पथरी होने के लक्षण और इससे बचने के तरीके और उपाय।

पथरी होने के लक्षण और इससे बचने के तरीके और उपाय।

पथरी होने की बीमारी बड़ी तेज़ी के साथ फैल रही हैं। जहा पथरी के रोगी कभी कभी देखने को मिलते थे आज हर दूसरा आदमी इस रोग से पीड़ित होता हैं। किडनी स्टोन एक ऐसी बीमारी हैं जिसमे भयानक दर्द को सहना पड़ता हैं। आमतौर पर पत्थरी हर उम्र के लोगो में पाई जाती हैं, लेकिन यह बीमारी स्त्रियों के मुकाबले पुरुषो को ज्यादा होती हैं।

पथरी होने के लक्षण क्या हैं ?

उल्टी होना, कब्ज़ या दस्त लगातार बने रहना, बैचनी, थकावट, पेट में तेज़ दर्द कुछ मिनटों या कई घंटो तक बने रहना। पेशाब करने में दर्द होना, पेशाब रूक रूक कर आना, रात के वक़्त ज्यादा पेशाब आना, मूत्र सम्बंधित इन्फेक्शन का होना, बार-बार और एकदम से पेशाब आना, पेशाब में खून आना, पेशाब का रंग गहरा पीला या भूरा होना, पत्थरी होने के लक्षण होते हैं।

पथरी से बचने के तरीके और टिप्स :-

• विटामिन सी वाले फ़ूड भरपूर मात्रा में खाए।

• हर महीने में 5 दिन एक छोटा चम्मच अजवाइन लेकर उसे पानी से निगले।

• सोयाबीन, मूंगफली, पालक और चॉकलेट को ज्यादा मात्रा में न खाए।

• जरूरत से ज्यादा कोलड्रिंक न पिए।

• खाने में प्रोटीन, नाइट्रोजन और सोडियम की मात्रा कम ले।

• संतरे का जूस पीने से स्टोन होने का खतरा कम हो जाता हैं।

पथरी को ख़त्म करने के कुछ घरेलु नुस्खे :-

► एक मूली को खोखला करके उसमे 20-20 ग्राम शलगम और गाजर का बीज भर दे। फिर मूली को भून ले और मूली में से बीजो को निकाल कर पीस कर पाउडर बना ले। अब एक महीने तक सुबह इन बीजो के चूर्ण की 5-6 ग्राम मात्रा पानी के साथ ले, इससे पथरी में बहुत ज्यादा फायदा होता हैं।

► जीरे को शहद या मिश्री के साथ लेने से पत्थरी गल कर मूत्र के जरिये बाहर निकल जाती हैं।

► रोजाना एक गाजर खाने से मूत्र पिंड में फसी हुयी पथरी भी बाहर निकल जाती हैं।

► तुलसी के बीजो को हिमगिरा दानेदार शक्कर और दूध के साथ लेने से भी पथरी निकल जाती हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *