आइये जानते हैं पानी पीने से सम्बंधित कुछ भ्रम और सत्य।

पानी पीने से जुड़े हुए भ्रम और सत्य

हमारे शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए पानी की जरूरत पड़ती हैं। ऐसा कहा जाता हैं की एक व्यक्ति को रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए। क्या यह बात सच हैं? आइये जानते हैं पानी पीने से सम्बन्धित ऐसे ही भ्रम और सत्य, जिनके बारे में आप अनजान हैं। Myths & Facts about Drinking Water in Hindi.

पानी पीने के बारे में भ्रम और सत्य :-

भ्रम :- सर्दियों के दिनों में आपको डिहाइड्रेशन नहीं हो सकता हैं।

सत्य :- यह बात झूठ हैं। हमारी त्वचा और सांस में नमी की कमी होने का असर हमारे शरीर पर देखा जा सकता हैं। जैसे की होंठो का फटना, आँखों में सूखापन और त्वचा खुश्क होना, शरीर में लिक्विड की कमी के लक्षण होते हैं। इसलिए चाहे आप घर के अंदर ही काम क्यों कर रहे हो या फिर सर्दियों का मौसम ही क्यों न हो, पानी की कमी से बचने के लिए आपको ढेर सारा पानी पीना चाहिए।

भ्रम :- हर व्यक्ति को एक दिन में 8 गिलास पानी पीना चाहिए।

सत्य :- वैसे तो ज्यादा पानी सेहत के लिए फायदेमंद रहता हैं। लेकिन हकीकत यह हैं की शरीर को dehydrate रखने के लिए हर व्यक्ति को रोजाना 8 गिलास पानी पीने की जरूरत नहीं हैं। किसी को कितने मात्रा में लिक्विड पदार्थो की जरूरत हैं, यह उसके लिंग, वजन, एक्टिविटीज आदि पर डिपेंड करता हैं।

भ्रम :- एक्सरसाइज करते समय ज्यादा पानी पीना चाहिए।

सत्य :- पानी पीने की मात्रा इस बात पर डिपेंड करती हैं की आप कौन सी जगह पर एक्सरसाइज कर रहे हैं। और अगर आप एक्सरसाइज करते हुए हाइड्रेट रहते है तो आपको कसरत के दौरान पानी पीने की जरूरत नहीं हैं। परन्तु गर्मियों के दिनों में 1 घंटे के outdoor session में आप 4 कप पसीना बहा देते हैं, ऐसे में आपको वर्कआउट करने के आधा घंटे पहले ½ लीटर पानी पीना चाहिए। इसके अलावा आपको प्रत्येक 15 मिनट बाद ½ गिलास पानी पीते रहना चाहिए।

भ्रम :- प्यास लगना ही शरीर में पानी की कमी होने का संकेत हैं।

सत्य :- हाँ वैसे यह बात सच हैं की प्यास लगने का मतलब शरीर में पानी की कमी होने का संकेत हैं। लेकिन शरीर में पानी की कमी होने के संकेत और भी हो सकते हैं। बार-बार प्यास लगना शरीर में पानी की कमी होने के संकेत के अलावा अन्य बिमारियों का भी संकेत हो सकता हैं।

भ्रम :- सिर्फ पानी पीकर ही शरीर को हाइड्रेट रखा जा सकता हैं।

सत्य : यह बात सही नहीं हैं, की सिर्फ पानी पीकर ही शरीर को हाइड्रेट रखा जा सकता हैं। बल्कि बॉडी के लिक्विड लेवल को बनाये रखने के लिए आप जूस, ड्रिंक्स आदि भी ले सकते हैं। इसके अलावा आपके भोजन से भी आपको रोजाना के लिए जरूरी 20% तक लिक्विड की प्राप्ति होती हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *