टेलकम पाउडर के नुकसान के बारे में जानकर आपको हैरानी होगी!

टेलकम पाउडर के नुकसान के बारे में जानिए

खूबसूरती को बनाये रखने के लिए महिलाएं टेलकम पाउडर का इस्तेमाल करती हैं। Talcum Powder शरीर से पसीने की बदबू को दूर करता हैं और एक Deodorant की तरह काम काम करता हैं। यह छोटे बच्चों के डायपर के बने निशानों और रगड़ को दूर करने में भी इस्तेमाल किया जाता हैं। इसे वैसे तो सेफ प्रोडक्ट घोषित किया गया हैं लेकिन फिर भी कुछ ऐसी चीज़े इसमें पायी जाती हैं जो आपको नुकसान पंहुचा सकती हैं। लोग गोरा दिखने के लिए टेलकम पाउडर का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन आपको इसके ज्यादा इस्तेमाल से बचना चाहिए। आइये जानते हैं टेलकम पाउडर के क्या नुकसान होते हैं? Side-Effects of Talcum Powder in Hindi.

टेलकम पाउडर के नुकसान :-

फेफड़ो में कैंसर होने का ख़तरा

जो लोग टेलकम पाउडर को शरीर पर लगाते हैं, वह सांस के जरिये फेफड़ो में पहुँच जाता हैं। जिससे आपको फेफड़ो से सम्बंधित समस्याएं पैदा होने लगती हैं और भविष्य में आपको फेफड़ो का कैंसर भी हो सकता हैं। इसलिए फेफड़ो के कैंसर से बचने के लिए कॉर्नस्टार्च युक्त बॉडी पाउडर का इस्तेमाल करना ही बेहतर रहता हैं, बजाये की टेलकम पाउडर के।

सांस की बीमारियाँ होने का ख़तरा

टेलकम पाउडर के उपयोग से सांस से सम्बंधित बीमारियाँ होने का खतरा रहता हैं। खास करके छोटे बच्चों को सबसे अधिक खतरा होता हैं। साँस के साथ अन्दर दाखिल होने पर यह बच्चों में निमोनिया को जन्म दे सकता हैं। इसलिए छोटे बच्चों की माओं को यह सलाह दी जाती हैं की टेलकम पाउडर को सीधे बेबी पर न छिड़के, बल्कि पहले इसे अपने हाथ पर लगाये, फिर बेबी के शरीर पर हल्के हाथो से लगाये। बच्चे को पाउडर लगाते समय इसे बच्चे के सिर से भी दूर रखना जरूरी हैं।

टेलकम पाउडर ज़हरीला भी हैं

टेलकम पाउडर में Tall नाम का मिनरल पाया जाता हैं। यह आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता हैं, जब यह सांस के जरिये आपके शरीर के अन्दर चला जाये। यह एंटी-सेप्टिक, बेबी पाउडर और टेलकम पाउडर को बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं। इसे सड़कछाप हेरोइन भी कहा जाता हैं।

Endometrial Cancer

एक अध्यन के मुताबिक़ जो लेडीज टेलकम पाउडर का इस्तेमाल पीरियड्स के बाद भी करती हैं, उनमे Endometrial Cancer होने का ख़तरा सबसे ज्यादा रहता हैं।

गर्भाशय में जलन होना

ज्यादातर महिलाएं इसे ब्यूटी प्रोडक्ट के रूप में इस्तेमाल करती हैं। वह इसे अपनी योनी में भी इस्तेमाल करती हैं, जिस करना इसके छोटे-छोटे कण गर्भाशय के अन्दर चले जाते हैं। यह कण सबसे पहले felopene ट्यूब में दाखिल होते हैं फिर गर्भाशय तक पहुँच जाते हैं। जिस कारण यह लम्बे समय तक गर्भाशय में रहते हैं और आसानी से बाहर नहीं निकल पाते हैं। जिससे गर्भाशय में जलन और कैंसर जैसी बीमारियों का ख़तरा बढ़ जाता हैं।

Talcosis

टेलकम पाउडर के कुछ कण हवा में फैल जाते हैं जो सांस लेने के दौरान शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। जिससे आपको छींक आना, गर्भपात होना, सांस फूलने जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। इसके अलावा यह Talcosis या फेफड़ो में जलन भी पैदा कर देते हैं।

गर्भाशय का कैंसर

इस तरह के उत्पादों का इस्तेमाल करने से गर्भाशय के कैंसर होने का ख़तरा अधिक रहता हैं। प्रत्येक 5 में से 1 स्त्री टेलकम पाउडर का इस्तेमाल करती हैं। जैसे की पहले भी आपको बताया गया हैं की यौन अंगो में इसका इस्तेमाल करने पर यह गर्भाशय में दाखिल हो जाता हैं। जिससे कैंसर होने का ख़तरा रहता हैं। रिसर्च भी इस बात की पुष्टि करते हैं की योनी में टेलकम पाउडर लगाने वाली स्त्री को टेलकम पाउडर न लगाने वाली स्त्री के मुकाबले गर्भाशय कैंसर होने का ख़तरा कंही ज्यादा रहता हैं।




Loading...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

दिन में कितनी बार ब्रश करना चाहिए?
तेज पत्ते के फायदे.
शहद और निम्बू को एक साथ मिला कर पीने के फायदे.
टिंडा खाने के फायदे.
आंवले के घरेलु उपाय और नुस्खे.
जानिए अलग-अलग ग्रीन टी के बारे में और उन्हें पीने के फायदे।
चेहरे पर रोजाना मेकअप करने से होते हैं यह नुकसान।
दिल को बनाये रखना चाहते हैं हमेशा स्वस्थ्य तो इन चीजों को न खाए।
चेरी खाने के 12 फायदे जानिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *