इन गलत आदतों की वजह से मेटाबोलिज्म रेट हो जाता हैं धीमा…

इन गलत आदतों की वजह से मेटाबोलिज्म खराब हो जाता हैं।

मानव शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए मेटाबोलिज्म रेट का सही होना बहुत ही ज्यादा जरूरी हैं। क्योंकि अगर आपका मेटाबोलिज्म रेट धीमा हो जायेगा तो आपका वजन तेज़ी के साथ बढ़ने लगेगा, साथ ही आपके बॉडी का एनर्जी लेवल भी कम होने लगेगा। जैसा की एक्सपर्ट बताते हैं की व्यक्ति की उम्र बढ़ने के साथ ही उसका मेटाबोलिज्म रेट धीमा होने लगता हैं। लेकिन आज की खराब लाइफस्टाइल और गलत आदतों की वजह से छोटी सी उम्र से ही मेटाबोलिज्म में गड़बड़ी होने लगी हैं। Avoid these bad habits that makes metabolism rate so slow (Tips in Hindi.)

मेटाबोलिज्म को तेज़ गति के साथ काम करना बहुत ही जरूरी हैं। बॉडी का मेटाबोलिज्म रेट ठीक तरह से काम करे, इसके लिए जरूरी हैं की आप शुगर वाले ड्रिंक्स और ज्यादा फाइट वाले फूड न खाए। इसके अलावा भोजन में फाइबर वाले चीज़ों का सेवन ज्यादा से ज्यादा मात्रा में करे, ताकि शारीर का मोटापा न बढ़ सके और मेटाबोलिज्म भी सही ढंग से काम कर सके। आइये जानते हैं ऐसी गलतियों के बारे में जिसकी वजह से मेटाबोलिज्म रेट में गड़बड़ी पैदा हो जाती हैं।

इन खराब आदतों के चलते मेटाबोलिज्म रेट बन जाता हैं धीमा :-

■ सुबह का नाश्ता न करने के कारण

जो लोग मोर्निंग ब्रेकफास्ट नहीं करते हैं, उनके बॉडी का मेटाबोलिज्म रेट कम होने लगता हैं। जिससे मोटापा और टाइप 2 डायबिटीज की प्रॉब्लम हो सकती हैं। ऐसे में सुबह के समय नाश्ता जरूर करना चाहिए।

जरूर पढ़े :- सुबह नाश्ता न करने के कारण सेहत को होते हैं यह नुकसान।

■ ब्रेकफास्ट में स्मूदी पीना

जो लोग सुबह के नाश्ते में आइसक्रीम वाली स्मूदी पीते हैं, उन्हें सावधान हो जाने की जरूरत हैं। क्योंकि ऐसा करने से Metabolism process में खराबी आ सकती हैं। मोर्निंग ब्रेकफास्ट में ऐसे आहार का सेवन करना चाहिए, जिसमे चीनी की मात्रा कम हो।

■ दही न खाने की वजह से

सुबह के समय दही जरूर खानी चाहिए। ऐसा करने से मोटापे को कम करने में काफी ज्यादा मदद मिलती हैं। दही में कैल्शियम और प्रोबायोटिक्स होते हैं जो कमर के मोटापे बढ़ने नहीं देते हैं और साथ ही मेटाबोलिज्म रेट को भी सही बनाये रखते हैं। (दही खाने के फायदे जानने के लिए यहाँ क्लीक करे)

■ अच्छी नींद न लेने के कारण

अगर आप रात को देर से सोते हैं और सुबह जल्दी उठ जाते हैं तो आपको ऐसा नहीं करना चाहिए। रिसर्च बताते हैं की अगर आपकी नींद पूरी नहीं होती हैं तो आपका बॉडी का मेटाबोलिज्म रेट धीमा होने लगता हैं। मेटाबोलिज्म की गड़बड़ियों से बचने के लिए यह सबसे ज्यादा जरूरी हैं की आप भरपूर नींद ले। क्योंकि जब मेटाबोलिज्म धीमा हो जायेगा तो आपके बॉडी की कैलोरी बर्न होने में मुश्किल पैदा होने लगती हैं और आपको भूख भी नहीं लगती हैं। इसके अलावा मेटाबोलिज्म रेट के खराब होने के कारण शरीर में कोर्टिसोल हॉर्मोन के लेवल में वृद्धि हो जाती हैं, जिससे बॉडी में चर्बी जमा होने लगती हैं और आप मोटापे के शिकार बन जाते हैं।

■ प्रोटीन की मात्रा कम लेने के कारण

सुबह के नाश्ते में प्रोटीन वाली चीज़ों को जरूर खाना चाहिए। क्योंकी प्रोटीन भोजन करने के बाद भोजन की 35% कैलोरी को बर्न करने में सहायता करता हैं। इसलिए जरूरी हैं की आप ब्रेकफास्ट में प्रोटीन वाले आहार जरूर शामिल करे।

■ सुबह उठकर खाली पेट पानी न पीने के कारण

अधिकतर लोगो की सुबह की शुरुवात चाय या कॉफ़ी के सेवन के साथ होती हैं। इसलिए सुबह उठते ही खाली पेट 2 गिलास पानी पीजिये। सुबह खाली पेट पानी पीने से बॉडी का मेटाबोलिज्म रेट बढ़ने लगता हैं। (यह भी पढ़े :- सुबह खाली पेट पानी पीने के फायदे।)

■ घर का बना खाना न खाने के कारण

अगर मेटाबोलिज्म रेट को ठीक बनाये रखना चाहते हैं तो बाहर के खाने से परहेज़ करे और घर का बना हुआ खाना ही खाए। घर से ऑफिस जाते समय टिफ़िन में प्रोटीन युक्त आहार, फाइबर युक्त सब्जियां और हेल्दी फूड को भर कर ले जाये।

■ कॉफ़ी पीने का गलत समय

अगर आप दोपहर के समय यानि लंच के समय कॉफ़ी पीते हैं, तो आपके मेटाबोलिज्म में गड़बड़ी आ सकती हैं। कॉफ़ी पीने का सही समय मध्य दोपहर या फिर मिड मोर्निंग हैं। इस समय कोर्टिसोल का लेवल भी कम होता हैं। लेकिन ठीक दोपहर के समय कॉफ़ी के सेवन से आपकी कमर की साइज़ बढ़ सकती हैं। यानी की आप मोटापे से ग्रस्त हो सकते हैं।

■ आयोडीन वाला नमक न खाने के कारण

आयोडीन थाइरोइड ग्लैंड में हॉर्मोन के निर्माण में न्यूट्रीएंट्स की भूमिका निभाता हैं। जिससे मेटाबोलिस्म को रेगुलेट करने में मदद मिलती हैं। इसलिए हमेशा आयोडीनयुक्त नमक का ही सेवन करना चाहिए।

■ खराब ड्रिंक्स पीने के कारण

बहुत ज्यादा क्लोरीन और फ्लोराइड वाले ड्रिंक्स को पीने की वजह से थाइरोइड पर बुरा असर पड़ता हैं। मेटाबोलिज्म को ठीक बनाये रखने के लिए ग्रीन टी और फ़िल्टर वाला पानी पीने की जरूरत हैं। जरूर पढ़े :- कोल्डड्रिंक पीने के 10 नुकसान…

■ वाइट ब्रेड खाने के कारण

ब्रेकफास्ट में वाइट ब्रेड का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे न तो पेट ही भरता हैं और न ही यह स्वास्थ्य के लिए अच्छी हैं। वाइट ब्रेड की जगह पर आपको ब्राउन ब्रेड या होल ग्रेन ब्रेड को खाना चाहिए।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *