नीम के बीज के 10 फायदे जानिए।

नीम के बीज के फायदे

नीम का पेड़ कुदरत का दिया हुआ वरदान हैं। नीम का इस्तेमाल ज्यादातर दातुन के रूप में किया जाता हैं। नीम की पत्तियां भी औषधीय गुणों से भरी हुई होती हैं और कई सारी बिमारियों के इलाज में इनका इस्तेमाल किया जाता हैं। जब नीम के बीजों की बात आये तो भला यह कैसे पीछे रह सकते हैं। जी हाँ नीम के बीज के भी अपने फायदे हैं। नीम को आयुर्वेद में औषिधि माना गया हैं। इसका इस्तेमाल पिछले 4000 से ज्यादा वर्षों से किया जा रहा हैं। आज हम नीम के बीज के फायदे जानेंगे। जी हाँ नीम के बीज फायदे के बारे में जानकर आपको अच्छा लगेगा और आपके ज्ञान में वृद्धि भी होगी। Health Benefits of Neem Seeds in Hindi.

नीम के बीज से होने वाले 10 लाभ :-

1. कीटनाशक का काम करे

जैविक खेती में फसलों को कीटों से बचाने के लिए नीम के बीजों से निकाले गये तेल का इस्तेमाल किया जाता हैं। इसके अलावा नीम के बीजों को रात भर पानी में भिगोया जाता हैं और सुबह इसका छिड़काव फसलों पर किया जाता हैं। जिससे फसलो में लगे कीड़े-मकौड़े के अंडे समाप्त हो जाते हैं और कीट भी मर जाते हैं। यानी की नीम के बीज का इस्तेमाल कीटनाशक के रूप में ही किया जा सकता हैं। एक बार में इसका छिड़काव होने पर कीट कुछ ही दिनों में नष्ट हो जाते हैं। इसके अलावा नीम के बीजों से बने हुए कीटनाशक फसलों के लिए भी अच्छे होते हैं, क्योंकि इनमे किसी केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया गया होता हैं।

2. मच्छरों को दूर भगाए

रिसर्च की माने तो पीसे हुए नीम के बीजों की महक से मलेरिया फैलाने वाले मच्छर दूर भाग जाते हैं। यह उन्हें अंडे देने से रोकता हैं। नीम के बीजों से निकाला हुआ तेल मच्छरों को अंडे देने से रोकता हैं और उन्हें घर से दूर भगाता हैं। जिससे मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियाँ होने का ख़तरा काफी कम हो जाता हैं।

3. पिस्सुओं को मारे

अगर आपके पालतू जानवरों जैसे की कुत्ते या बिल्ली पर पिस्सू (कीड़े) लग गये हैं। तो उनके बालों पर नीम के बीजों से निकाला गया नीम का तेल लगाये। इससे पालतू जानवर को लगे पिस्सू मर जाते हैं और उनके बाल भी हेल्दी बनते हैं। नीम के बीजों से निकाला गया तेल pets को कोई बिना कोई नुकसान पहुचाये, पिस्सुओ को ख़त्म करता हैं।

4. स्किन के लिए फायदेमंद

नीम के बीजों से निकाला गया तेल स्किन के लिए फायदेमंद हैं। इसका इस्तेमाल साबुन, लोशन, क्रीम, फेस वाश आदि बनाने के लिए किया जाता हैं। यह एंटी-फंगल और एंटी-सेप्टिक गुणों से भरा हुआ हैं। इसके इस्तेमाल से स्किन से जुड़ी कई सारी समस्याएं जैसे की एक्जिमा, सोरेसिस, दाद, खाज-खुजली, मुहांसे आदि दूर हो जाते हैं। इससे स्किन के दाग-धब्बे भी मिट जाते हैं और स्किन हेल्दी और ग्लोइंग बनती हैं।

5. कीड़े मारता हैं

नीम के बीज का तेल कीड़ों को मारता हैं। बाग़-बगीचों में कई तरह के कीड़े जैसे की टिड्डा, झींगुर, घुन, झल्ली आदि पौधों को नुकसान पहुचा सकते हैं। इसके अलावा घरो में कॉकरोच, चींटियाँ, दीमक, खटमल, मक्खी जैसे कीड़े-मकौड़े आपको हानि पंहुचा सकते हैं। ऐसे में नीम के बीजों से निकाले गये तेल के इस्तेमाल से कीड़ो से मुक्ती मिलती हैं।

6. कई सारी बिमारियों का उपचार

नीम के पत्तों और बीजों के मिश्रण से चाय बना कर पिए। वैसे तो यह पीने में काफी ज्यादा कड़वा होगा और इसे पीना मुश्किल लगेगा। लेकिन यह सेहत के लिए फायदेमंद रहता हैं। इस नीम वाली चाय को पीने से प्रोस्टेट, मूत्राशय और किडनी से जुड़ी कई सारी बिमारियों को ख़त्म करने में मदद मिलती हैं। इसका इस्तेमाल पुराने जमाने से किया जाता रहा हैं और अच्छी बात यह हैं की यह उपाय आज के जमाने में भी काम करता हैं।

7. बालों के लिए फायदेमंद

हर्बल शैम्पू को बनाने के लिए नीम के तेल का इस्तेमाल किया जाता हैं। जिस शैम्पू में नीम के तेल डाला गया हो, उसके प्रयोग से बाल मजबूत बनते हैं। इससे बालों का झड़ना रूक जाता हैं और बाल असमय सफ़ेद भी नहीं होते हैं। अगर बालों को मजबूत, चमकदार और घना बनाना चाहते हैं तो नीम के बीजों से निकाला हुआ तेल बालों में लगाए।

8. परिवार नियोजन का काम करे

नीम परिवार नियोजन करने में भी मददगार होती हैं। स्त्रियों में प्रेगनेंसी रोकने के लिए नीम के तेल का इस्तेमाल लुब्रिकेंट के रूप में किया जाता हैं। अगर आप परिवार बढ़ाने की सोच रहे तो आपको नीम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसके अलावा गर्भवती महिलाएं भी नीम के सेवन से बचे।

9. मिट्टी को पोषण प्रदान करे

नीम के बीजों से तेल निकालने के बाद जो अवशेष बचता हैं, उससे नीम की टिकिया बनाई जाती हैं। इस नीम की टिकिया को मिट्टी में मिलाने से मिट्टी को पोषक तत्वों की प्राप्ति होती हैं। यह मिट्टी में नाइट्रोजन की कमी नहीं होने देता हैं, क्योंकि यह नाइट्रीकरण को रोकता हैं।

10. आँखों और कानो के लिए उपयोगी

नीम के बीज के सत्व का इस्तेमाल आँखों और कानों के लिए ड्रॉप्स और मरहम बनाने के लिए किया जाता हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण पाया जाता हैं जो आँखों और कानों में इन्फेक्शन पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ता हैं। एक्सपर्ट्स की माने तो नीम के बीजों के सत्व से बने ड्रॉप्स और ointment , आँखों और कानों में वायरस और बैक्टीरिया की वजह से हुए इन्फेक्शन को दूर करने में ज्यादा कारगर होते हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...