इन पेड़-पौधों को लगाने से प्राप्त होते हैं शुभ फल।

इन पेड़-पौधों को लगाने से प्राप्त होते हैं शुभ फल।

कुदरत ने मनुष्य को पेड़-पौधे के रूप में महत्पूर्ण खज़ाना दिया हैं। वृक्षों की वजह से ही पर्यावरण सुरक्षित हैं। आयुर्वेद इन पेड़-पौधों को औषधीय मानता हैं, और इनके जड़, फूल, पत्ते, छाल आदि से औषधियों का निर्माण करता हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुछ पेड़-पौधे ऐसे हैं, जिन्हें लगाने से शुभ फल प्राप्त होते हैं। आइये जानते हैं कौन से पेड़-पौधे को लगाने से क्या होता हैं? मतलब की इन्हें किस दिशा में लगाना चाहिए?

तंत्रसार के मुताबिक कुछ विशेष प्रकार के पौधों को लगाने से ग्रहों को शांत करने में मदद मिलती हैं। वास्तुशास्त्र में पौधों को लगाने के सही तरीके का वर्णन देखने को मिलता हैं। घर का बगीचा उत्तर, पूर्व और ईशान दिशा में ही होना चाहिए। गार्डन में फूल वाले पौधे ज्यादा होने चाहिए। कैक्टस और दूध वाले पौधे घर में नहीं लगाने चाहिए। आइये जानते हैं कुछ पेड़ों के बारे में जिन्हें खास दिशा में लगाने से फायदा और नुकसान होता हैं। मतलब इन बड़े पेड़ों को घर से बाहर लागाने से आपका भाग्य चमक सकता हैं।

ऐसे पेड़ जो किस्मत को बदल सकते हैं :-

■ तुलसी का पौधा

तुलसी के पौधे को घर के आँगन में लगाना चाहिए। इसकी पूजा करने से भगवान विष्णु प्रसन्न हो जाते हैं। तुलसी को घर में लगाने से बुद्धि और बल में बढ़ोतरी होती हैं। साथ ही इससे घर में लक्ष्मी जी का वास होता हैं।

■ आम का पेड़

घर के बाहर ईशान या पूर्व दिशा के मध्य में आम का पेड़ होना शुभ माना गया हैं। लेकिन आम के पेड़ जो फल देने वाला हो और यह घर के अंदर लगा हो तो इससे सन्तान के नष्ट होने का डर रहता हैं। भगवान शंकर की पूजा आम के फूलों से करने से शिवजी प्रसन्न हो जाते हैं, ऐसा लाल किताब में लिखा गया हैं। आम का पेड़ कभी भी घर की दक्षिण दिशा में नहीं लगाना चाहिए, इससे नुकसान होगा।

■ नींबू का पेड़

नींबू के पौधे को लगाने से निसंतान दम्पतियों को संतान की प्राप्ति होती हैं। नींबू के पौधे को लगाने से बच्चों को लाभ मिलता हैं। निम्बू का वृक्ष घर के बाहर उत्तरपूर्व दिशा की ओर लगाना चाहिए।

■ अनार का पौधा

अनार के पौधे को घर के बाहर आग्नेय दिशा में लगाने से शुभ फल प्राप्त होते हैं। बंजर प्रजाति के अनार का पेड़ घर में लगाने से हानि होती हैं। अनार की कालम का तन्त्रसार में काफी ज्यादा महत्व दिया गया हैं। अनार के पौधे को कभी भी घर के उत्तर-पक्षिम दिशा में नहीं लगाना चाहिए।

■ बेल का पेड़

बिल्वपत्र को शिवलिंग पर अर्पित करने से भगवान शिव अपने भक्तों पर बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। इस पेड़ का घर के वायव्य में होना अच्छा हैं।

■ पीपल का पेड़

पीपल के पेड़ पर शनिवार के दिन कच्चा दूध और जल चढ़ाने से शनिदेव शांत होते हैं। साथ ही इससे घर में धन की कमी दूर होती हैं। अग्नि पुराण में यह लिखा गया हैं की पीपल का पेड़ घर से बाहर पश्चिम दिशा में हो तो यह बेहद ही कल्याणकारी होता हैं। जबकि पूर्व दिशा में होने से यह निर्धनता और भय देने वाला होता है। आग्नेय दिशा में पीपल का पेड़ लगा हुआ हैं तो आपको मृत्यु के समान कष्ट प्राप्त होते हैं।

जरूर पढ़े :- पीपल के पेड़ के फायदे, उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।

■ आंवले का पेड़

आंवले का जूस और उसका इसका फल अनेक प्रकार के रोगों के उपचार में सक्षम हैं। आंवले का मुरब्बा खाने से सेहत को ढेर सारे फायदे होते हैं। आंवले का वृक्ष घर के बाहर  ईशान कोण में होना चाहिए, तभी यह आपको शुभ फल देगा।

■ सूरजमुखी का पौधा

इसे घर के ईशान दिशा में लगाना चाहिए, ताकि सूर्योदय के साथ यह खिल उठे। जैसे जैसे सूर्य पूर्व से पश्चिम की ओर जाने लगते हैं, यह फूल भी उसी अनुसार झुकने लगता हैं। इसी वजह से इसे सूरजमुखी कहा जाता हैं।

■ बरगद का पेड़

घर के बाहर पूर्व दिशा में बरगद का पेड़ यानी वट वृक्ष का होना अत्यंत शुभ फलदायक हैं। इससे मनुष्य के सभी कामनाएं पूरी हो जाती हैं। आग्नेय दिशा में बरगद का पेड़ होने से पीड़ा प्राप्त होती हैं। पश्चिम दिशा में बरगद का पेड़ उगने से कुल का नाश होता हैं। बरगद का पेड़ आयुर्वेद में विशेष महत्व रखता हैं, इसकी छाल, पत्ते, दूध, जटाए और कोमल पत्तियों का इस्तेमाल कई तरह की बिमारियों के उपचार में किया जाता हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *