डेंगू से बचने में मदद करता हैं बकरी का दूध।

डेंगू से बचने में मदद करता हैं बकरी का दूध।

डेंगू जमे हुए पानी में पैदा होने वाले Aedes मच्छर के काटने से होता हैं। डेंगू भारत में बहुत ही तेज़ी के साथ फैल रहा हैं। इससे बचने के लिए आपको सावधानियां अपनाने की आवश्यकता हैं। डेंगू से बचने के लिए बॉडी की इम्युनिटी को मजबूत बनाने की भी जरूरत होती हैं। एक रिसर्च से यह पाया गया की डेंगू होने पर ब्लड सेल्स की संख्या बहुत ही तेज़ी के साथ गिरने लगता हैं, जबकि बकरी का दूध पीने से ब्लड सेल्स ज्यादा मात्रा में बनने लगते हैं। यानि की डेंगू होने पर बकरी का दूध पीना ज्यादा लाभकारी होता हैं।

बकरी का दूध डेंगू के अलावा और किस लिए होता हैं फायदेमंद :-

• इस प्रकार बकरी का दूध डेंगू के इलाज में अच्छा उपाय साबित होता हैं। बकरी हरे पौधे और पत्ते खाती हैं, जिसकी वजह से उसके दूध में औषधीय गुण पाए जाते हैं। जो कई प्रकार की रोगों को दूर करते हैं। यही कारण हैं की जो आदमी रोजाना बकरी का दूध पीता हैं उसे बुखार जैसी समस्याएं जल्दी नहीं होती हैं।

• बकरी का दूध पीने से अपच दूर होती हैं और शरीर को एनर्जी मिलती हैं। इसके अलावा इसमें अल्काइन होता हैं जो शरीर में एसिड को बनने से रोकता हैं, जिस वजह से आपको थकान, मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द की प्रॉब्लम नहीं होती हैं।

• डेंगू के इलाज के लिए बकरी का दूध पीना बहुत ही कारगर तरीका हैं। इसके अलावा एड्स की बीमारी में भी बकरी का दूध फायदेमंद रहता हैं।

• बकरी के दूध में उपस्तिथ प्रोटीन गाय या भैंस के दूध में पाए जाने वाले प्रोटीन की तुलना में ज्यादा हल्का होता हैं। इसलिए जहाँ गाय के दूध को पचाने में 8 घंटे का समय लगता हैं तो दूसरी ओर बकरी का दूध सिफ 20 मिनट के अन्दर ही पच जाता हैं।

• एक रिसर्च के अनुसार बच्चे को बकरी का दूध पिलाने से उसकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती हैं। इस प्रकार बच्चे के जल्दी बीमार होने की आशंका काफी कम हो जाती हैं। लेकिन 1 साल से छोटे बच्चों को बकरी का दूध नहीं पिलाये, क्योंकि इनसे उन्हें एलर्जी की समस्या हो सकती हैं।

• बकरी के दूध में विटामिन और मिनरल प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जो बिमारियों से बचने में आपकी मदद करते हैं। इसमें विटामिन B6, B12, Vitamin D, Folic Acid और प्रोटीन पाए जाते हैं। जो शरीर को मजबूत और स्वस्थ्य बनाने में कारगर हैं। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत बनता हैं, जिससे बिमारियों से लड़ने में मदद मिलती हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *