जानिए बार-बार भूख लगने के क्या कारण हैं?

By | November 28, 2016

जानिए बार-बार भूख लगने के क्या कारण हैं?

दुनिया में कई लोग ऐसे होते हैं, जिनकी भूख कभी शांत नहीं होती हैं। क्योंकि वे लोग अगर भोजन कर भी लेते हैं तो कुछ ही समय के बाद उन्हें फिर से भूख लगने लगती हैं। ऐसे लोगो को घर के बाहर या किसी रिश्तेदार के घर में ठहरने पर शर्मिंदगी का सामना भी करना पड़ता हैं। बार-बार भूख लगने की वजह से लोग उन्हें पेटू भी कह कर चिढ़ाते हैं।

अगर आपके साथ भी ऐसा होता हैं तो आपके लगातार खाने की आदत से आपका वज़न बढ़ सकता हैं। क्या आप जानना चाहते हैं की आखिर खाना खाने के कुछ देर बाद बार-बार भूख क्यों लगती हैं? अगर आपने कोई शारीरिक काम किया हैं, ज्यादा देर तक आप दौड़े हैं या फिर आप गरभवती हैं तो आपकी भूख बढ़ जाएगी। इसके अतरिक्त अगर आप किसी बिमारी से उबर रहे हैं तो भी आप ज्यादा खाने लगते हैं। यह सभी स्तिथियाँ नार्मल हैं, इन सिचुएशन में भूख लगना स्वभाविक हैं।

लेकिन अगर भर पेट खाना खाने के तुरंत बाद भूख लग जाये तो यह गंभीर स्तिथि होती हैं। अगर आपको दिन में कई बार और बार-बार भूख लगती हैं तो आप बीमार हैं, इस समस्या को हाइपरफेजिया या पॉलीफेजिया कहा जाता हैं। आइये जानते हैं की जरूरत से ज्यादा भूख लगने और बार-बार खाने की इच्छा पैदा होने के क्या कारण होते हैं?

बार-बार भूख लगने की वजह :-

इटिंग डिसऑर्डर के कारण

इटिंग डिसऑर्डर जैसे की बुलिमिया के कारण भूख ज्यादा लगती हैं। बुलिमिया में बहुत ज्यादा खाने की समस्या होती हैं। इसमें आप जितना खाते हैं, वह उतना ही कम लगता हैं। बहुत ज्यादा खाने की यह यह सिचुएशन आगे चलकर उल्टी होने की कारण बन जाती हैं। एक और ईटिंग डिसऑर्डर लगातार खाते रहना। यह बचपन में ही शुरू हो जाता हैं और जब बच्चा उदास होता हैं तो वह बहुत ज्यादा खाने लगता हैं।

Loading...

भोजन में प्रोटीन और फाइबर की कमी

अगर आप अपने भोजन में प्रोटीन और फाइबर को सही मात्रा में नहीं लेते हैं, तो आपको बार-बार भूख लगने की शिकायत हो सकती हैं। क्योंकि प्रोटीन और फाइबर के सेवन से शरीर में ऐसे हॉर्मोन्स पैदा होते हैं तो पेट की भूख को शांत कर देते हैं। अगर आप अपनी डाइट में उचित मात्रा में प्रोटीन और फाइबर नहीं लेंगे तो आपको हर समय भूख लगने लगेगा।

टेंशन की वजह से

क्या आप जानते हैं की टेंशन की वजह से भी खाने की इच्छा बढ़ जाती हैं। लगातार तनाव और चिंता के कारण आपको बहुत ज्यादा भूख लग सकती हैं। क्योंकि जब हमारे दिमाग पर बहुत ज्यादा प्रेशर पड़ता हैं तो कॉर्टिकोट्रोपिन-रिलीज हार्मोन (सीआरएच) और अड्रेनालाइन का उत्पादन होने लगता हैं, जिससे हमारी भूख बढ़ जाती हैं। लेकिन अगर तनाव बना रहता है, तो अड्रेनल ग्लैंड्स हार्मोन कॉर्टिसोल रिलीज करते हैं, जो भूख बढ़ाते हैं। अगर तनाव और अधिक लंबे समय तक बना रहता है तो कॉर्टिसोल अत्यधिक भूख का बड़ा कारण बन सकता है।

हल्का नाश्ता करने से

सुबह का नाश्ता दिन की शुरुवात के लिए सबसे जरूरी होता हैं। इसलिए अगर आप सुबह के समय पौष्टिक भोजन करते हैं तो दिन भर आपको एक्स्ट्रा खाने का मन नहीं करेगा और आपके शरीर में कमजोरी भी नहीं आएगी। जो लोग सुबह के समय हल्का नाश्ता लेते हैं, उन्हें थोड़ी देर काम करने के बाद कमजोरी महसूस होने लगती हैं, और वह कुछ खा पीकर एनर्जी दुबारा से प्राप्त करना चाहते हैं। हल्का नाश्ता करने से भी आपको जल्दी भूख लगती हैं। इसलिए सुबह के समय पौष्टिक और हेल्दी ब्रेकफास्ट जरूर ही करना चाहिए।

पानी की कमी के कारण

पानी भूख को शांत करने का काम भी करता हैं। कई बार शरीर को पानी की उचित मात्रा न मिलने के कारण बॉडी dehydrate हो जाती हैं और हमें समझ ही नहीं आ पाता हैं की हमें क्या हुआ हैं? हमें ऐसा महसूस होने लगता हैं की कुछ खा लेना ही बेहतर हैं और हम लगातार खाते रहते हैं। लेकिन असल में यह पानी की कमी से होता हैं। सर्दियों के दिनों में हम पानी बहुत कम पीते हैं, इसलिए सर्दियों के दिनों में हम ज्यादा खाने लगते हैं। लेकिन सर्दी हो चाहे गर्मी पानी हमें पर्याप्त मात्रा में पीते रहना चाहिए।

पेट में कीड़े होने के कारण

कई बार बहुत ज्यादा भूख लगने की वजह पेट में कीड़े होना भी हैं। यह कीड़े, specially Tapeworm आपके शरीर के अन्दर लम्बे समय तक रहता हैं और आपको पता भी नहीं चलता हैं। यह parasite आपके शरीर से पोषण लेने लगते हैं और आपको फैट और शुगर दे देते हैं। इसके कारण आपको ज्यादा भूख लगने लगती हैं और आप जरूरत से ज्यादा खाने लगते हैं।

बहुत ज्यादा चाय पीने के कारण

ज्यादा चाय पीने से अमूमन भूख मर जाती हैं, लेकिन आपको हमेशा कुछ न कुछ खाने की मन करने लगता हैं। आपको नमकीन, तीखा और चटपटा खाने की इच्छा पैदा होती हैं। चाय में पाए जाने वाले तत्व व्यक्ति की भूख को साधारण खाने से ज्यादा चटपटा खाने की ओर आकर्षित करते हैं। चाय पीने से ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ जाता हैं और आपको कुछ न कुछ खाने में आनंद आने लगता हैं। यानी की कहने का मतलब साफ़ हैं की ज्यादा चाय पीने से आपको नार्मल खाना खाने की बजाये कुछ न कुछ चटपटा और तीखा खाने का मन करने लगता हैं।

मेंटल हेल्थ डिसॉर्डर के कारण

मेंटल हेल्थ डिसॉर्डर जैसे बायपोलर डिसॉर्डर और मस्तिष्क में केमिकल के असंतुलन से जुड़ा हुआ मैनिक डिप्रेशन, हार्मोनल डेफिशियेंसी और जेनेटिक कारणों से खाना खाने की इच्छा बहुत अधिक बढ़ सकती है। बायपोलर डिसॉर्डर में बहुत सारे मूड स्विंग्स, बहुत अधिक एनर्जी लेवल और इंपल्सिवनेस की समस्या होती है। वहीं दूसरी तरफ डिप्रेशन में अधिक समय तक उदासी, कम एनर्जी लेवल और ध्यान केंद्रित करने में मुश्किल होती है।

आनुवांशिक समस्याएं

प्रेडर विली सिंड्रोम (PWS) जैसी आनुवांशिक समस्याएं भी अत्यधिक भूख का कारण बन सकती है। इस बीमारी में भूख बढ़ने के साथ साथ मोटापा भी बढ़ता है, छोटा कद रह जाता है और साथ ही मानसिक मंदता के लक्षण भी सामने आते हैं। पीडब्ल्यूएस मोटापे का सबसे सामान्य आनुवांशिक रूप है, लेकिन इससे अत्यधिक भूख क्यों बढ़ती है ये अभी तक साफ नहीं हो पाया है। रिसर्चरों का कहना है कि ऐसा घ्रेलिन (Ghrelin) नाम के एक हार्मोन के कारण होता है।

घर की बजाये बाहर का खाना खाने से

अगर आप कुंवारे हैं और आप घर की बजाये बाहर का खाना ज्यादा खाते हैं तो आप भूख्क्कड़ बन जायेंगे। पैकेट वाली और डिब्बाबंद सामग्री को खाने से आपका पेट तो भर जायेगा, लेकिन शरीर की आवश्यकताएं पूरी नही होंगी। होता यह हैं की बाहर का खाना खाने से पेट भर जाता हैं, लेकिन शरीर को जरूरी पोषण नहीं मिल पाता हैं, जिससे आपको बार-बार भूख लगती हैं। इसलिए बाहर खाने से बचे और घर का बना खाना ही खाए।

हाइपोग्लाइसीमिया के कारण

हाइपोग्लाइसीमिया यानि की ब्लड शुगर लेवल के लो हो जाने के कारण भी आपको बहुत ज्यादा भूख लगती हैं। हाइपोग्लाइसीमिया के लक्षणों में भूख ज्यादा लगना, ठंडा पसीना आना, सिरदर्द होना, चक्कर आना और कंफ्यूजन प्रमुख्य हैं। अगर आप जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं, भोजन में जरूरी कार्बोहाइड्रेट्स नहीं लेते हैं और भूखे रहते हैं तो आपको हाइपोग्लाइसीमिया की बीमारी हो जाती हैं। लेकिन यह बिमारी कुछ ही समय के लिए होती हैं और ब्लड शुगर का लेवल कुछ खा लेने के बाद ठीक हो जाता हैं। लेकिन अगर आपको लीवर की बीमारी हैं और आपको हाइपोग्लाइसीमिया हो गया हैं तो यह काफी गंभीर समस्या बन जाएगी। इससे आपको हर समय भूख लगने लगती हैं। ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि बॉडी में शुगर का निर्माण लीवर के द्वारा ही किया जाता हैं, जिससे ब्लड शुगर लेवल कम नहीं हो पाता हैं। लेकिन अगर आपको लीवर की बिमारी हैं तो आपके शरीर में शुगर का निर्माण नहीं हो पायेगा और आपको हाइपोग्लाइसीमिया यानि ब्लड शुगर लेवल लो होने की बिमारी हो जाएगी। जिस कारण आपको बार-बार भूख लगने लगती हैं।

जल्दी जल्दी खाने के कारण

अगर आप बहुत जल्दी-जल्दी खाने को खाते हैं तो आपको हर समय भूख लगती रहती है। इसलिए भोजन को धीरे-धीरे और चबा-चबा कर ही खाना चाहिए। इससे यह खाना आपके पेट में अच्छी तरह से पचता हैं और उसके सभी पोषक तत्व शरीर को ऊर्जा देते हैं। जिससे बार-बार भूख लगने की प्रॉब्लम नहीं होती हैं।

दवाईयों के कारण

कुछ दवाइयों की वजह से भी अधिक भूख लगने की समस्या हाइपरफेजिया हो सकती है। कोर्टिकोस्टेरोइड्स (corticosteroids), साइप्रोफेटेडाइन (cyproheptadine) और ट्राईसाइक्लिक एंटीडिप्रेसेंट दवाओं का सेवन करने वाले लोगों को ये समस्या हो सकती है।

गर्भ से जुड़ा कारण

गर्भ के अंदर का प्रतिकूल वातावरण भी अत्यधिक भूख का कारण बन सकता है। ऑकलैंड यूनीवर्सिटी के रिसर्चरों ने हाइपरफेजिया का एक रोचक कारण बताया है। उन्होंने पाया कि अत्यधिक भूख भ्रूण के कारण भी हो सकती है। इसके पीछे का सिद्धांत ये कहता है कि मां के गर्भ की विपरीत परिस्थितियां जैसे कुपोषण, गर्भ में होने वाले मेटाबॉलिक और हार्मोनल बदलाव इसके कारण हो सकते हैं।

ज्यादा कोलड्रिंक और सोडा पीने के कारण

कई सारी रिसर्च से यह बात साबित हो चुकी हैं की जो व्यक्ति ज्यादा कोल्ड ड्रिंक या सॉफ्ट ड्रिंक पीते हैं, उन्हें भूख बहुत जल्दी और ज्यादा लगती हैं। क्योंकि उनमे हाई फ्रक्टोज़ कॉर्न सिरप की मात्रा ज्यादा होती हैं। इससे ब्लड फ्लो और दूसरी एक्टिविटीज बढती हैं और भूख लगती हैं, जबकि पेट भरा होता हैं। लेप्टिन नाम का हॉर्मोन्स शरीर में पैदा होता हैं, जिससे हमें भूख ज्यादा लगती हैं।



Related posts:
Aam ke baare mein kuch khas baatein.
करेले का जूस पीने के 8 फायदे
डायबिटीज होने पर केला खाना चाहिए या नहीं ?
क्या आप जानते है ? पार्ट-2
जामुन से होते हैं यह फायदे
यह 6 चीज़े खाने से रूसी दूर हो जाती हैं.
चाय के 9 उपयोगी फायदे और नुस्खे.
बबूल (कीकर) के पेड़ के फायदे और घरेलु नुस्खे जरूर जानिए.
शहतूत खाने के 9 बेमिसाल फायदे.
कलौंजी के तेल के फायदे.
अपामार्ग (लटजीरा, चिरचिटा) के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय।
सावधान! सेब के बीज खाने से आपकी मौत भी हो सकती हैं।

One thought on “जानिए बार-बार भूख लगने के क्या कारण हैं?

  1. Ajabgajabjankari

    बहुत अच्छी जानकारी दी आपने, बहुत अच्छा पोस्ट डालते है अपने ब्लाग पर, पढकर मजा आ गया

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *