है mkmali06@ gmail.com
    Mo.no 9354944413

    Reply
  6. Vijay meel

    Me Rajasthan ka rahne wala hu Rajasthan me agarbatti banana kaha sikhaya jat h sir

    Reply
  7. Harlal Gehlot

    Me agarbati busines kana chat a hu gjar pr hi banana ki vidhi and Rajasthan me training Kha hot h

    Reply
  8. PRATHMESH VYANKAT SHILEWANT

    Sir muze agarbatti banana sikhana hai please help me i am from mumbai

    Reply
  9. Sushil Kumar Sharma

    अगरबत्ती व्यवसाय करने के इच्छुक व्यक्ति charbhaigramyaudyog@gmail.com पर तथा फोन नम्बर 9412858191 पर समय 9 बजे प्रात: से 10 बजे प्रात: तक सम्पर्क कर सकते हैं।
    कोई फ़ीस नहीं ।

    Reply
  10. Sushil Kumar Sharma

    अगरबत्ती के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए पत्र व्यवहार कर सकते हैं । पता है –
    चार भाई ग्राम्य उद्योग
    C/O अतुल इलेक्ट्रॉनिक्स,
    सेंटर पॉइंट, एन. ए. पी. एस. रोड.,
    नरौरा, बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश

    Reply
  11. Basant singh munda

    मैं अगरबत्ती बनाने का प्रशिक्षण लेना चाहत हूँ ।
    प्रशिक्षण केन्द्र दिल्ली में कैसे दाखिला लूगाँ ।
    हमारी सहायता करें । मेरा नम्बर 9661533965

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *