जानिए कुत्तों से जुड़े शुभ अशुभ शगुन और बातें.

Kutte se jude shubh-ashubh.

मानव समाज में शकुन-अपशकुन की मान्यता प्राचीन समय से चली आ रही है. इस मान्यता को जानवरों के साथ भी जोड़ा गया है. कुत्ता भी इनमें से एक है. कुत्ते को शकुन शास्त्र में शकुन रत्न कहा गया है, क्योंकि कुत्ता इंसानों के काफी करीब है. ऐसे में इसके क्रिया-कलापों को देखकर शकुन-अपशकुन के बारे में आसानी से जाना जा सकता है. शकुन शास्त्र के अनुसार कुत्ता यदि अचानक धरती पर अपना सिर रगड़े और यह क्रिया बार-बार करे तो उस स्थान पर गड़ा धन होने की संभावना होती है.

• यात्रा पर जाते समय कुत्ता जूते लेकर भाग जाए या किसी और के जूते लेकर सामने आ जाए तो निश्चित रूप से उस व्यक्ति के धन को चोर चुरा लेते हैं.

• यदि कुत्ता पेड़ के नीचे खड़ा होकर भौंकता है तो ये वर्षाकाल में अच्छी वर्षा का संकेत होता है.

• किसी किसान को हल ले जाते हुए रास्ते में कुत्ता बाईं ओर मिल जाए और फिर घर आते समय दाहिनी ओर मिले तो उसकी उपज अच्छी होती है.

• कुत्ता यदि अपनी जीभ से अपने दाहिने अंग को चाटता है अथवा खुजलाता है तो ये कार्य सिद्धि की सूचना है या जीभ से पेट को छूता हुआ दिखाई दे तो लाभ होता है.

• यदि किसी व्यक्ति की चारपाई के नीचे घुसकर कुत्ता भौंकता है तो उस चारपाई पर सोने वाले को रोग और मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.

• यदि किसी यात्री को देखकर कुत्ता भय से या क्रोध से गुर्राता है अथवा बिना किसी कारण से इधर-उधर चक्कर काटे तो उस यात्रा करने वाले को धन की हानि होती है.

• भोजन करते समय यदि कोई कुत्ता अपनी पूंछ उठाकर सिर को हिलाता है भोजन नहीं करना चाहिए, क्योंकि वह भोजन करने से रोगी होने की संभावना रहती है.

• यदि कुत्ता बाएं घुटने को सूंघते हुए दिखे तो धन प्राप्ति होती है तथा दाहिने घुटने के सूंघता दिखे तो पत्नी से झगड़ा होता है. बाईं जांघ को सूघें तो स्त्री से समागम और दाईं जांघ को सूंघे तो मित्र से वैर होने की संभावना रहती है.

• यदि किसी जुआरी को जुआ खेलते जाते समय दाईं ओर कुत्ता मैथुन करता मिले तो उसे जुए में अत्यधिक लाभ होता है.

• यदि किसी स्थान पर बहुत से कुत्ते एकत्रित होकर भौंके तो वहां रहने वाले लोगों पर कोई बड़ी विपत्ति आती है या फिर वहां के लोगों में भयंकर लड़ाई-झगड़ा होता है.

• यात्रा के लिए जाते हुए यदि कोई कुत्ता बाईं ओर संग-संग चले तो सुंदर स्त्री और धन की प्राप्ति होती है. यदि दाहिनी ओर चले तो चोरी या और किसी प्रकार से धन हानि की सूचना देता है.

• यदि यात्रा करते समय किसी व्यक्ति को कुत्ता अपने मुख में रोटी, पूड़ी या अन्य कोई खाद्य पदार्थ लाता दिखे तो उस व्यक्ति को सदा ही धन का लाभ होता है.

• जिसके घर में कोई कुत्ता बहुत देर तक आकाश, गोबर, मांस, विष्ठा देखता है तो उस मनुष्य को सुंदर स्त्री की प्राप्ति और धन का लाभ होता है.

•यदि किसी रोगी के सामने कुत्ता अपनी पूंछ या हृदय स्थल बार-बार चाटे तो शकुन शास्त्र के अनुसार बहुत ही जल्दी उस रोगी की मृत्यु होने की संभावना रहती है.


Loading...


Related posts:
श्री शिव पार्वती जी की पूजा कैसे करे?
पूजा करने के यह 15 नियम जरूर याद रखे.
नहाने से पहले रखें इन 12 बातों का ध्यान
उपवास करने के फायदे.
गरीबी दूर करना चाहते हैं तो शुक्रवार को करें ये उपाय
पूजा के लिए सुबह का समय श्रेष्ठ क्यों है?
क्या आपको अमावस्या के बारे में यह बातें पता हैं ?
इस तरह नहीं सोना चाहिए, इससे उम्र कम हो जाती हैं.
जानिए जानवरों से जुड़े शुभ-अशुभ, शकुन अपशकुन के बारे में.
लोहड़ी के त्यौहार के बारे में जानकारी और इसकी कथा।
शनि देव को प्रसन्न करने के सरल उपाय।
घर की नेगेटिव एनर्जी और पैसों की कमी को दूर करने के जरूर करे यह 5 उपाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *