जानिए दातुन के बारे में, इसके फायदे और इसे कैसे करना चाहिए?

By | October 18, 2016

जानिए दातुन के बारे में, इससे होने वाले फायदे और इसे कैसे करना चाहिए?

आज कल दांतों को साफ़ करने के लिए हम टूथपेस्ट का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन जब आप दातुन से सेहत को होने वाले फायदे के बारे में जानेंगे तो आप इन खतरनाक केमिकल वाले टूथपेस्ट की जगह दातुन का इस्तेमाल करने लगेंगे। आपने यह देखा ही होगा की बड़े-बुज़ुर्ग आज भी दातुन करने की सलाह देते हैं। पुराने जमाने में जब टूथपेस्ट और ब्रश नहीं होते थे, तब लोग दातुन का इस्तेमाल करके अपने दांतों को साफ़ करते थे। इससे उनके दातं भी साफ़ हो जाते थे और उन्हें कई सारी बीमारियों से बचाव भी हो जाता था।

दातुन को करने से आपके दातं के अलावा जीभ भी साफ़ हो जाती हैं। आज के लेख में हम दातुन के बारे में जानेंगे, दातुन करने के फायदे क्या होते हैं? दातुन को कैसे करना चाहिए? इन सभी प्रश्नों का उत्तर देने की कोशिश करेंगे।

आयुर्वेद और दातुन का सम्बन्ध

आयुर्वेद में वर्णित दंतधावन विधि में अर्क, न्यग्रोध, खदिर, करज्ज, नीम, बबूल आदि पेड़ों की डंडी की दातुन करने की सलाह दी जाती है। दरसल आयुर्वेद मूंह को कफ का कारक मानता हैं। जब आप पूरी रात सो कर सुबह उठते हैं तो आपके मूंह में कफ जमा हो गया होता हैं। इसलिए शास्त्रों में कफ दोष का नाश करने वाले कटु, तिक्त एवं कसैला प्रधान रस वाली दातुन का इस्तेमाल करने के लिए कहा गया हैं। आयुर्वेद में बताया गया है कि ‘निम्बश्च तिक्तके श्रेष्ठः’। नीम का दातुन दांतों को ही स्वस्थ नहीं रखता बल्कि इससे पाचन क्रिया और चेहरे पर भी निखार आता है। यही कारण है कि आज भी गांवों में बहुत से लोग नियमित नीम की दातुन इस्तेमाल करते हैं।

धार्मिक दृष्टि से फायदेमंद

धार्मिक दृष्टि से देखा जाये तो यह ब्रश के मुकाबले ज्यादा पवित्र होता हैं। आज भी देश के कई गाँवों में व्रत या पूजा के दौरान ब्रश की बजाये दातुन का उपयोग किया जाता हैं। ऐसा इसलिए किया जाता हैं क्योंकि ब्रश के हर दिन इस्तेमाल होता हैं जबकि दातुन को सिर्फ एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता हैं, इसलिए यह ब्रश के मुकाबले जूठी नहीं होती हैं। यानि की ब्रश की तरह इसे बार-बार इस्तेमाल नहीं किया जा सकता हैं। ताज़ा तोड़कर दातुन करने को शुद्ध और पवित्र माना गया हैं।

Loading...

टूथपेस्ट से अच्छा

आज कल के टूथपेस्ट हानिकारक केमिकल से बने हुए होते हैं जो दांत को तो साफ़ कर देते हैं, लेकिन मसूड़ो को नुकसान पंहुचा सकते हैं। इसके अलावा अगर टूथपेस्ट निगल लिया जाये तो यह आपको नुकसान पंहुचा सकता हैं, लेकिन दातुन के रस को निगल भी लिया जाये तो यह आपको फायदा ही करेगा। दातुन न सिर्फ आपके दातं साफ करेगा, बल्कि मसूडो को भी हानि नहीं पहुचायेगा।

दातुन कैसे करना चाहिए?

दातुन को करने से पहले हमेशा अच्छी तरह से धोना चाहिए। क्योंकि पेड़ की टहनियों पर कीड़े-मकौड़े और कीट बैठे रहते हैं। इसलिए इसे करने से पहले अच्छी तरह से धोये। दातुन कभी सुखा नहीं होना चाहिए। क्योंकि इससे रस नहीं निकल पायेगा और आपके दांत, पेट, चेहरे और सेहत पर यह अच्छा असर नहीं दिखा पायेगा।

दातुन को सुबह 5 मिनट से लेकर 15 मिनट तक करे। नीम के दातुन को दांतों पर रगड़ना नहीं चाहिए, बल्कि पहले धीरे-धीरे चबाना चाहिए, फिर जब यह ब्रश की तरह मुलायम हो जाये तो धीरे-धीरे इससे दांतों को साफ़ करे। दातुन को चबाने से जीभ भी साफ़ हो जाती हैं। दातुन को ऊपर से नीचे की ओर और नीचे के दांतों को ऊपर की ओर करे। इससे मसूड़े मजबूत बनेंगे और पायरिया भी दूर होगा। नीम की दातुन माउथफ्रेशनर का काम करती हैं।

कौन कौन से दातुन हैं और दातुन के करने से सेहत को क्या फायदे होते हैं?

नीम का दातुन :-

नीम का दातुन दांतों को हेल्दी बनाने के साथ पेट के लिए भी अच्छा होता हैं। आज भी पुराने लोग नीम की दातुन का इस्तेमाल करते हैं। आइये जानते हैं नीम की दातुन करने के फायदे :-

► दांतों का पीलापन दूर करे :- फास्टफूड खाने के कारण लोगो के दांत पीले हो रहे हैं। नीम के दातुन से जो रस निकलता हैं, वह दांतों का पीलापन दूर करके उन्हें सफ़ेद, मजबूत और चमकदार बनाता हैं।

► मूंह के छालों को ठीक करे :- नीम के दातुन में एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं। इसलिए इसको करने से मूंह के छालें ठीक हो जाते हैं और दुबारा से बार-बार नहीं होते हैं।

► Face look को बेहतर बनाये :– दातुन को चबाने से चेहरे की भी कसरत हो जाती हैं, जिससे फेस पर एक स्लिम लुक आ जाता हैं।

► दांतों का दर्द कम करे :- नीम के दातुन को करने से जो रस निकलता हैं, उससे दांतों में होने वाला दर्द दूर होता हैं। क्योंकि इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुण पाए जाते हैं जिनसे मसूढ़े मजबूत बनते हैं और दांतों के दर्द से राहत मिलती हैं। नीम का दातुन करने से आप बुढापे तक भी दांतों की समस्याओं से बच सकते हैं।

► दांतों में कीड़े लगने से बचाए :- बच्चों को चॉकलेट खाने की वजह से दांतों में कीड़े लग जाते हैं और वे दांत के दर्द से रोने लगते हैं। ऐसे में अगर आप और आपके बच्चे नियमित रूप से नीम की दातुन करने लगेंगे तो दांतों में कीड़े नहीं लगेंगे और दांत अच्छी तरह से साफ़ होंगे। यह कीटाणुनाशक होता हैं।

► मूंह की बदबू, पस और सड़न कम करे :– आयुर्वेद के अनुसार यह लघु कषाय कटु एवम् शीत होने की वजह से मूंह की दुर्गन्ध, दांतों में सड़न, पस आदि को दूर करता हैं।

एक बात का ध्यान दे, नीम का दातुन हमेशा ताज़ा तोड़कर कर करना चाहिए। गर्भवती औरतें और छोटे बच्चे नीम का दातुन कर सकते हैं, लेकिन यह कड़वा होता हैं, जिससे उन्हें उल्टी या मतली आ सकती हैं।

अर्जुन का दातुन करने के फायदे

अर्जुन के पेड़ की दातुन करने से ब्लड प्रेशर सही रहता हैं। यह डायबिटीज में भी फायदेमंद हैं। इससे शरीर की सुन्दरता बढ़ती हैं, शरीर सुडौल और कमर पतली बनती हैं। यह दिल की बिमारियों को दूर करने वाला भी माना गया हैं।

