करी पत्ता (मीठी नीम) के फायदे.

करी पत्ते के फायदे. Benefits of Curry Leaves in Hindi.

मीठा नीम या करी पत्ते का इस्तेमाल भारतीय रसोई में ज़्यादातर तड़का लगाने के लिए किया जाता हैं. साउथ इंडियन खाने की हर डिश में करी पत्ते का इस्तेमाल किया जाता हैं, क्योंकि यह ना केवल खाने का स्वाद बढ़ाता हैं, बल्कि सेहत के लिए भी कई प्रकार से फायदेमंद होता हैं. करी पत्ते में 66% नमी, 6.1 % प्रोटीन, 1% फैट, 16% कारबोहाइड्रेट, 6.4% मिनरल्स पाए जाते हैं.

आइए जानते हैं करी पत्ता के फायदे (करी पत्ता के फायदे)

नाक और सीने के कफ़ को कम करता हैं.

सूखे कफ़ और साइनस के चलते होने वाले कफ़ की समस्या बहुत ही गंभीर हैं , जिससे साँस लेने में परेशानी होती हैं. करी पत्ते में विटामिन A और C के साथ एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं, जो कफ़ की समस्या को दूर करते हैं. इसके लिए 1 चम्मच करी पाउडर को 1 चम्मच शहद के साथ मिला कर पेस्ट बना ले और दिन में 2 बार इसका सेवन करे.

अपच से राहत

खराब खाना, मसालेदार खाना और अन्य कारणों के कारण होने वाली अपच की समस्या से छुटकारा दिलाने में करी पत्ता बहुत ही फायदेमंद होता हैं. इसके लिए घी गर्म करे, उसमे थोड़ा सा जीरा, करी पत्ता, डेढ़ चम्मच सोंठ और थोड़ा सा पानी डालकर उबाले. फिर उसे ठंडा होने के लिए रख दे. ठंडा होने के बाद इसे पीने से अपच की समस्या से तुरंत राहत मिलती हैं. स्वाद के लिए इसे शहद के साथ भी लिया जा सकता हैं.

मोटापा कम करे

आपको जानकार हैरानी होगी की इन छोटी पत्तियो से भी वजन कम किया जा सकता हैं. जी हा, करी पत्ता बहुत सारी समस्याओं के इलाज में उपयोगी हैं. जल्द असर के लिए इसका 1 महीने तक लगातार सेवन करना फायदेमंद होता हैं.

डायबिटीज के लिए

रिसर्च में यह पाया गया हैं की करी पत्ता ब्लड में ग्लूकोस की मात्रा को कम नही करता , बल्कि काफ़ी दिनों तक उसे कंट्रोल भी करता हैं. शरीर में इंसुलिन की सक्रियता को प्रभावित करने के साथ ब्लड शुगर लेवल को कम करता हैं. रोजाना खाली पेट 3 महीने तक 6-8 करी पत्तियो का सेवन डायबिटीज रोगियो के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं. साथ ही यह डायबिटीज के चलते वजन बढ़ने की समस्या को काफ़ी हद तक कम कर देता हैं.

एनीमिया प्राब्लम दूर करता हैं.

करी पत्ते में आयरन और फॉलिक एसिड की भरपूर मात्रा पाई जाती हैं. शरीर में फॉलिक एसिड के कमी से आयरन अच्छे से अब्ज़र्व नही हो पाता हैं. इस कारण एनीमिया की प्राब्लम हो जाती हैं. प्रति 100 ग्राम करी पत्ते में .930 ml आयरन होता हैं. और इसके साथ ही कैल्शियम और शरीर के लिए ज़रूरी विटमिन्स भी उचित मात्रा में पाए जाते हैं. इन्हे खाकर एनीमिया की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता हैं. दही में मेथी दाने और करी पत्ते को डेढ़ घंटे तक भिगो कर रख दे. रोजाना सुबह इसे खा कर ब्लड की कमी को दूर किया जा सकता हैं. खजूर के साथ इसे खाना लाभकारी होता हैं.

दिल की बीमारियो से बचाता हैं.

रिसर्च के अनुसार, करी पत्ते में ब्लड कोलेस्टरॉल को कम करने वाले गुण होते हैं, जो दिल की बीमारियो से बचाते हैं. एंटी-ऑक्सिडेंट्स की भरपूर मात्र लिए करी पत्ते कोलेस्टरॉल को ऑक्सीडाइज होने से रोकते हैं, क्योंकि ऑक्सीडाइज कोलेस्टरॉल ही ख़राब कोलेस्टरॉल बनता हैं, जो कई प्रकार की दिल की बीमारियो का कारण होता हैं. खाने में करी पत्ते के अलावा इसे कच्चा चबाना भी बहुत फायदेमंद होता हैं.

लिवर सुरक्षित रखता हैं

शराब और ज़्यादा मछली खाना लिवर के लिए बहुत ही नुक़सानदायक होता हैं. करी पत्ता लिवर को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाता हैं, जो मछली और शराब में पाए जाने वाले हानिकारक तत्व से लिवर को बचाता हैं. इसके लिए गरम घी में करी पत्ते का रस मिला कर उसमे चीनी और काली मिर्च मिलाए. फिर इसे उबाल ले और ठंडा करके पिए.

बालो को सफेद होने से बचाता हैं.

विटामिन बी1, बी3 और बी9 और सी के साथ ही करी पत्ते में आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस की उचित मात्रा होती हैं. यह असमय बालो के सफेद होने की समस्या को दूर करता हैं. रात में बादाम भिगो कर रखे. इन्हे छीलकर 10-15 करी पत्ते और पानी के साथ पीस ले. इस पेस्ट को स्कैल्प पर लगा कर हल्का मसाज करे. थोड़ी देर बाद शैम्पू से धो ले. हफ्ते में सिर्फ़ एक बार ऐसा करके तुरंत फ़र्क देखा जा सकता हैं.

पीरियड्स में होने वाले दर्द से आराम दिलाता हैं.

मासिक धर्म में होने वाले दर्द से निजात पाने के लिए करी पत्ते का सेवन काफ़ी असरदार होता हैं. इसके लिए मीठे नीम या करी पत्ते को सूखा कर इसका पाउडर बना ले और सुबह-शाम गुनगुने पानी के साथ इसका सेवन करे. इससे दर्द में काफ़ी आराम मिलता हैं. वैसे करी पत्ते को दाल, पुलाव आदि के साथ खाना भी इसमे बेहतर इलाज हैं.

डायरिया रोकता हैं.

करी पत्ते में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इनफ्लमेटरी गुण होते हैं. यह पेट के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं. यह डायरिया की मुख्य वजह पित्त को बनने से रोकता हैं. इस समस्या से परेशान रोगी को करी पत्ते को पीसकर उसे छाछ के साथ मिला कर पीना चाहिए. ज़्यादा परेशानी होने पर दिन में 2 से 3 बार पीने से जल्द आराम मिलता हैं.




Loading...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

तरबूज खाने के 23 बेहतरीन फायदे, जरूर पढ़े यह लेख...
Garmiyo mein hydrate rakhne wale food.
बादाम खाने के फायदे जानिए.
पपीते के गुण और इसे खाने के फायदे.
गर्म दूध के साथ गुड़ खाने के फायदे और लाभ जरूर पढ़े।
बर्फ वाला पानी पीने के नुकसान क्या हैं और इसे क्यों नहीं पीना चाहिए?
फल फ्रूट को कब खाना चाहिए? इन्हें खाने का सही समय कौन सा हैं?
एल्युमीनियम के बर्तन में खाना पकाने से सेहत को होने वाले नुकसान।
जानिए पेशाब का रंग क्या कहता हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *