करेला खाने से होते हैं ये कमाल के फायदे।

करेला खाने से होते हैं यह कमाल के फायदे

करेला कड़वे स्वाद के कारण बदनाम हैं, लेकिन सेहत के लिहाज़ से सबसे बेस्ट आहार हैं। करेले में दूसरी सब्जियों के मुकाबले ज्यादा औषधीय गुण पाए जाते हैं। करेला खाने के फायदे जानने के लिए आपको यह लेख जरूर पूरा पढ़ना चाहिए और करेले के लाभ के बारे में जानना चाहिए।

करेले की तासीर खुश्क होती हैं। यह आसानी से हजम हो जाने वाली सब्जियों में से एक हैं। करेले में फॉस्फोरस ज्यादा मात्रा में होता है जो कफ की समस्या से छुटकारा दिलाता हैं। करेले में कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और जरूरी विटामिन्स भी पाए जाते हैं। आइये जानते हैं कड़वे करेले के मीठे गुण के बारे में, करेला के फायदे, उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।

करेला खाने के फायदे (लाभ) यह हैं :-

■ करेले के रस के साथ नींबू का रस मिक्स करके पानी में मिला कर पीने से वजन कम करने में मदद मिलती हैं।
■ लकवा ग्रस्त लोगो के करेला बहुत ही ज्यादा फायदेमंद सब्जी हैं। इसलिए लकवे के मरीजों को कच्चा करेला जरूर खाना चाहिए।

■ करेला में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो खून को साफ करते हैं। इसके अलावा करेला खाने से हीमोग्लोबिन लेवल भी बढ़ने लगता हैं।

■ करेला का सेवन नियमित रूप से करते रहने से स्वास्थ्य को बहुत ज्यादा लाभ होता हैं। इससे खून के दोषों के छुटकारा मिलता हैं। करेले को आप कई तरह से खा सकते हैं। अगर आप करेले का जूस निकाल कर पीते हैं तो आपके शरीर की कई सारी बीमारियाँ खत्म होने लगती हैं।

■ करेला पीलिया के रोगियों के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद माना गया हैं। पीलिया की बीमारी होने पर करेले को पानी में पीस कर खाने से फायदा होता हैं।

■ दस्त, उल्टी और हैजा होने पर करेले के जूस में थोड़ा सा पानी और काला नमक मिला कर पीना चाहिए, इससे इन बिमारियों में काफी ज्यादा राहत मिलती हैं।

■ डायबिटीज के उपचार में करेला रामबाण औषिधि की तरह काम करता हैं। करेला खाने से या फिर करेले का जूस पीने से ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिलती हैं। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को करेले का जूस पीने की सलाह दी जाती हैं।

■ कफ की समस्या होने पर करेला जरूर खाना चाहिए। दरअसल इसमें फॉस्फोरस होता हैं जो कफ को दूर करता हैं।

■ दमा के मरीजों को बिना मसाले वाली करेले की सब्जी खानी चाहिए। इससे दमा की बीमारी में बहुत ज्यादा फायदा होता हैं। दमा के रोगियों को बिना मसाले वाली छौंकी हुई करेले की सब्जी खाने की सलाह दी जाती हैं।

■ बवासीर की समस्या होने पर एक चम्मच करेला जूस में आधा चम्मच शक्कर मिला कर एक महीने तक लेना चाहिए। इससे बवासीर ख़त्म हो जाती हैं।

■ करेला खाने से पाचन शक्ति बढ़ने लगती हैं, साथ ही भूख भी खुल कर लगने लगती हैं। करेला ठंडा होता है, इसलिए यह गर्मी की वजह से होने वाली बिमारियों के इलाज में मददगार हैं।

■ गठिया की समस्या होने पर या हाथ-पैर में जलन होने पर करेले के जूस से मालिश करनी चाहिए। इससे गठिया की बीमारी में काफी ज्यादा आराम मिलता हैं।

■ लीवर की बिमारियों को दूर करने के लिए करेला रामबाण औषिधि की तरह काम करता हैं। जलोदर रोग में आधा कप पानी में 2 चम्मच करेला जूस मिला कर रोजाना दिन में 3-4 बार तब तक पीते रहना चाहिए, जब तक यह रोग पुरी तरह से ठीक नहीं हो जाता हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *