नीम के इस्तेमाल से डेंगू बुखार को कम करने और इससे बचने का तरीका।

नीम के इस्तेमाल से डेंगू बुखार को कम करने और इससे बचने का तरीका।

डेंगू मच्छरों के काटने से होने वाला वायरल बुखार हैं। यह एडीज नाम के मच्छरों के काटने की वजन से होता हैं। डेंगू होने पर मसल्स और जोड़ो में दर्द, रैशेज, बुखार और सिरदर्द की समस्याएं होने लगती हैं। इसके अलावा डेंगू के मरीज़ को थकान और कमजोरी भी आ सकती हैं। डेंगू से बचने के तरीके की बात करे तो इसमें नीम काफी ज्यादा उपयोगी हैं। नीम के पत्ते बॉडी की इम्युनिटी को बढ़ा देते हैं। नीम की पत्तियों का इस्तेमाल पुराने जमाने से ही कई सारी बिमारियों को दूर करने के लिए किया जाता रहा हैं। आइये जानते हैं डेंगू को ख़त्म करने या इससे बचने के लिए नीम का कैसे इस्तेमाल करे?

नीम के इस्तेमाल से डेंगू बुखार से बचने और इसे दूर करने के तरीके :-

■ नीम की पत्तियों का सेवन करे

रोजाना नीम के पत्ते खाने से शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं। इससे शरीर के ज़हरीले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और खून साफ बनता हैं। डेंगू के बुखार को कम करने का आसान तरीका नीम की पत्तियों को चबाना भी हैं।

■ नीम की पत्तियों का धुँआ करे

डेंगू बुखार से बचने का तरीका यह भी हैं की आप मच्छरों को घर से बाहर भगा दे। मच्छरों को घर से बाहर भगाने के लिए आप सूखे नीम की पत्तियों को जलाये और इसका धुँआ पुरे घर में फैला दे। इससे डेंगू को फैलाने वाले मच्छर मर जायेंगे या फिर घर से बाहर दूर भाग जाते हैं।

■ नीम का पानी बना कर पीजिये

Nimbidin और Nimbin नाम के 2 रसायन नीम की पत्तियों में पाए जाते हैं। यह एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-इन्फ्लेमेंट्री और एंटी-प्योरेटिक असर के लिए जाने जाते हैं। दिन में 2 से 3 मर्तबा नीम का पानी पीने से ब्लड प्लेटलेट्स की संख्या में वृद्धि होती हैं। क्योंकि डेंगू का बुखार होने पर ब्लड प्लेटलेट्स बहुत ही तेज़ी के साथ कम होने लगते हैं, जिसे नीम का पानी पी कर बढ़ाया जा सकता हैं।

■ नीम के तेल का इस्तेमाल करे

मच्छरों से बचने के लिए नीम का तेल काफी बढ़िया उपाय हैं। इसे शरीर पर लगाने से डेंगू के मच्छर आपसे दूर रहते हैं।

■ पपीते के पत्ते का रस और नीम का रस पिए

नीम के पत्तियों का रस और पपीते के पत्तों का रस बराबर मात्रा में मिला कर पीने से डेंगू के बुखार को कम करने में मदद मिलती हैं।






इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *