इन तरीको का इस्तेमाल करते हैं हैकर.

हैकर हैकिंग के लिए कौन से तरीके इस्तेमाल करते हैं?

स्मार्टफोन और पीसी का उपयोग कई कारणों से होता हैं. जिनमे मुख्य हैं, सोशल वेबसाइट का प्रयोग, इ-शॉपिंग और नेट सर्फिंग. मगर कई बार इंटरनेट इस्तेमाल करते हुए कुछ लोग धोखाधड़ी का शिकार हो जाते हैं. ऐसा इसलिए होता हैं, क्योंकि अंजाने में ऐसी एक ग़लती हो जाती हैं, जिससे हैकर को ऑनलाइन फ्रॉड करने का मौका मिल जाता हैं. एक नज़र ऐसे ही तरीक़ो पर डाले , ताकि ना होना पड़े ऑनलाइन धोखाधड़ी का शिकार :-

आकर्षित विज्ञापन :-

कई बार किसी वेबसाइट को खोलने पर ऐसे विज्ञापन दिखाई देती हैं , जो यूज़र्स को आकर्षित करती हैं. इस विज्ञापन में महँगी वस्तु सस्ते दाम पर बेची जा रही होती हैं. ऐसी विज्ञापन कई बार आपको ग़लत वस्तु या फोन और कंप्यूटर में मैलवेयर और वायरस इनस्टॉल कर देता हैं, और आपकी जानकारी को निजी नही रहने देता हैं. कई बार हैकर अडल्ट फोटोस आदि के रूप में विज्ञापन देते हैं. जिन्हे क्लिक करने पर आपके पीसी या स्मार्टफोन पर वायरस आ जाता हैं. ज़्यादातर हैकर पॉर्न और अडल्ट मेटीरियल का उपयोग या फ्री में पेड सॉफ्टवेर आदि का लालच दिखा कर आपके पीसी या स्मार्टफोन में मैलवेयर इनस्टॉल कर देते हैं. इन सभी चीज़ो पर आपको ध्यान देना चाहिए.

क्रेडिट कार्ड :-

अगर किसी व्यक्ति द्वारा यह कहते हुए क्रेडिट कार्ड की जानकारी माँगी जाए की मैं बैंक से बोल रहा हूँ. तो उसे अपने क्रेडिट कार्ड की जानकारी मत दे. और तुरंत बैंक जाकर इसकी शिकायत करे. क्योंकि कई बार कुछ लोग आपके क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेकर आपका बैंक ख़ाता सफ कर देते हैं.

थर्ड पार्टी एप्प:-

इंटरनेट इस्तेमाल करते समय थर्ड पार्टी एप्प से सावधान रहना चाहिए. कई बार स्मार्टफोन और टेबलेट्स पर थर्ड पार्टी एप्प के इनस्टॉल से प्राइवेट जानकारी हैकर तक पहुच जाती हैं और धोखाधड़ी होने के चान्स बन जाते हैं. इसलिए एप्प को इनस्टॉल करते वक़्त स्मार्टफोन के एप स्टोरेज का इस्तेमाल करे.

वर्चुयल कीबोर्ड : –

बैंक या फिर पेमेंट करने वाली अधिकतर साइट्स पर वर्चुयल कीबोर्ड का आप्शन होता हैं. जितना हो वर्चुयल कीबोर्ड का इस्तेमाल करे, क्योंकि यह तरीका सबसे सेफ हैं.








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *