क्या बच्चे को प्लास्टिक की बोतल में दूध पिलाना चाहिए?

क्या बच्चे को प्लास्टिक की बोतल में दूध पिलाना चाहिए?

पहले के ज़माने में लोग अपने बच्चे को सिर्फ स्टील या कांच के बोतल में ही दूध पिलाया करते थे। लेकिन आज कल बाज़ार में कई सारे विकल्प आ गये हैं। ऐसे में लोग सोचते हैं की क्या प्लास्टिक की बोतल में बच्चों को दूध पिलाना सही रहेगा या नहीं। लेकिन दोस्तों बच्चो को प्लास्टिक की बोतल में दूध पिलाना नहीं चाहिए? आइये जानते हैं की छोटे बच्चे को प्लास्टिक में पिलाने से क्या नुकसान होते हैं।

क्योंकि प्लास्टिक की बोतल केमिकल के द्वारा बनायी जाती हैं। जब प्लास्टिक की बोतल में गर्म गर्म दूध डालते हैं तो यह हानिकारक केमिकल्स दूध में मिल जाते हैं और आपके बच्चे को नुकसान पहुचाते हैं। वैसे तो कांच की बोतल के भी नुकसान होते हैं, यह भारी होती हैं और जब यह जमीन पर गिर जाये तो आसानी से टूट भी जाती हैं।

आइये जानते हैं कांच के बोतल का इस्तेमाल करने के फायदे और नुकसान :-

बच्चे के लिए प्लास्टिक की बोतल अच्छी रहेगी या कांच की बोतल?

इसका उत्तर यह हैं की प्लास्टिक की बोतल में bisphenols नाम का एक केमिकल होता हैं। इस केमिकल की वजह से दिमाग कमजोर होने लगता हैं और इससे मनुष्य की प्रजनन प्रणाली भी कमजोर होने लगती हैं। क्योंकि जब भी आप कोई गर्म चीज़ या पदार्थ प्लास्टिक की बोतल में डालते हैं तो यह केमिकल उस खाने या पीने वाली चीज़ में घुल मिल जाता हैं और आपके शरीर में दाखिल हो जाता हैं।

कांच की बोतल में दूध पिलाने के फायदे

कांच की बोतल में किसी भी प्रकार का हानिकारक केमिकल नहीं होता हैं। इसे आसानी के साथ recycle भी किया जा सकता हैं। कांच की बोतल में गर्म चीज़ डालने से यह किसी भी तरह का केमिकल नहीं छोड़ता हैं। इसे आप अच्छी तरह से साफ़ भी कर सकते हैं। और तो और इसमें दूध लम्बे समय तक गर्म रहता हैं।

कांच की बोतल के नुकसान

कांच की बोतल भारी होती हैं और नीचे गिरने पर आसानी से टूट जाती हैं। यह प्लास्टिक की बोतल के मुकाबले ज्यादा महंगी होती हैं। इसका ख्याल ज्यादा रखना पड़ता हैं।

तो दोस्तों आपने जाना की छोटे बच्चों को प्लास्टिक की बोतल में दूध नहीं पिलाना चाहिए, जबकि आप बच्चों को दूध पिलाने के लिए कांच की बोतल का इस्तेमाल बिना किसी परेशानी के कर सकते हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *