जानिए पिन कोड के बारे में रोचक तथ्य.

जानिए पिन कोड के बारे में रोचक तथ्य.

डाक से भेजे जाने वाले लिफाफे, अंतर्देशीय अथवा पोस्टकार्ड आदि में पते के स्थान पर एक छोटा आयताकार बॉक्स बना होता है। यह बॉक्स छह हिस्सों में बंटा होता है, जिसमें अंक भरे जाते हैं। डाक विभाग के लिए ये छह नंबर बेहद अहम होते हैं, जिन्हें ‘पिन कोड’ कहा जाता है। आइए, जानते हैं पिन कोड क्या है और इन छह नंबरों का क्या मतलब है?

पिन कोड, पोस्टल इंडेक्स नंबर (पिन) का संक्षिप्त नाम है। यह छह अंकों का विशेष कोड है, जो भारत में डाक वितरण करने वाले सभी डाकघरों को आवंटित किया जाता है। एक कोड केवल एक ही डाकघर से संबंधित होता है। अगर पत्र या किसी डाक में पते के साथ पिन कोड लिखा होता है, तो उसका सही गंतव्य तक जल्दी पहुंचना सुनिक्षित हो जाता है।

छह अंकों के पिन कोड में पहला अंक एक खास क्षेत्र या राज्य को दर्शाता है।

दूसरा एवं तीसरा अंक मिलकर उस क्षेत्र को दर्शाते हैं, जहां वितरण करने वाला डाकघर स्थित है।

अगले तीन अंक उस विशेष डाकघर को दर्शाते हैं, जहां पत्र या डाक का वितरण होना है।

-संक्षेप में पहले तीन अंक मिलकर उस छंटाई करने वाले या राजस्व जिले को दर्शाते हैं, जहां डाक भेजा जाना है।

-अंतिम तीन अंक उस वास्तविक डाकघर से संबंध रखते हैं, जहां डाक को अंतिम रूप से भेजा जाना है।

-पिन कोड से पहले वितरण क्षेत्र प्रणाली थी। इसके तहत हर वितरण डाकघर को एक विशिष्ट संख्या प्रदान की गई थी। पहले इसे मुंबई, कोलकाता, दिल्ली और चेन्नई जैसे बड़े नगरों में लागू किया गया था।

-1 अप्रैल, 1774 को जब डाक की सुविधाएं जनता को उपलब्ध कराई गईं, उस समय मात्र तीन ही डाक सर्किल थे- बंगाल, बंबई और मद्रास।

-भारत में पिन कोड सिस्टम है, तो अमेरिका में जिप यानी जैड आईपी सिस्टम है। उसमें मूलत: पांच अंक होते हैं, जिसे 1980 में शुरू किया गया।

-यूनाइटेड किंगडम में डाक कोड प्रणाली को पोस्ट कोड कहा जाता है। उसमें अंकों और शब्दों दोनों का प्रयोग होता है।

भारत में 15 अगस्त, 1972 को वर्तमान पिन कोड सिस्टम की शुरुआत हुई। इस समय देश में 9 पिन कोड रीजन है। इससे पहले रीजनल सिस्टम लागू था, जिसे 1946 में शुरू किया गया। इसे वितरण क्षेत्र संख्या प्रणाली कहा जाता था।

Keywords :- Pin code ke baare mein janiye. Rochak jankari Indian Postal Pin Code  address. पिन कोड के बारे में रोचक जानकारी. जानिए पिन कॉड के बारे में. सामान्य ज्ञान. 








इन्हें भी जरूर पढ़े...