अपामार्ग की दातुन

अपामार्ग को चिरचिटा के नाम से भी जाना जाता हैं। इसको करने से पत्थरी, मूत्र रोग, सांस से जुड़ी परेशानियां, पसीना ज्यादा आना आदि रोग दूर हो जाते हैं।

महुआ की दातुन

महुआ की टहनी का दातुन ही करना चाहिए। इसको करने से दांतों का हिलना, दांतों से खून बहना, मूंह की कड़वाहट, गला सूखना आदि दूर समस्याएं दूर होती हैं। महुआ के दातुन को नियमित करने से स्वप्नदोष, शीघ्रपतन, मूत्रदाह आदि बिमारियों में भी फायदा होता हैं।

बरगद का दातुन

बरगद का दातुन करने से आँखों की रोशिनी बढ़ती हैं, यह रक्त प्रदर और श्वेत प्रदर की बिमारी में लाभ पहुचाता हैं। दातुन करने के दौरान इसके रस को चूसने से मूंह सभी तरह की बीमारियों से सुरक्षित रहता हैं।

बबूल का दातुन

बबूल यानि की कीकर का दातुन करने से दांत सफ़ेद और मजबूत बनते हैं। इसके अलावा यह मसूड़ो को स्वस्थ्य रखता हैं। बबूल का दातुन करने से याददास्त अच्छी होती हैं और बौधिक विकास होता हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार बबूल का दातुन सुबह-शाम करने से शनि दोष से मुक्ति मिलती हैं और यह शनि ग्रह के बुरे प्रभाव से आपको बचाता हैं।

बेर का दातुन

बेर का दातुन करने से जहाँ दांत साफ़ होते हैं, वहीँ यह आवाज़ को मधुर और साफ़ करता हैं। इसके इस्तेमाल से गला साफ होता हैं। इसलिए जो लोग गायक हैं या फिर वाणी से सम्बंधित क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं उन्हें बेर का दातुन नियमित रूप से करना चाहिए।

नीम के दातुन के बारे में रोचक जानकारी :-

भारत में मुफ्त में मिलने वाली नीम की दातुन, अमेरिका में 6 दातुन 9.95 $ यानि की लगभग 660 रूपये की बिक रही हैं। जी हाँ यह बात बिलकुल सच हैं। अमेरिका के सुपर मार्किट और ऑनलाइन शॉपिंग कम्पनी अमेज़न इस नीम के एक दातुन को लगभग 2$ में बेच रही हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की सिर्फ अमेरिका ही नहीं यूरोप में भी नीम के दातुन की भारी डिमांड हैं। नीम के अलावा बबूल के दातुन की भी अच्छी मांग हैं। इसलिए अब आप टूथपेस्ट और ब्रश की जगह नीम की दातुन का इस्तेमाल करना शुरू कर दीजिये।



Related posts:
Shakkar (sugar) khane ke nuksan.
पियक्कड़ होने के लक्षण यह हैं.
जानिए प्रियंका चोपड़ा से जुडी कुछ रोचक बातें.
महान सम्राट अशोक के रहस्यमय नवरत्न के बारे में जानिए.
जानिए ज़िन्दगी के ऐसे झूठ जो कभी सच नहीं होते, लेकिन उनका इस्तेमाल किया जाता हैं.
यह नदी 3 देशो का बॉर्डर हैं..
तिल के फायदे जरूर जानिए.
गुलाब के फूल के स्वास्थ्यवर्धक लाभ..
लो ब्लड प्रेशर को दूर करने वाले 13 उपयोगी घरेलु नुस्खे, उपाय और टिप्स.
जानिए अलग-अलग ग्रीन टी के बारे में और उन्हें पीने के फायदे।
अचार खाने के फायदे और नुकसान जरूर पढ़े यह लेख।
मूंग की दाल खाने के फायदे जरूर पढ़े लेख।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *