अरहर की दाल के घरेलू नुस्खे और उपाय, और इसे खाने के फायदे।

By | February 17, 2017

अरहर की दाल

अरहर की दाल को तूर दाल, तुअर की दाल और तुवर की दाल  के नाम से भी जाना जाता हैं। अरहर की दाल भारतीय लोगो द्वारा बहुत ज्यादा पसंद की जाती हैं। अरहर की दाल को इंग्लिश में Pigeon Pea या Lentil कहा जाता हैं। इसका वैज्ञानिक नाम Cajanus Cajan हैं।

100 ग्राम अरहर दाल में 22 ग्राम प्रोटीन, 15 ग्राम फाइबर, 343 कैलोरी, 17 मिलीग्राम सोडियम, 1392 मिलीग्राम पोटैशियम, 63 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और विटामिन ए, बी12, डी और कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है।

अरहर के कच्चे दानो को उबाल कर तड़का लगा कर बनायीं गयी दाल खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती हैं। अरहर की दाल स्वादिष्ट होने के साथ ही पौष्टिक भी होती हैं। कई जगहों पर अरहर की हरी-हरी फलियों में से दाने निकाल कर तवे पर भून कर भूजे की तरह भी खाया जाता हैं। आइये जानते हैं अरहर की दाल (तूर दाल) खाने से क्या-क्या फायदे होते हैं। Benefits of Toor/Arhar dal in Hindi.

अरहर की दाल खाने के फायदे

1. अरहर की दाल प्रोटीन का बहुत ही बढ़िया स्रोत मानी जाती हैं। इसे खाने से शरीर को प्रोटीन मिलता हैं।

Loading...

2. अरहर की दाल खाने के फायदे के बारे में कहा जाये तो इसमें फोलिक एसिड पाया जाता हैं। जो महिलाओं के लिए विशेष रूप से लाभकारी हैं। यह विटामिन्स की कमी को पूरा करता हैं। खास तौर पर यह गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही लाभकारी माना जाता हैं। एक रिसर्च के अनुसार खाने में भरपूर मात्रा में फोलिक एसिड लेते रहने से दिमाग और रीढ़ की हड्डियों से जुड़ी बिमारियों से बचने में मदद मिलती हैं।

3. तूर की दाल को खा कर शरीर में आयरन, फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, पोटैशियम, विटामिन बी, कैल्शियम और जरूरी मिनरल्स की कमी को पूरा किया जा सकता हैं।

4. अरहर की दाल में फाइबर बहुत ही अच्छी मात्रा होते हैं। यह कब्ज़ से छुटकारा दिलाती हैं। फाइबर से भरपूर होने के कारण, इसे नियमित रूप से खाने पर क्रोनिक डिजीज होने का खतरा काफी कम हो जाता हैं। नियमित रूप से फाइबर वाली इस दाल को खाने से दिल के रोग, स्ट्रोक और कई तरह के कैंसर, कार्डियोवैस्कुलर डिजीज और टाइप 2 डायबिटीज होने के खतरे से बचा जा सकता हैं।

5. अरहर के दाल के सेवन से शरीर को कई सारे न्यूट्रीएंट्स जैसे की प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट्स जैसे पोषक तत्व प्राप्त होते हैं। तुअर की दाल को फाइबर और प्रोटीन का बहुत ही अच्छा सोर्स माना जाता हैं। इसके अलावा इसे कोलेस्ट्रॉल फ्री भी माना गया हैं। अरहर की दाल को चावल के साथ मिला कर खाने से शरीर में प्रोटीन की कमी नहीं रहती हैं।

6. अरहर की दाल कार्बोहायड्रेट का बढ़िया सोर्स हैं, जिससे बॉडी को एनर्जी मिलती हैं। जब आप कोई भी कार्बोहायड्रेट वाला आहार खाते हैं तो यह शरीर में जाकर ग्लूकोज़ या ब्लड शुगर में बदल जाता हैं। इसे बाद ब्लड शुगर शरीर, दिमाग और नर्वस सिस्टम को एनर्जी देने का काम करता हैं।

7. अरहर की दाल को खाने से पेट की गैस दूर होती हैं। यह बवासीर मिटाने वाली दाल हैं। यह पेट के लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी मानी जाती हैं।

8. अरहर की दाल को भोजन में शामिल करने से खांसी और कफ से आराम मिलता हैं।

9. तुवर की दाल कफ, पित्त, वात और खून के विकारों को नष्ट करती हैं।

अरहर की दाल का इस्तेमाल हम सभी लोग खाने के लिए करते हैं। कभी कभार तो अरहर की दाल का रेट आसमान को छूने लगता हैं। अरहर की दाल की कीमतें बढ़ने की वजह जमाखोरी, अरहर की दाल की कम पैदावार आदि होते हैं। यह दाल भारतीय भोजन का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। सभी तरह की दालों में अरहर की दाल का विशेष स्थान हैं।

आपने ऊपर जाना की अरहर की दाल खाने से सेहत को क्या-क्या लाभ होते हैं। आइये अरहर की दाल के कुछ उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय के बारे में भी जानते हैं। यह दाल न सिर्फ खाने में अच्छी हैं, बल्कि इससे कई कारगर एवं उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय भी हैं, जो आपके काम आ सकते हैं।

अरहर की दाल के घरेलु नुस्खे और उपाय 

1. अरहर की दाल के पत्तो और हरी दूब घास के रस को बराबर मात्रा में मिला कर नाक में डालने से माइग्रेन से आराम मिलता हैं।

2. ज्यादा पसीना आने की समस्या हैं तो एक मुट्ठी अरहर की दाल में एक चम्मच नमक और आधा चम्मच पिसी हुयी सोंठ मिलाये और इसे सरसों के तेल में भूनिये। फिर इस तेल से शरीर की मालिश करे। इससे शरीर से ज्यादा पसीना आने की समस्या ख़त्म होने लगती हैं।

3. अरहर की कोमल पत्तियों को पीसकर घाव या जख्मो पर लगाने से घाव बहुत जल्दी सूखने लगता हैं। इससे घाव पकता भी नहीं हैं।

4. अरहर की कच्ची दाल को पानी में पीसकर भांग के नशे से ग्रसित व्यक्ति को पिलाना चाहिए। इससे भांग का नशा उतर जाता हैं।

5. दांतों में दर्द होने पर अरहर की पत्तियों का काढ़ा बना कर कुल्ला करने से दांत का दर्द कम हो जाता हैं।

6. अरहर की छिलके वाली दाल को रात भर के लिए पानी में भिगोए और सुबह इस पानी से कुल्ला करे। इससे मूंह के छाले बहुत जल्दी ठीक होने लगते हैं।

7. अरहर के पौधे की कोमल डंडियों, पत्तों को दूध देने वाले जानवरों को खिलाने से दूध देने वाले पशु ज्यादा मात्रा में दूध देते हैं।

8. प्रकृतिक जानकारो का यह मानना हैं की अरहर की पत्तियों और दालों को पीसकर हल्का सा गर्म करने के बाद डिलीवरी के बाद महिला के स्तन पर पर लगाने से, उसके दूध का बहना नार्मल हो जाता हैं।

9. शरीर में कंही भी सूजन होने पर 4 चम्मच अरहर की दाल को पीसकर बाँधने से उस अंग की सूजन कम हो जाती हैं।

10. अरहर की छिलके वाली दाल को 1 गिलास पानी में कुछ देर के लिए भिगोए और इसे पीसकर इसका लेप माथे पर लगाये। इसके बाद सिर को धोये और बालों में कंघी करे। कुछ दिनों तक यह उपाय करने से सिर की रूसी ख़त्म हो जाती हैं।

11. अरहर के पत्तियों को जला कर राख बना ले और इस राख में दही मिला कर खुजली वाली जगह पर लगाये। इससे खुजली से राहत मिलती हैं।

12. अरहर के पत्तों का रस पिलाने से अफीम के दुष्परिणाम को कम किया जा सकता हैं।

13. अरहर की दाल को पीसकर नमक मिला कर गर्म करके फोड़े पर बाँधने से फोड़ा जल्दी पक कर फूट जाता हैं।

14. अरहर की दाल के 3 दाने को 1 चम्मच पानी में भिगो दे और 2 घंटे के बाद इसे पीसकर पानी में घोलकर नाक में डालने से नकसीर बंद हो जाती हैं।

नोट :- अरहर की दाल को घी से छौंक कर खाने से किसी भी तरह की हानि नहीं होती हैं।

कई भ्रष्ट लोग अरहर की दाल में खेसारी की दाल मिला कर बेचते हैं। खेसारी की दाल देखने में अरहर की दाल की तरह ही दिखाई देती हैं। मैंने भी यह पाया हैं की 40 से 50 रुपये किलो में मिलने वाली सेहत के लिए हानिकारक खेसारी की दाल को अरहर की दाल में मिला कर धड़ल्ले से बेचा जाता हैं। जब यह भ्रष्ट लोग अरहर की दाल में खेसारी की दाल मिला कर बेचते हैं तो अरहर की दाल कम कीमत पर बेचते हैं। यह मिलावट वाली दाल को गरीब लोग खरीद लेते हैं, जिससे उनकी सेहत पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता हैं। खेसारी की दाल पशुओ के लिए भी जहरीली होती हैं। खेसारी की दाल ज्यादा खाने से आपको पोलियो, शारीरिक अपंगता, लकवा, सुन्नपन और कैंसर जैसी बीमारियाँ हो सकती हैं। इसलिए अरहर की दाल खरीदते समय उसे अच्छी तरह से जांचे और परखे, क्योंकि इसमें खेसारी की दाल की मिलावट भी हो सकती हैं।



Related posts:
नेल पोलिश लगाने के नुकसान
क्या प्रेगनेंसी में आम खाना सेफ हैं ?
डायबिटीज होने पर केला खाना चाहिए या नहीं ?
पीलिया रोग होने पर क्या करे?
सौंफ खाने के फायदे और घरेलु नुस्खे.
चिरौंजी खाने के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय।
हैंगओवर उतारने के उपयोगी घरेलु उपाय और तरीके।
फलों को लम्बे समय तक तरोताजा रखने के तरीके।
गर्मी से बचने के लिए जरूर फॉलो करे यह टिप्स।
कोलेस्ट्रॉल को कण्ट्रोल में क्यों रखना चाहिए? इसे कम करने के लिए क्या खाए?
मैदे से सेहत को होने वाले नुकसान के बारे में जानिए।
महिलाओं की प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले आहार के बारे में जानिए।

One thought on “अरहर की दाल के घरेलू नुस्खे और उपाय, और इसे खाने के फायदे।

  1. Sonu Kumar

    Your health article is really helpful for your reader. I am your regular vistors . Thanks for sharing such a useful article

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *