ओमेगा-3 फैटी एसिड के फायदे.

Omega-3 Fatty Acid Benefits in Hindi.

ओमेगा-3 शरीर के लिए क्यूँ ज़रूरी होता हैं? ओमेगा-3 फैटी एसिड के क्या फायदे हैं? वैसे तो Omega-3 Fatty Acid बॉडी की कई गतिविधियों के लिए बहुत ही ज़रूरी होता हैं। लेकिन महिलाओं की लाइफ में आने वाली कई स्टेज में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं। आइए जानते हैं ओमेगा-3 फैटी एसिड के फायदे के बारे में। Benefits of Omega-3 Fatty Acid in Hindi।

हमारी सेहत को बैलेंस रखने में ओमेगा-3 फैटी एसिड का बहुत ही महत्वपूर्ण रोल हैं। दरअसल, ओमेगा-3 फैटी एसिड Essential Polyunsaturated फैटी एसिड कहलाते हैं, क्योंकि इनका प्रोडक्शन बॉडी के ज़रिए नही किया जाता। हमे इन्हे सप्लीमेंट या भोजन के ज़रिए ही लेना पड़ता हैं। एसेंशियल फैटी एसिड दिल, मसल्स, ब्रेन और इम्यून सिस्टम को सही ढंग से काम करने में मदद करते हैं।

यह 3 तरह के होते हैं- DHA, EPA और ALA। इनमे से ALA सबसे ज़रूरी ओमेगा-3 फैटी एसिड हैं, जो EPA और फिर DHA में परिवर्तित हो जाता हैं। ALA शाकाहारी पर आधारित ओमेगा-3 फैटी एसिड हैं, जो शाकाहारियों के लिए ज़रूरी हैं। दूसरे, DHA और EPA सबसे ज़्यादा मछली में पाए जाते हैं, जबकि मछली में ALA नही होता हैं।

ओमेगा-3 फैटी एसिड के फायदे :-

1) ऑस्टियोपोरोसिस में फायदेमंद :- आम तौर पर कैल्शियम की कमी की वजह से महिलाओं को इस प्राब्लम से जूझना पड़ता हैं। ALA आधारित ओमेगा-3 फैटी एसिड की सही क्वांटिटी ऑस्टियोपोरोसिस से बचाने के साथ ही हड्डियों के बनाने में भी मदद करती हैं और पीरियड्स के दौरान होने वाले हड्डियों के दर्द से भी बचाती हैं।

2) कैंसर से बचाए :- ओमेगा-3 फैटी एसिड की सही खुराक ट्यूमर होने के प्रोसेस को भी स्लो कर देता हैं। ख़ासतौर पर ब्रेस्ट और इंटेस्टिन के कैंसर में। ALA बेस्ड ओमेगा-3 में नेचुरल एंटी इनफ्लमेटरी एजेंट हैं, जो कैंसर होने के प्रोसेस को 53% कम कर देता हैं।

3) गर्भावस्था के समय :- बच्चा ना हो पाने या पहले होने, जैसी दिक्कतो से ओमेगा-3 फैटी एसिड डाइट बेहद काम आती हैं। यही नही इससे conceive possibility भी बेहद बढ़ जाती हैं। प्रेगनेंसी के दौरान माँ की डाइट में ली गयी चीज़े बच्चे की बॉडी, ब्रेन डेवालेपमेंट और इस दौरान आने वाली प्रॉब्लम्स से बचाता हैं। गर्भवती महिला को foetal neurological system के सही विकास के लिए ओमेगा-3 एसिड लेने की सलाह दी जाती हैं। आमतौर पर ओमेगा-3 फैटी एसिड मछली में पाया जाता हैं, जो बच्चे के कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम, ब्रेन और आँखो के लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं।

4) दूध बढ़ाने में :- बच्चे के जन्म के बाद दूध की मात्रा बढ़ाने के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड वाली डाइट खूब काम आती हैं। रिसर्च से यह पता चला हैं की प्रेग्नेंट महिलाओं को EPA और DHA को अपनी डाइट में शामिल करने से बच्चे के visual & cognitive विकास पर पॉज़िटिव असर पड़ता हैं। ओमेगा-3 फैटी एसिड की सही मात्रा बच्चे में एलर्जी के खतरे को कम कर सकती हैं। इसके लिए ज़रूरी हैं मछली, अखरोट, पालक, मेक्रेल फिश (छोटी समुंदरी मछली), लौकी के बीज और सोयाबीन को अपनी डाइट में शामिल करे।

5) पीरियड्स के दर्द में :- डॉक्टर्स का कहना हैं की महिलाओं में पीरियड्स और मेनोपॉज़ के दौरान होने वाले दर्द की एक मुख्य वजह बॉडी में ओमेगा-3 फैटी एसिड की मात्रा का कम होना हैं। इस दौरान होने वाली हार्ट की प्राब्लम, जोड़ो में दर्द, आँखो में सूखापन जैसी दिक्कतो के लिए इसकी सही मात्रा बॉडी में होना बहुत ही ज़रूरी हैं।

6) बालो को बनाये मजबूत :- अगर आप सोचते हैं की बालो को हेल्दी रखने के लिए शैम्पू और कंडीशनर ही काफ़ी हैं, तो आप ग़लत हैं। दरअसल बालो को स्ट्रोंग बनाने के लिए भी ओमेगा-3 फैटी एसिड बहुत ही ज़रूरी होता हैं। ओमेगा-3 में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (ALA), Eicosapentaenoic acid (EPA) और Docosahexaenoic acid (DHA) पाया जाता हैं। यह 3 जादुई एसिड बालो की रूखेपन को ख़त्म करने, गिरने से रोकने, शाइनिंग देने और ब्लड सर्क्युलेशन को ठीक रखने का काम करते हैं।

7) हार्ट प्राब्लम :- ALA बेस्ड ओमेगा-3 फैटी एसिड हार्ट को हेल्दी रखने, हार्ट रेट को कम करने और हार्ट अटैक पड़ने के ख़तरे को काफ़ी कम कर देती हैं। ओमेगा-3 फैटी एसिड हार्ट के लिए फायदेमंद हैं। आयिल वाली मछलियाँ जैसे साल्मन, मक्रेल और सारडीन्स में 2 तरह के ओमेगा-3 फैटी एसिड DHA और EPA होता हैं, जो ब्लड फैट को कम करता हैं और हार्ट बीट को कंट्रोल में रखता हैं।

ओमेगा-3 फैटी एसिड किन-किन चीज़ो से हमे मिलता हैं ? ओमेगा-3 फैटी एसिड के लिए हम क्या खाए और इसकी डाइट क्या हैं ?

– ठंडे पानी की मछली जैसे साल्मन, ट्यूना आदि।

– केनोला आयिल, रेपसीड, राई, सरसो, सोयाबीन आयल, सूरजमुखी, पटसन, अलसी के बीज और तेल, कद्दू के बीज और इसके बीजो का तेल।

– पेरिल्ला सीड आयिल, अखरोट और उसका तेल, सूरजमुखी का तेल, मक्की का तेल।

– अंडे, क्रिल और अलगी।

– अलसी के बीज।

– सोया, अजमोद, पत्तेदार सब्ज़ी।




Loading...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

तेज पत्ते के फायदे.
स्तनपान करवाना माँ के लिए भी होता हैं अच्छा.
क्या आप गर्म पानी पीने के फायदे जानते हैं?
काली मिर्च खाने के फायदे और घरेलु नुस्खे.
आँखों से चश्मा उतारने के 22 आसान घरेलु नुस्खे और उपाय।
संतरे का जूस क्यों पीना चाहिए और इसे बनाने के तरीका।
रात को देर से भोजन करने पर सेहत को होते हैं यह नुकसान।
मन को शांत रखना चाहते हैं तो यह चीज़े जरूर खाए।
लगातार नींद की गोलियां खाने से सेहत हो होते हैं यह नुकसान।

One thought on “ओमेगा-3 फैटी एसिड के फायदे.

  1. Pingback: डिप्रेशन दूर करने में मदद करते हैं यह फूड। - Acchi Tips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *