तांबे के बर्तन का पानी पीने के फायदे.

tambe ke bartan ka paani peene ke fayde. Benefits of Copper Water in Hindi.

तांबे (कॉपर) के बर्तन में पानी पीने के फायदे बहुत ज़्यादा होते हैं. Benefits of drinking water in Copper Vessels in Hindi. दूषित पानी की बढ़ती समस्या के कारण लोग अपने घरो में वॉटर प्यूरिफाइयर लगवा रहे हैं, जो की पानी की सभी गंदगी और बैक्टीरिया को ख़त्म करने का दावा करते हैं और हेल्थ के नज़रिए से यह वॉटर प्यूरिफाइयर काफ़ी अच्छे माने जाते हैं. लेकिन पुराने जमाने में जब वॉटर प्यूरिफाइयर नही होते थे, तब लोग तांबे के बर्तन में जल को स्टोर करके रखते थे. इसे बहुत ही अच्छा प्यूरिफाइयर माना जाता था. यह फंगल, एल्गी और पानी में मौज़ूद कई किस्म के बैक्टीरिया और जर्म्ज़ को आसानी से ख़त्म कर देता हैं. कॉपर से बॉडी को और किस-किस तरह से लाभ मिलता हैं आइए जानते हैं.

कहते हैं की रात को तांबे के पत्र में पानी रख दे और सुबह इस पानी को पिए तो अनेक फायदे होते हैं. आयुर्वेद में कहा गया हैं की यह पानी शरीर के कई दोषो को शांत करता हैं. साथ ही, इस पानी से शरीर के ज़हरीले तत्व बाहर निकल जाते हैं. रात को इस तरह तांबे के बर्तन में स्टोर किए पानी को ताम्रजल के नाम से जाना जाता हैं.

यह ध्यान रखने वाली बात हैं की तांबे के बर्तन में कम से कम 8 घंटे तक रखा हुआ पानी लाभकारी होता हैं. जिन लोगो को कफ़ की समस्या ज़्यादा रहती हैं, उन्हे इस पानी में तुलसी के कुछ पत्ते डाल देने चाहिए. बहुत कम लोग जानते हैं की तांबे के बर्तन का पानी पीने के बहुत सारे फायदे हैं. आज हम आपको बताने जा रहे हैं तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से होने वाले कुछ बेहतरीन फायदों के बारे में :-

पानी से होने वाली बीमारियो से बचाता हैं

कॉपर पानी में मौज़ूद सभी तरह के बैक्टीरिया, स्पेशली E Coli & S aureus को खत्म करने के हेल्पफुल होता हैं. यह बैक्टीरिया डायरिया, डेंटिस्ट्री और जौंडिस जैसी बीमारिया पैदा करते हैं. साल 2011 में यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ हैम्पटन में यह पाया गया की कॉपर इन बीमारियो की संभावना को ख़त्म करने के साथ ही इनके इन्फेक्शन से भी बचाता हैं.

डाइजेशन सही रखे

एसिडिटी, गैस और क़ब्ज़ जैसी परेशानी से दूर रहना चाहते हैं तो तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पिए. यह शरीर की सारी गंदगी को बाहर निकाल कर बीमारियो से दूर रखता हैं. साथ ही, लिवर और किडनी फंक्शन को भी सही रखता हैं. पेट से जुड़े किसी भी तरह के इन्फेक्शन से निपटने में तांबे में रखा हुआ पानी पीना कारगर होता हैं.

एसिडिटी, गैस या पेट की कोई दूसरी समस्या होने पर तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी अमृत की तरह काम करता हैं.

आयुर्वेद के अनुसार, अगर आप अपने शरीर से विषैले पदार्थो को बाहर निकलना चाहते हैं तो तांबे के बर्तन में कम से कम 8 घंटे तक रखा हुआ पानी पिए. इससे राहत मिलेगी और पाचन की समस्याएँ भी दूर होंगी.

वज़न कम करे

डाइजेशन सही रखने के साथ ही तांबा फैटी सेल्स को बढ़ने से भी रोकता हैं. इससे मोटापा कंट्रोल में रहता हैं. तांबे के बर्तन में पानी पीने के अलावा डाइट और एक्सरसाइज पर भी पूरा ध्यान देना चाहिए.

दिल का रखे ख्याल

तांबे में मौज़ूद मिनरल्स कार्डियोवॅस्क्युलर हेल्थ के साथ ही दिल से जुड़ी प्रॉब्लम्स को भी दूर रखते हैं. ब्लड प्रेशर के लेवल को सही रखने के साथ यह ख़राब कोलेस्टरॉल को कम करते हैं. साल 2005 में युरोपियन हेल्थ जर्नल में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, तांबे के बर्तन में रखा पानी हर तरीके से फायदेमंद होता हैं. हार्ट अटैक के ख़तरे से बचने और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने के लिए तांबे के बर्तन में स्टोर किया हुआ पानी पिए.

स्किन को रखे हेल्दी

ज़्यादातर लोग हेल्दी स्किन के लिए तरह-तरह के कॉसमेटिक का उपयोग करते हैं. वे मानते हैं की अच्छे कॉसमेटिक्स यूज़ करने से स्किन ब्यूटिफुल हो जाती हैं, लेकिन यह सच नही हैं. स्किन पर सबसे अधिक असर आपकी दिनचर्या और खानपान का पड़ता हैं. इसलिए अगर आप अपने स्किन को हेल्दी बनाना चाहते हैं तो तांबे के बर्तन में रात भर पानी रखे और सुबह उसे पी ले. नियमित रूप से इस नुस्खे के उपयोग से आपकी स्किन ग्लोयिंग और हेल्दी रहने लगेगी. मेलोनिन जो की स्किन से लेकर आँखो और बालो के कलर के लिए ज़िम्मेवार होता हैं, उसके बनाने के लिए तांबा बहुत ही ज़रूरी होता हैं. मेलनिन स्किन को अल्ट्रा-वायलेट किरणों से भी बचाता हैं साथ ही स्कार्स को दूर करके चेहरे के दाग-धब्बो को दूर करता हैं.

एनीमिया दूर करता हैं

एनीमिया की समस्या से निपटने के लिए तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीना बहुत ही फायदेमंद होता हैं, क्योंकि यह खून में मौज़ूद आयरन को आसानी से अब्ज़र्व कर लेता हैं. एनीमिया से जूझ रहे मरीज़ को तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीना चाहिए, साथ ही डॉक्टर की सलाह से आयरन की टेबलेट्स भी ली जा सकती हैं.

एंटी-एजिंग का काम करता हैं

ताम्बा बहुत ही अच्छा एंटी-ऑक्सीडेंट होता हैं, जो समय से पहले नज़र आने वाले बुढ़ापे को दूर करता हैं. यह फ्री रेडिकल्स डैमेजिंग को रोकता हैं, जिससे रिंकल्स, स्किन पर नज़र आने वाली बारीक लाइन्स और धाग-धब्बे दूर होते हैं. त्वचा को बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने के लिए तांबे के बर्तन में स्टोर किया गया पानी पिए.

कहते हैं की जो पानी ज़्यादा पीता हैं उसकी स्किन पर अधिक उमर की झुर्रिया दिखाई नही देती हैं.

यह बात एकदम सही हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं की अगर तांबे के बर्तन में जल रखकर पिए तो इससे त्वचा का ढीलापन आदि दूर हो जाता हैं. डेड स्किन भी निकल जाती हैं और चेहरा हमेशा दमकता हुआ दिखाई देता हैं.

सूजन से दिलाए राहत

तांबे के बर्तन में एंटी-इनफ्लमेटरी गुण होते हैं जो शरीर में होने वाले दर्द, ऐंठन और सूजन की समस्या को दूर करते हैं. आर्थराइटिस की समस्या से निपटने में यह बहुत ही फायदेमंद होते हैं.

गठिया (आर्थराइटिस) में होता हैं फायदेमंद

आजकल कई लोगो को कम उम्र में ही गठिया और जोड़ो के दर्द की समस्या सताने लगी हैं. यदि आप इस समस्या से परेशान हैं तो तांबे के पात्र का पानी पिए.

गठिया की शिकायत होने पर तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पीने से लाभ मिलता हैं. तांबे के बर्तन में ऐसे गुण आ जाते हैं, जिससे बॉडी में यूरिक एसिड कम हो जाता हैं जो गठिया और जोड़ो की सूजन में होने वाले दर्द में राहत देता हैं.

थाइरोइड में आराम

Thyroxin हॉर्मोन के असंतुलन के कारण से थाइरोइड की बीमारी होती हैं. थाइरोइड के मुख्य लक्षणों में तेज़ी के साथ वजन बढ़ना या घटना, अधिक थकान महसूस होना आदि हैं. थाइरोइड एक्सपर्ट्स मानते हैं की कॉपर के टच वाला पानी शरीर में थाईरॉक्साइन हॉर्मोन को बॅलेन्स करता हैं.

थाइरोइड की समस्या को दूर करने में तांबे में मौज़ूद मिनरल्स बहुत ही ज़्यादा उपयोगी होते हैं. तांबे की कमी से थाइरोइड ग्लैंड सही तरीके से काम नही करता. इससे दिल, दिमाग़, लिवर और किडनी प्रभावित होते हैं. इनकी सही फंक्शनिंग के लिए तांबे के बर्तन में जमा किए गये पानी का इस्तेमाल करना चाहिए.




Loading...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

प्रोटीन ड्रिंक से क्या नुकसान होते हैं?
प्याज खाने के 10 अनमोल फायदे.
तेज पत्ते के घरेलु नुस्खे और फायदे के बारे में जानिए.
बर्फ वाला पानी पीने के नुकसान क्या हैं और इसे क्यों नहीं पीना चाहिए?
प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स और वसा की कितनी मात्रा लेनी चाहिए?
डेंगू से बचने में मदद करता हैं बकरी का दूध।
ज्यादा अदरक की चाय पीने से होते हैं यह नुकसान।
नाखून को काटने से सेहत को होने वाले फायदे के बारे में जानिए।
काले नमक वाला पानी पीने से होते हैं यह फायदे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *