एंटीऑक्सीडेंट क्या होते हैं? इसके उपयोग और किस्मे बताये?

Antioxidants kya hote hain? yeh kitni tarah ke hote hain? isse hone wale fayde aur nuksaan kya hain.

आखिर एंटीऑक्सीडेंट क्या होते हैं? एंटीऑक्सीडेंट के बारे में पूरी जानकारी चाहिए और यह हमारे शरीर के लिए क्यों जरूरी होते हैं. Full Information about Antioxidants in Hindi.

आप अकसर सुनते हैं की एंटी-ऑक्सिडेंट्स हेल्थ के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं. कई फलो, आनाज़ो और बनावटी चीज़ो में यह केमिकल भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं. हालांकि, इसके फायदों पर सवाल उठते रहे हैं.

क्या हैं एंटीऑक्सीडेंट ?

एंटी-ऑक्सीडेंट विटामिन, मिनरल्स और कुछ अन्य केमिकल्स हैं, जो हमारे शरीर में ऑक्साइडेशन से होने वाले नुकसान को डीएक्टिवेट करने में मदद करते हैं. शरीर में पाचन और अन्य क्रियाओं के लिए ऑक्सीकरण का उपयोग होता हैं, जिससे ऐसे प्रोडक्ट्स बन जाते हैं, जो शरीर के लिए नुकसानदेह होने के साथ-साथ कई सारी बीमारियो की वजह भी होते हैं. एंटी-ऑक्सीडेंट का काम इन हानिकारक प्रोडक्ट्स की सफाई करना होता हैं. एंटी-ऑक्सिडेंट्स दिल की बीमारी, स्ट्रोक, कुछ प्रकार के कैंसर और बुढ़ापे संबंधी बीमारियों की रोकथाम में मददगार हैं. इनकी सप्लाइ भोजन से ही हो सकती हैं.

यह कैसे काम करते हैं?

ऑक्सीकरण (Oxidation) हमारे शरीर का नॉर्मल प्रोसेस हैं. इससे कुछ बैक्टीरिया पैदा होते हैं, जिन्हे फ्री रेडिकल्स कहा जाता हैं. कम संख्या में फ्री रेडिकल्स हमारे शरीर के लिए लाभदायक हैं और सेल्स के बनने में मददगार हैं. लेकिन अधिक तादाद में यह फ्री रेडिकल्स सेल्स को ख़त्म करने लग पड़ते हैं. यह काम करने की क्षमता पर नेगेटिव असर डालते हैं. एंटी-ऑक्सीडेंट विटामिन सी या बीटा केरोटीन इन फ्री रेडिकल्स से हमे बचाते हैं.

सप्लीमेंट से बचे

लंडन के किंग्स कॉलेज में डायबिटीज & न्यूट्रीशनल साइन्स डिविजन के Head Sounders के मुताबिक, ” सप्लीमेंट से एंटी-ऑक्सीडेंट को लेना हानिकारक हो सकता हैं, खास तौर पर स्मोकिंग करने वालो के लिए. ”

International Group Cochrane collaboration भी इस बात से सहमत हैं की एंटी-ऑक्सीडेंट सप्लीमेंट फायदे से अधिक नुकसान पहुचाते हैं. 90 के दशक में स्मोकिंग करने वाले लोगो पर एक स्टडी में पाया गया की जो लोग बीटा-केरोटीन अधिक मात्रा में लेते हैं, उनमे फेफड़े के कैंसर का ख़तरा बढ़ गया था. रिसर्चर्स ने विटामिन ई सप्लीमेंट का संबंध एक तरह के स्ट्रोक और प्रॉस्टेट कैंसर से भी पाया हैं. इसलिए आपको एंटी-ऑक्सिडेंट्स की पूर्ति के लिए फल, सब्ज़ियो और सी फुड आदि को खाना चाहिए. इनकी दवाई के द्वारा पूर्ति करना ठीक नही हैं. तो आइए जानते हैं एंटी-ऑक्सिडेंट्स के नेचुरल सोर्स.

एंटीऑक्सीडेंट के सोर्स :-

ज़िंक – 40 mg प्रतिदिन

ड्राइ फ्रूट्स, मीट, सी-फुड.

यह शरीर को बायो-केमिकल्स के रिएक्शन से बचाता हैं. यह वाइट ब्लड सेल्स की संख्या को बढ़ा कर इम्यूनिटी को भी स्ट्रॉंग करता हैं.

सेलेनियम – 20 mg प्रतिदिन

लहसुन, रेड मीट, अंडा, मछली, चिकन.

यह एक मिनरल हैं. यह शरीर में नेचुरल तरीके से बनाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट के प्रोडक्शन में मददगार हैं.

लाइकोपिन – 15 mg प्रतिदिन

टमाटर, तरबूज़, अंगूर, पपीता, संतरा.

यह स्किन के लिए बहुत ही ज़रूरी हैं. यह धूप के असर से स्किन को बचाता हैं. यह एक तरह से स्किन की ऑक्सिजन सोखने की क्षमता को बढ़ाता हैं.

कैरोटिनोइड – 2400 IU प्रतिदिन

आलू, टमाटर, सीताफल, गाजर, कद्दू, लौकी, आम, पालक.

कैरोटिनोइड एक आर्गेनिक पिगमेंट हैं. तेज़ धूप में यह हमारी आँखों और स्किन को सेफ्टी देता हैं. सेल्स की भी रक्षा करता हैं.

को-एन्ज़ाइम क्यू-10 -60 mg प्रतिदिन

पालक, ब्राकोली , फूल गोभी, मछली, चिकन ब्रेस्ट.

यह शरीर के सेल्स को मजबूत करने के साथ उन्हे एक्टिव करता हैं. इससे माइग्रेन और लो ब्लड प्रेशर की शिकायत नही होती हैं.

पोलिफेनोल्स – 800 mg से अधिक

प्याज़, हल्दी, सरसो, लसी, ऑलिव आयिल, कॉफी.

यह डेमेंटिया, पार्किसन और अल्जाइमर जैसी बीमारियो से बचाव करता हैं. इसे केटेचिन भी कहते हैं. यह 6 तरह के होते हैं.


Loading...


Related posts:
Garmiyo mein hydrate rakhne wale food.
पानी की कमी को दूर करते हैं यह फल और सब्जियां।
आम के पत्ते के फायदे.
हाथी के बारे में यह रोचक बातें क्या आप जानते हैं?
अमरुद की पत्तियों के घरेलु नुस्खे और फायदे.
जंक फ़ूड खाने से हमारी सेहत को कैसे नुकसान पहुचता हैं?
ग्रीन टी के 20 उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय.
जानिए 8 ऐसे भ्रम के बारे में जिन्हें हम सच मानते हैं।
सिंघाड़ा खाने के फायदे - Benefits of Water chestnut in Hindi.
केमिकल वाली सब्जियों से बचने के तरीके।
शिशु को किस उम्र से ठोस आहार खिलाना शुरू कर देना चाहिए और क्या खिलाना चाहिए?
तिल के तेल के फायदे, उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *