गन्ने के जूस से सम्बंधित सावधानियां जरूर पढ़े।

By | August 5, 2017

गन्ने के रस से सम्बन्धित सावधानी।

गन्ने का रस पीने में मीठा और टेस्टी होता हैं। यह सेहत के लिए भी बहुत ही ज्यादा लाभकारी माना जाता हैं। गर्मियों के दिनों में आपको रास्तों पर गन्ने के जूस बेचने वाले दुकानदार आसानी से मिल जाते हैं। आप गर्मी से राहत पाने के लिए गन्ने का रस पीते हैं। इसके सेवन से आप डिहाइड्रेशन से बचे रहते हैं। लेकिन कई बार गन्ने के रस आपको नुकसान भी पहुंचा सकता हैं। अगर आप गन्ने के जूस से सम्बन्धी सावधानियों को अनदेखा करते हैं तो आपको गन्ने का जूस स्वास्थ्य लाभ नहीं देगा, बल्कि हानि ही पहुँचायेगा।

आइये जानते हैं गन्ने का जूस से सम्बंधित कुछ जरूरी सावधानियां :-

खराब हुए गन्ने से निकाला हुआ जूस न पिए

जब भी गन्ने का जूस पिए तो यह जरूर देख ले की गन्ना फ्रेश और बढ़िया हो। कभी भी सड़े हुए गन्ने से निकाला हुआ रस न पिए। क्योंकि जब कोई दुकानदार खराब गन्ने से रस निकाल कर दे देता हैं, तो इसके सेवन से आपको पेट की बीमारियाँ हो सकती हैं। इसके अलावा अगर आप कीड़े लगे हुए गन्ने का जूस पी लेंगे तो आपको उल्टियाँ भी आ सकती हैं। इसलिए गन्ने का जूस पीने से पहले यह सुनश्चित करले की गन्ना एकदम स्वस्थ्य हो।

ज्यादा से ज्यादा 2 गिलास ही जूस पिए

गन्ने का जूस पीने में इतना ज्यादा टेस्टी लगता हैं, की पीने वालों का मन नहीं भरता हैं। कई व्यक्ति ऐसे भी होते हैं जो दिन भर में कई गिलास गन्ने का जूस पी जाते हैं और यह सोचते हैं की इससे हमें कोई नुकसान नहीं होगा। लेकिन डॉक्टर्स की माने तो दिन भर में सिर्फ 2 गिलास ही गन्ने का रस पीना चाहिए। हाँ अगर आपको पीलिया की बीमारी हैं तो आप ज्यादा मात्रा में गन्ने का रस पी सकते हैं। लेकिन अगर आप स्वस्थ्य हैं, तो ज्यादा मात्रा में गन्ने का जूस पीने से आपको नुकसान ही होगा।

गन्ने के जूस में पानी मिलाना

गन्ने का रस पीते समय यह ख़याल रखे की गन्ने के जूस में कोई भी चीज़ की मिलावट न हो। वैसे तो इस जूस में किसी और फल का जूस तो नहीं मिलाया जाता हैं। लेकिन कई बार दुकानदार गन्ने के जूस में पानी मिला देते हैं, इससे आपको कोई नुकसान तो नहीं होता हैं। लेकिन इससे गन्ने के रस से होने वाले लाभ में कमी आती हैं और यह पीने में भी बेस्वाद लगता हैं।

Loading...

इन्फेक्शन होने का ख़तरा

अगर आप रास्ते में गन्ने का जूस पी लेते हैं तो आपको इन्फेक्शन भी हो सकता हैं। रास्ते में पाए जाने वाली गन्ने की दुकाने साफ़ नहीं होती हैं। इन दुकानों पर गन्ने की गुणवता पर भी ध्यान नहीं दिया जाता हैं। रास्ते में खड़ी दूकान से गन्ने का रस पीने से बचे। इन दुकानों पर धुल-मिट्टी भी काफी ज्यादा होती हैं और इन दुकानों के दुकानदार साफ़-सफाई का भी ज्यादा ध्यान नहीं रखते हैं। ऐसी दुकानों से गन्ने का रस पीने से आपको पेट दर्द की समस्या हो सकती हैं।

गन्ने के जूस को फ्रीज़ न करे

हमेशा ताज़े गन्ने से निकाला हुआ फ्रेश जूस ही पीजिये। अगर आप गन्ने के जूस को फ्रिज में स्टोर करके रख देते हैं, और इसे बाद में पीते हैं तो आपको यह फायदा पहुचाने की बजाये नुकसान पहुचाने लगता हैं।

बासी जूस न पिए

बासी गन्ने के जूस पर मक्खियाँ भिनभिनाने लगती हैं। इसके अलावा इसमें कीड़े भी लग सकते हैं। इसलिए ऐसी दुकानों से जूस बिल्कुल भी न पिए, जहा आपको ताज़ा जूस निकाल कर नहीं दिया जाता हो। उन दुकानों से जूस पीना चाहिए, जहाँ आपके सामने ही ताज़ा रस निकाल कर दिया जाता हैं।

मशीनों में इस्तेमाल होने वाला तेल

गन्ने का रस निकालने के लिए मशीनों का इस्तेमाल किया जाता हैं। इन मशीनों को चलाने के लिए एक खास किस्म के तेल का इस्तेमाल किया जाता हैं। लेकिन जब यह तेल आपके पेट में चला जाए तो आपको काफी नुकसान होता हैं। इसलिए गन्ने का जूस ज्यादा नहीं पीना चाहिए। ऐसी दूकान से जूस पिए जहाँ मशीनों में कम तेल का इस्तेमाल होता हो। इस मशीन वाले तेल को कभी भी पेट में नहीं जाने देना चाहिए।

गन्दी दूकान से जूस न पिए

अगर आप हर जगह से गन्ने का जूस पी लेते हैं तो आपको सावधान हो जाने की जरूरत हैं। गन्ने का जूस पीने से पहले यह देख ले की दूकान में साफ़-सफाई का ख्याल रखा गया हैं की नहीं। अगर आप गन्दी दूकान से गन्ने का रस पीते है तो आपको नुकसान ही होता हैं।



Related posts:
Sattu khane ke fayde.
आम खाने के फायदे
खरबूजा खाने के फायदे। Benefits
कच्चा आम खाने के फायदे
जलजीरा पीने के फायदे
मोमोज के बारे में यह रोचक बातें जानते हैं आप ?
काले चने खाने के फायदे.
सूजी के फायदे जानने के लिए जरूर पढ़िए यह लेख.
शुगर फ्री ड्रिंक पीने के नुकसान.
टाइट कपड़े क्यों नहीं पहनने चाहिए?
दूध पिलाने वाली माओं को अपने बच्चे को कितने साल दूध पिलाना चाहिए?
जानिए पेशाब का रंग क्या कहता हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *