चुकंदर का जूस ज्यादा पीने के नुकसान क्या हैं और इसे कितना पीना चाहिए?

चुकंदर का जूस ज्यादा पीने के नुकसान क्या हैं और इसे कितना पीना चाहिए?

चुकंदर का जूस सेहत के लिए फायदेमंद होता हैं, लेकिन अति किसी भी चीज़ की बुरी होती हैं। तो भला अगर जरूरत से ज्यादा बीटरूट जूस पिया जाये तो निश्चित ही आपको हानि होने लगेगी। पिछले कुछ सालों में चुकंदर से होने वाले लाभ की वजह से और अच्छे प्रचार के कारण यह लोगो में बहुत ज्यादा लोकप्रिय हो गया हैं। वजन कम करने की चाहत रहने वाले लोग चुकंदर का जूस काफी ज्यादा पीने लगे हैं। Side-effects of beetroot juice in Hindi.

चुकंदर का रस सेहत के लिए फायदेमंद ही होता है। क्योंकि इसके सेवन से इसमें पाए जाने वाले आर्गेनिक नाइट्रेस आपके दिल को ऑक्सीजन की सप्लाई ज्यादा मात्रा में करते हैं, यह ब्लड वेसल्स में सुधार लाता हैं। इससे सहनशक्ति में वृद्धि होती हैं, जिस वजह से आप कसरत ज्यादा कर पाते हैं। इसे पीने से पाचन शक्ति भी दुरुस्त बनती है और दिल की बिमारियां जैसे की हार्ट स्ट्रोक होने का ख़तरा भी कम हो जाता हैं। यह शरीर में खून को बढ़ाता हैं, जिससे यह जूस एनीमिया की बीमारी को ख़त्म करने में मददगार हैं। इसके सेवन से शरीर का ब्लड प्रेशर भी कम हो जाता हैं। यह सभी फायदे देखकर आप चुकंदर का जूस जरूर पीना चाहेंगे।

आप सोच रहे होंगे की यहाँ तो चुकंदर के जूस पीने के फायदे के बारे बताया जा रहा हैं और लेख का टाइटल चुकंदर का जूस पीने के नुकसान हैं। जी हाँ दोस्तों हम आपको चुकन्दर का रस पीने से होने वाले नुकसान के बारे में ही आपको बताएँगे, जब आप जरूरत से ज्यादा चुकंदर का रस पीते हैं तो आपको नुकसान ही होते हैं। आइये जानते हैं इसके बारे मे।

ज्यादा चुकंदर का जूस पीने के नुकसान :-

■ ब्लड प्रेशर में बहुत ज्यादा गिरावट आना

अगर आप ब्लड प्रेशर कम करना चाहते हैं तो यह जूस आपके लिए वरदान हैं। लेकिन जो लोग लो ब्लड प्रेशर के मरीज़ हैं, उन्हें यह जूस बिलकुल भी नहीं पीना चाहिए। इसके अलावा जिन लोगो का ब्लड प्रेशर हाई हैं और वे चुकंदर के जूस के साथ ब्लड प्रेशर कम करने वाली दवाइयां भी खा रहे हैं तो इससे उनका ब्लड प्रेशर असामान्य रूप से कम हो जायेगा, जो की खतरनाक हो सकता हैं। यानी की कहने का मतलब यह हैं की ब्लड प्रेशर कम करने वाली दवाई के साथ चुकंदर का रस नहीं पीना चाहिए। वैसे यह हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए ही जाना जाता हैं।

■ किडनी में पत्थरी होने का ख़तरा

चुकंदर का रस पीने का नुकसान आपकी किडनी पर पड़ता हैं। ऐसे लोगो को जिनकी किडनी में स्टोन बनने का ख़तरा हो, उन्हें चुकंदर का रस पीने से परहेज़ करना चाहिए। एक रिपोर्ट के अनुसार चुकंदर के जूस में ऑक्सालेट होता हैं, ऑक्सालेट एक ऐसा कंपाउंड हैं जो गुर्दे में पत्थरी बनाने के लिए जिम्मेवार होता हैं। वैसे इसकी पत्तियों में जड़ के मुकाबले कम ऑक्सालेट होता हैं, लेकिन फिर भी किडनी के रोगियों को सावधान रहने की जरूरत हैं।

■ ब्लड प्रेशर को नार्मल बनाये रखने में परेशानी

कुछ फैक्ट्स के मुताबिक मसल्स में प्रसार लाने वाले आहार का बहुत ज्यादा समय तक सेवन करने से शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड का प्रोडक्शन बंद हो जाता हैं। अगर यह बात सच हैं तो बॉडी में नेचुरल तरीके से ब्लड प्रेशर को कम करने की शक्ति ख़त्म हो जाती हैं। इससे आपको लम्बे समय तक ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती हैं। हालांकि इस बात पर सभी विशेषज्ञो की एक राय नहीं हैं, की चुकंदर का जूस पीने से ब्लड प्रेशर से सम्बन्धित समस्याएं हो सकती हैं। लेकिन सावधानी का ध्यान रखे तो चुकंदर का जूस ज्यादा नहीं पीना चाहिए।

■ पेशाब और मल का रंग लाल होना

इस सिचुएशन को बीटूरिया कहा जाता हैं, इसमें आपको गुलाबी या लाल रंग का पेशाब आता हैं। चुकंदर का जूस ज्यादा पीने से पेशाब और मल का रंग लाल या गुलाबी हो सकता हैं, जिसकी वजह से ज्यादातर लोग यह समझने लगते हैं की उनके मूत्र या मलत्याग से खून आ रहा हैं। जिसकी वजह से लोग काफी घबरा जाते हैं, यह कोई चिंता वाली बात नही हैं। इससे कोई नुकसान नहीं होता हैं। चुकंदर में पाए जाने वाले गहरे रंग के बीटनिन तत्व की वजह से मल और मूत्र का रन लाल हो जाता हैं। यह स्तिथि 48 घंटे या उससे कम समय में ही ठीक हो जाती हैं और इसके बाद पॉटी और पेशाब का रंग नार्मल हो जाता है। एक बार आप चुकंदर का रस का सेवन बंद कर देते हैं तो 48 घंटे के अंदर सब कुछ नार्मल हो जाता हैं, अगर 48 घंटे के बाद भी पेशाब का रंग लाल हैं तो डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

■ शुगर की समस्या

100 ग्राम कच्चे चुकंदर में 7 ग्राम सुगर होता हैं। अगर आप इतना ही इसका जूस बना कर पीते हैं तो इसमें भी इतना ही शुगर होगा। कहने का मतलब हैं की आप शुगर पर कण्ट्रोल रखते हैं तो भी आप चुकंदर का रस बेहिचक हो कर पी सकते हैं, अगर आप अन्य किसी रूप में शुगर नही ले रहे हैं। इस बात का ध्यान रखे की अन्य खाद्य पदार्थ संतुलित मात्रा में ले।

■ पेट ख़राब होना

अगर आप ज्यादा मात्रा में इस जूस को पीते है तो आपका पेट ख़राब हो सकता हैं। कुछ जानकारों की माने तो बीटरूट जूस में आधा अन्य फलों का जूस मिला कर पीना चाहिए। कच्चे चुकंदर का सेवन करने से गैस्ट्रोइंटेसटाइनल की बीमारियाँ हो सकती हैं। इसमें फ्रुक्टंस होता हैं जो एक किस्म का कार्बोहायड्रेट हैं, जिसकी वजह से आपको पेट में समस्याएं हो सकती हैं। इससे आपको इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम की बीमारी हो सकती हैं।

कितनी मात्रा में चुकंदर का रस पीना चाहिए?

डाइट एक्सपर्ट की माने तो एक बार में 250 ml और हफ्ते में 3 बार ही चुकंदर का जूस पीना चाहिए। अगर आपको इसका स्वाद अच्छा नहीं लग रहा हैं तो आप इसे अन्य जूस जैसे की ऑरेंज जूस या एप्पल जूस के साथ मिक्स करके पी सकते हैं।

कुछ हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार रोजाना चुकंदर का जूस पिया जा सकता हैं। लेकिन हकीकत यह हैं की इतना जूस पीने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए। अगर आप ब्लड प्रेशर कम करने की दवाई खा रहे तो इससे आपकी सेहत को नुकसान हो सकता हैं। और एक बात और अगर आप लो ब्लड प्रेशर को कम करने के उद्देश्य से सिर्फ इसका जूस ही पीना चाहते हैं तो दवाईयों को छोड़ने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले ले।

सम्बंधित लेख जिन्हें आपको जरूर पढ़ना चाहिए :- 

चुकंदर के जूस में संतरे का जूस मिला कर पीने के फायदे।

संतरे का जूस क्यों पीना चाहिए और इसे बनाने का तरीका।

सेब का जूस पीने के फायदे।

करेले का जूस पीने के फायदे।

एलोवेरा जूस पीने के फायदे।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

One thought on “चुकंदर का जूस ज्यादा पीने के नुकसान क्या हैं और इसे कितना पीना चाहिए?

  1. Asfak kachaliya

    मेरा निचेका bp low रहता है 70/120 तोक्या मे चुकंदर का जूस पी सकता हू प्लीज रीप्ले

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *