तिल के लड्डू खाने के फायदे जानिए।

तिल और गुड़ के बने लड्डू खाने के फायदे

तिल और गुड़ के मिश्रण से लड्डू बनाये जाते हैं। इस तिल वाले लड्डू को विशेष करके सर्दियों के दिनों में खाया जाता हैं। वैसे भी ठंड के दिनों में तिल से बनाये गये गजक, रेवड़ी, चिक्की आदि बाज़ार में आसानी के साथ मिलने लगते हैं। लेकिन आज हम आपको तिल और गुड़ के मिश्रण से बनाये गये तिल के लड्डू खाने के फायदे के बारे बताने जा रहे हैं।

तिल लड्डूओं का सेवन सर्दियों के दिनों में करने से एक तो शरीर गर्म रहता हैं। दूसरा इससे शरीर में ताकत भी आती हैं। तिल तीन तरह के होते हैं, लाल, सफ़ेद और काले। लाल तिल का इस्तेमाल कम ही किया जाता हैं। वैसे तो सफेद तिल से ही लड्डू बनाये जाते हैं। तिल में कैल्शियम और आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। साथ ही तिल प्रोटीन, कॉपर, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट और विटामिन बी-काम्प्लेक्स का बढ़िया स्रोत भी हैं। तिल तो अपने आप में सेहत के लिए कुदरत का दिया हुआ वरदान है। लेकिन जब इसे गुड़ के साथ मिला कर खाया जाता हैं, यानी की इसके लड्डू बना कर खाए  तो इसके फायदे दुगने हो जाते हैं।

तिल के लड्डू खाने के फायदे :-

■ टेंशन दूर करे

तिल के लड्डू नियमित रूप से खाने से टेंशन दूर होती हैं। साथ ही अनिद्रा और थकान जैसी समस्याओं से भी छुटकारा मिलता हैं।

■ दिमाग के लिए फायदेमंद

इसमें विटामिन बी-काम्प्लेक्स, कैल्शियम और प्रोटीन उचित मात्रा में होते हैं। रोजाना 50 ग्राम तिल के सेवन से शरीर के लिए जरूरी दैनिक कैल्शियम की मात्रा प्राप्त होती हैं। तिल के लड्डुओं को खाने का सबसे बड़ा लाभ यह हैं की इससे मानसिक कमजोरी दूर होती हैं। साथ ही दिमाग को ज़बरदस्त लाभ होता हैं। यह टेंशन को खत्म करता हैं।

जरूर पढ़े :- दिमाग को तेज़ करने वाले फूड।

■ कब्ज़ दूर करे

तिल फाइबर का अच्छा स्रोत हैं। इसलिए तिल और गुड़ के मिश्रण से बनाये गये चिक्की को खाने से कब्ज़ की बीमारी में फायदा होता हैं। यह कब्ज़ को दूर करता हैं और जिससे पेट पूरी तरह से साफ हो जाता हैं।

■ एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

तिल और गुड़ दोनों ही एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरे हुए हैं। तिल के लड्डुओं को खाने से शरीर को वायरस, बैक्टीरिया आदि से लड़ने में मदद मिलती हैं। साथ ही इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट एंटी-एजिंग का काम करते हैं, जिससे आप लम्बे समय तक जवान बने रहते हैं।

■ कैंसर के खतरे को कम करे

जैसा की आपने उपर जाना की तिल के लड्डू एंटीऑक्सीडेंट से भरे हुए हैं। साथ ही इसमें एंटी-कैंसर तत्व भी पाए जाते हैं। ऐसे में इनका नियमित रूप से सेवन करने से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बचने में मदद मिलती हैं।

■ गठिया की बीमारी में फायदेमंद

अगर आप गठिया के मरीज़ हैं तो प्रतिदिन तिल और गुड़ से बनाए गये लड्डू को जरूर खाए। सर्दियों के दिनों में गठिया की बीमारी और भी ज्यादा दर्दनाक हो जाती हैं। गठिया के मरीजों को सर्दियों के दिनों में काफी ज्यादा सूजन हो जाती हैं। ऐसे में उन्हें तिल का लड्डू जरूर खाना चाहिए। इससे गठिया में होने वाली सूजन और दर्द को कम करने में मदद मिलती हैं।

जरूर पढ़े :- गठिया की बीमारी होने पर क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए? 

■ कैल्शियम का स्रोत

तिल के लड्डू कैल्शियम के बेहतरीन स्रोत हैं। इनके सेवन से हड्डियाँ मजबूत बनती हैं। सिरदर्द दूर होता हैं और PMS सिंड्रोम जैसी बिमारियों की रोकथाम में मदद मिलती हैं।

■ स्किन के लिए फायदेमंद

यह विटामिन बी और विटामिन ई का भी अच्छा सोर्स हैं। जिससे स्किन लम्बी उम्र तक ग्लोइंग और यंग बनी रहती हैं। सर्दियों के मौसम में तिल के लड्डूओं को खाने से आप लम्बी आयु तक जवां दिखाई देते हैं। बुढ़ापे का असर आपके चेहरे पर कम होने लगता हैं और आपकी जवानी बरकरार रहती है।

जरूर पढ़े :- हमेशा जवां बने रहने के लिए जरूर खानी चाहिए यह चीज़े।

■ सोडियम की मात्रा को कण्ट्रोल करे

एक रिसर्च के अनुसार तिल को खाने से शरीर में सोडियम की मात्रा को कम करने में मदद मिलती हैं। इसलिए तिल के लड्डूओं का सेवन करने से ब्लड प्रेशर को कम करने में आसानी होती हैं।

■ डायबिटीज में फायदेमंद

एक रिसर्च के अनुसार तिल डायबिटीज के मरीजों के लिए जो टाइप-2 डायबिटीज के रोगी हैं, उनके लिए औषिधि की तरह काम करता हैं।

■ सर्दी-जुकाम दूर करे

सर्दियों के दिनों में ठण्ड के कारण आपको कफ, सीने में जमाव, साइनस आदि की समस्याएं हो जाती हैं। इन सभी परेशानियों को दूर करने के लिए तिल के लड्डू का सेवन करे। तिल के लड्डूओं को खाने से शरीर अंदर से गर्म रहता हैं और ठण्ड से बचने में मदद मिलती हैं। साथ ही इससे सर्दी-जुकाम जैसी प्रॉब्लम से छुटकारा मिलता हैं।

जरूर पढ़े :- सर्दियों में ठंड से बचने और शरीर को गर्म रखने के लिए क्या खाए? 

■ दांतों के लिए लाभकारी

तिल मसूड़ो से खून आने की समस्या से निजात दिलाता हैं, साथ ही दांतों की सड़न दूर करता हैं। तिल का सेवन करने से दांत जड़ों से मजबूत बन जाते है, साथ ही मसूड़ों भी स्वस्थ्य बने रहते हैं।






इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *