इमली के घरेलु नुस्खे, उपाय और फायदे जानिए।

imli ke gharelu nuskhe aur fayde.

इमली का नाम सुनते ही मूंह में पानी आना आम बात हैं। आज हम आपके लिए लेकर आये हैं इमली के घरेलु नुस्खे, उपाय और फायदे। जी हाँ खट्टी इमली हमारे शरीर को ढेर सारा फायदा पहुचाती हैं। तो बिना देर किये जानते हैं इमली के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय आदि और इसके इस्तेमाल से बिमारियों के किये जाने वाले उपचार आदि। Imli ke gharelu nukshe aur fayde. Home remedies & Benefits of Tamarind in Hindi.

इमली का स्वाद खट्टा होता है, इसीलिए इसका इस्तेमाल पानी पूरी (गोल गप्पे/गुपचुप) का पानी तैयार करने के लिए किया जाता हैं। इसके अलावा खाने पीने वाली चीजों में खटाई या चटनी बनाने के लिए भी इमली का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता हैं। खानपान में इमली का महत्व लगभग हर व्यक्ति अच्छी तरह से जानता ही हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं की इमली औषधीय गुणों से भरी हुई हैं? इमली का वानस्पतिक नाम Tamarindus indica हैं। हर्बल जानकार इसका इस्तेमाल कई सारे देसी नुस्खो में करते हैं। चलिए जानते हैं इमली से जुड़े हुए कुछ अजब-गजब नुस्खे, जिनके बारे में शायद ही आप पहले से कभी जानते हो?

इमली के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय :-

■ बुखार ठीक करे

पके हुए इमली के फलों का रस तकरीबन 15 ग्राम मात्रा में बुखार से पीड़ित मरीज़ को पिलाना चाहिए। इससे बुखार उतरने लगता हैं। हर्बल जानकारों की माने तो इस रस के साथ अगर इलाइची और खजूर मिला कर दिया जाये तो ज्यादा फायदा होता हैं और बुखार तुरंत कम होने लगता हैं।

जरूर पढ़े :- बुखार कम करने के आसान घरेलु नुस्खे और उपाय। 

■ घाव जल्दी सूखता हैं

हर्बल जानकार इमली के पत्तों का रस घाव पर लगाते हैं। ऐसा माना जाता है की इमली के पत्तियों का रस घाव को जल्दी सूखा देते हैं। यानी की इमली के साथ साथ इमली के पत्ते के भी फायदे हैं।

■ सूजन में आराम दिलाये

इमली की पत्तियों का लाभ यह भी हैं की इन्हें पानी के साथ कुचल कर लेप बनाया जाता हैं। इस लेप को जोड़ के दर्द या सूजन वाले हिस्से पर लेपित करके सूती कपड़े से बाँधा जाता हैं। इससे दर्द और सूजन में तेज़ी के साथ आराम मिलने लगता हैं।

■ शुक्राणुओं की मात्रा बढ़ाए

आयुर्वेदिक वैध अजवाइन, इमली के बीज और गुड़ को बराबर मात्रा में मिला कर घी में अच्छी तरह से भून लेते हैं। फिर इसकी कुछ मात्रा नपुसंकता से ग्रसित मरीज़ को रोजाना खिलाया जाता हैं। जानकारों की माने तो इस मिश्रण के सेवन से मर्दाना ताकत बढ़ने लगती हैं और साथ ही वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या भी बढ़ने लगती हैं।

■ जलन शांत करे

इमली की पत्तियों को मिट्टी के बर्तन में भून कर इन्हें जला ले। फिर इन्हें रगड़कर चूर्ण बना ले। एक चम्मच तिल के तेल में तकरीबन 4 ग्राम जली हुई पत्तियों का चूर्ण मिला कर जले हुए अंग पर लगाने से जलन शांत हो जाती हैं और घाव भी जल्दी सूखने लगता हैं।

■ दस्त से छुटकारा दिलाये

इमली के बीजों का फायदा यह हैं की यह दस्त को रोकने में मददगार होते हैं। इसके लिए इमली के बीजों को भून कर पीस ले और इसकी 3 ग्राम मात्रा को गुनगुने पानी के साथ लेने से दस्त में काफी ज्यादा आराम मिलता हैं।

■ भूख बढ़ाए

पके हुए इमली के फलों को पानी में मसल कर रस तैयार करे। फिर इस इमली के जूस में हल्का सा काला नमक मिला कर पिए, इससे भूख खुल कर लगने लगती हैं। रोजाना इमली के इस रस को दिन में 2 बार पीने से भूख न लगने की समस्या से निजात मिल जाता हैं।

जरूर पढ़े :- भूख न लगने की समस्या हैं तो जरूर अपनाए यह घरेलु नुस्खे और उपाय।

■ गले की खराश दूर करे

इमली के पत्तों को कुचल कर रस निकाले और इस रस से कुल्ला करे। इससे गले की खराश दूर हो जाएगी। इसके अलावा पकी हुई इमली के फलों के रस भी कुल्ला करने से गले की खराश से आराम मिलता हैं।

■ पीलिया ठीक करे

इमली की पत्तियों और फूलों को पानी में उबाल कर काढ़ा बना ले। इस काढ़े को पीलिया के मरीज़ को पिलाये। ऐसा हर्बल एक्सपर्ट्स का मानना हैं की इस काढ़े का सेवन एक हफ्ते तक रोजाना दिन में 2 बार करने से पीलिया की बीमारी में काफी ज्यादा लाभ मिलता हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *