नेल पोलिश लगाने के नुकसान

नेल पोलिश लगाने के नुकसान

महिलाएं सुन्दर दिखने के लिए नेल पोलिश का इस्तेमाल ज़रूर ही करती हैं। लेकिन क्या आपको मालूम हैं की ब्यूटी प्रॉडक्ट के रूप में पहचान बना चुकी नेल पोलिश भी ख़तरनाक साबित हो सकती हैं। जानिए नेल पोलिश में कितने ख़तरनाक केमिकल्स होते हैं जो आपको नुकसान पहुचा सकते हैं। नेल पोलिश लगाने के नुकसान।

Nail polish lagane ke nuksan. Side effects of Nail Polish in Hindi.

नेल पोलिश लगाने के नुकसान :-

दरअसल नेल पोलिश में मौज़ूद केमिकल्स आँखों और त्वचा के सम्पर्क में आने पर सेहत पर बहुत बुरा असर डालते हैं। नेल पोलिश या किसी भी दूसरे कलरफुल ब्यूटी प्रॉडक्ट को बनाने के लिए Formaldehyde केमिकल का इस्तेमाल होता हैं, यह केमिकल ब्यूटी प्रॉडक्ट को चिपचिपा बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं। स्किन के सम्पर्क में आने से आपको खुजली की प्राब्लम हो जाती हैं। इससे एलर्जी भी हो सकती हैं।

नेल पोलिश में Phthalates नाम का एक ऑयली केमिकल होता हैं, जो लगाते वक़्त इसमे क्रैक नही पड़ने देता हैं। लेकिन जब यह आँखो और मूंह के सम्पर्क में आता हैं तो इन्फेक्शन होने का ख़तरा बढ़ जाता हैं। इसकी वजह से नाक और गले के इन्फेक्शन होते हैं।

नेल पोलिश में Toluene केमिकल सबसे ख़तरनाक केमिकल होता हैं। इसका इस्तेमाल सभी केमिकल को एक साथ मिक्स करने के लिए किया जाता हैं। टोल्यूनि से दिमाग़ को सबसे ज़्यादा नुकसान होता हैं। ज़्यादा देर तक टोल्यूनि सूंघने से ब्रेन सेल्स मर जाते हैं। टोल्यूनि का इस्तेमाल दीवार और गाडियो को रंगने वाले पैंट में भी इस्तेमाल किया जाता हैं।

यही वजह हैं की दिवार और गाडियो को रंगते वक़्त लोग मास्क पहनते हैं। इसलिए नेल पोलिश भी पैंट की तरह ही ख़तरनाक हैं तो अगली बार जब आप इसे लगती हैं तो इसे अपनी आँख, स्किन, नाक और मूंह से दूर रखे, हो सके तो नेल पोलिश लगते वक़्त मास्क पहने, यह एक अच्छा उपाय होगा। ।

नेल पोलिश लगाने वाली महिलाओं पर एक रिसर्च किया गया और पाया गया की नेल पोलिश लगाने से उन्हे क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं। :-

○ कैंसर होने का ख़तरा ;- Formaldehyde ऐसा केमिकल होता हैं जो कैंसर को पैदा करने वाला माना गया हैं। इससे कैंसर सेल्स बनते हैं।

यह भी पढ़े :- ब्रेस्ट कैंसर से बचने के तरीके।

○ रीढ़ की हड्डी पर असर पड़ता हैं :– ऐसे ज़हरीले केमिकल होते हैं जो डाइरेक्ट ब्रेन पर असर डालते हैं। इसके अलावा यह रीढ़ की हड्डी को भी नुकसान पहुचते हैं। नर्वस सिस्टम को भी नुकसान पहुचाने के लिए यह केमिकल जाना जाता हैं।

Triphenyl phosphate होता हैं :- नेल पोलिश के लेबल पर कंही भी Triphenyl phosphate का ज़िक्र नही किया जाता हैं। लेकिन हकीकत यह हैं की नेल पोलिश बनाने के लिए यह ज़हरीला केमिकल इस्तेमाल होता हैं।

यह भी पढ़े :- बॉडी को डीटोक्स करने के तरीके।

○ गले का इन्फेक्शन :- नेल पोलिश लगाने का सबसे बुरा साइड-एफेक्ट गले के संक्रमण के तौर पर सामने आता हैं। नेल पोलिश लगाने के 10 घंटे बाद गले में खराश और सूजन जैसे लक्षण देखे जा सकते हैं। इसके अलावा स्किन में खुजली भी हो सकती हैं।

○ छोटे बच्चो के लिए हानिकारक :- नेल पोलिश में पाया जाने वाला टोलयुन केमिकल माँ के दूध के साथ मिल जाता हैं। ब्रेस्ट फीडिंग करवाने वाली माओ से यह बच्चे में चला जाता हैं। इससे बच्चे के विकास पर डाइरेक्ट असर पड़ता हैं।

○ ब्रेन पर बुरा असर डाले :- इसमे पाए जाने वाले केमिकल जब बॉडी के अंदर चले जाते हैं तो दिमाग़ और नर्वस सिस्टम पर बुरा असर डालते हैं। पेट के पाचन तंत्र और हॉर्मोन सिस्टम में गड़बड़ी पैदा कर देते हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...