कोलेस्ट्रॉल के लिए सबसे अच्छे तेल कौन से हैं?

कोलेस्ट्रॉल के लिए सबसे अच्छे तेल कौन से हैं?

आखिर कोलेस्ट्रॉल होता क्या हैं?

कोलेस्ट्रॉल खून में फैट के साथ पाया जाने वाला एक नर्म पदार्थ होता हैं, जो शरीर की तमाम गतिविधियों के लिए जरूरी माना जाता हैं। कोलेस्ट्रॉल के तीन रूप हैं Low-density lipoprotein, High Density Lipoprotein, Very Low-density lipoprotein. किसी भी वेजिटेबल फैट में यूँ तो कोलेस्ट्रॉल नहीं होता हैं, लेकिन यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल का निर्माण करता ही हैं। देसी घी, अंडे, मक्खन, चिकन, शेलफिश और डेरी प्रोडक्ट्स में कोलेस्ट्रॉल मौजूद होता हैं।

फैट 2 तरह के होते हैं Bad Fat और Good Fat

Bad Fat

सैचुरेटेड फैट :- यह टोटल कोलेस्ट्रॉल और LDL (ख़राब कोलेस्ट्रॉल) के लेवल को बढ़ाता हैं।

ट्रांस फैट :- यह भी LDL (Bad Cholesterol) के लेवल को बढ़ाने का काम करता हैं और शरीर से HDL यानि की Good Cholesterol के लेवल को कम कर देता हैं।

Good Fat

• मोनोअनसैचुरेटेड फैट :- यह टोटल कोलेस्ट्रॉल और LDL (ख़राब कोलेस्ट्रॉल) के लेवल को कम करता हैं और शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ाता हैं।

• पालीअनसैचुरेटेड फैट :- यह टोटल कोलेस्ट्रॉल और खराब कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने में मदद करता हैं।

कोलेस्ट्रॉल और सेहत के नजरिये से कौन सा तेल अच्छा होता हैं?

ज्यादातर लोग यही मानते हैं की ऑयली फ़ूड और सैचुरेटेड फैट नहीं खाना चाहिए। खाना पकाने के लिए पुरे देश में विभिन्न प्रकार के तेल का इस्तेमाल किया जाता हैं। मध्य और पक्ष्मी भारत में मूंगफली का तेल ज्यादा प्रयोग किया जाता हैं। तो दूसरी ओर दक्षिण भारत में खाना पकाने के लिए नारियल का तेल बेस्ट माना जाता हैं तो पंजाब हरयाणा में सूरजमुखी के तेल और देसी घी की डिमांड ज्यादा हैं। देखा जाये तो स्वास्थ्य के नजरिये से प्रत्येक तेल का अपना अलग ही महत्त्व हैं।

क्या आपको इस बात की जानकारी हैं की सोयाबीन का तेल तलने के लिए अच्छा नहीं हैं और नारियल के तेल में कोलेस्ट्रॉल बिलकुल भी नहीं पाया जाता हैं। आइये जानते हैं कुकिंग ऑयल्स के बारे में जो कोलेस्ट्रॉल के लिए भी सही रहते हैं।

कोलेस्ट्रॉल के लिए सही तेल :-

1. सरसों का तेल

सरसों के तेल का इस्तेमाल पुरे भारत में अब ज्यादा से ज्यादा किया जाने लगा हैं। और हो भी क्यों न, क्योंकि सरसों के तेल में मोनोअनसैचुरेटेड फैट की मात्रा ज्यादा पायी जाती हैं जो की गुड फैट माना जाता हैं। इसमें अच्छी मात्रा में पालीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड भी होता हैं जो स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत ही लाभकारी तत्व हैं। खाना पकाने के लिए आपको हमेशा सरसों के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि यह सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद तेल हैं। इसमें खाना पकाने से शरीर में टोटल कोलेस्ट्रॉल और खराब कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम हो जाता हैं। यह तलने के लिए भी सही तेल हैं। लेकिन इसमें Erucic acid भी पाया जाता हैं जो आपको नुकसान पहुचा सकता हैं, इसलिए आपको अन्य तेलों का भी इस्तेमाल करना चाहिए ।

2. मूंगफली का तेल

मूंगफली का तेल बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जाता हैं। इसमें मोनोअनसैचुरेटेड फैट होता हैं। यह स्वास्थ के लिए बहुत ही बढ़िया हैं। यह LDL के लेवल को कम करता हैं, लेकिन गुड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ाता नहीं हैं, बल्कि उसे नार्मल बनाये रखता हैं। मूंगफली का तेल तलने के लिए भी बढ़िया तेल माना जाता हैं।

3. राइस ब्रैन ऑयल

राइस ब्रैन ऑयल का इस्तेमाल जापान और कोरिया में सबसे ज्यादा किया जाता हैं। लेकिन धीरे-धीरे अब भारत में भी इसका इस्तेमाल होने लगा हैं। इसमें मोनोअनसैचुरेटेड फैट होता हैं जो सेहत के लिए बहुत ही अच्छा होता हैं। इसमें Oryzanol पाया जाता हैं जो ख़राब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार होता हैं। इसके अलावा धान की भूसी (छिलके) से निकला यह तेल विटामिन ई और Squalene से भी भरपूर होता हैं जो स्किन को लम्बे समय तक जवां बनाये रखता हैं। यह तेल तलने के भी अच्छा होता हैं और यह मूंगफली के तेल के मुकाबले 12 से 20 प्रतिशत तक कम सोखा जाता हैं।

4. सफोला ऑयल

करडी ऑयल (Saffola ऑयल) में पालीअनसैचुरेटेड फैट होते हैं जिस कारण यह तेल सेहत के लिए अच्छा हैं। लेकिन तलने के लिए लिहाज़ से यह तेल अच्छा नहीं होता हैं।

5. ओलिव ऑयल

जैतून का तेल पहले स्पेन, अर्जेंटीना आदि देशों में इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन अपने बेहतरीन स्वाद के चलते आज दुनियाभर में ओलिव ऑयल (जैतून के तेल) ने अपनी एक खास जगह बना ली हैं। इसमें Monounsaturated Fat पाया जाता हैं। यह तेल कई किस्म का होता हैं। जैसे की Extra Virgin ( Olive को पहली बार compress करके निकला गया), Virgin (दूसरी बार press करके निकाला गया) , Pure ( Process किया) और Extra Light (कम flavor वाला processed oil). स्वास्थ के लिहाज़ से यह बहुत ही हेल्दी तेल माना जाता हैं। यह शरीर में टोटल कोलेस्ट्रॉल और ख़राब कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता हैं। यह शरीर में फैट डिस्ट्रीब्यूशन पर भी अपना प्रभाव रखता हैं। पेट पर चर्बी को जमा नहीं होने देता हैं और यह तेल तलने के लिए सर्वश्रेष्ठ तेल भी माना गया हैं।

6. सोयाबीन का तेल

सोयाबीन का तेल मध्य भारत में सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता हैं। इसमें Polyunsaturated Fat पाया जाता है। खास तौर पर इसमें अल्फा लिनोलिक एसिड होता हैं जो हेल्थ के लिए अच्छा माना जाता हैं। यह अच्छे और ख़राब कोलेस्ट्रॉल के बीच में संतुलन बनाये रखता हैं। लेकिन यह तेल तलने के लिए सही तेल नहीं हैं क्योंकि पालीअनसैचुरेटेड फैट गर्म होने के बाद टोक्सिन्स में बदल जाते हैं।

7. सूरजमुखी का तेल

सूरजमुखी के तेल का ज्यादा इस्तेमाल पंजाब, हरयाणा और जम्मू-कश्मीर आदि प्रान्तों में ज्यादा किया जाता हैं। इसमें पालीअनसैचुरेटेड फैट ज्यादा मात्रा में होता हैं और लिनोलिक एसिड खास करके पाया जाता हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से देखा जाये तो यह एक हेल्दी ऑयल हैं। परन्तु जैसा की पहले भी बताया गया की पालीअनसैचुरेटेड फैट गर्म होने के बाद toxins में बदल जाते हैं, इसलिए यह तलने के लिए अच्छा तेल नहीं हैं। इसलिए यह सलाह दी जाती हैं की कभी-कभार पाम ऑयल या palmolive oil का इस्तेमाल करना भी सही रहता हैं।

8. Palmolive ऑयल

Palmolive oil यानि की ताड़ के तेल में मोनोअनसैचुरेटेड फैट होता हैं। लेकिन इसमें लिनोलिक एसिड कम मात्रा में पाया जाता हैं। इसे भी दुसरे तेलों के मिश्रण के साथ इस्तेमाल किया जा सकता हैं।

9. नारियल तेल

नारियल के तेल में सैचुरेटेड फैट होता हैं, लेकिन वनस्पति तेल होने के कारण इसमें कोलेस्ट्रॉल नहीं पाया जाता हैं। सेहत के लिए देखा जाये तो यह ठीक तेल हैं, लेकीन तलने के लिए सही तेल नहीं माना जाता हैं। इसलिए सलाह यह दी जाती हैं की नारियल के तेल को दुसरे तेलों के मिश्रण के साथ इस्तेमाल करना चाहिए।

Related Post That You may also like :- 

सरसों के तेल के 20 बेमिसाल फायदे। 

ओलिव ऑयल (जैतून के तेल) के फायदे। 

नारियल के तेल के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय। 

नीम के तेल के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय। 

राइस ब्रैन ऑयल (चावल की भूसी) के तेल के फायदे। 








इन्हें भी जरूर पढ़े...