प्रेगनेंसी के समय उल्टी रोकने के घरेलु नुस्खे और उपाय।

प्रेगनेंसी के समय उल्टी रोकने के घरेलु नुस्खे और उपाय।

गर्भावस्था के समय गर्भवती महिलाओं को अनेक प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ता हैं। यह एक ऐसा समय होता हैं, जिसमे गर्भवती महिला को उल्टी और मतली आती ही हैं। वैसे तो प्रेगनेंसी के शुरुवाती दौर में ही गर्भवती महिलाओं को उल्टियाँ और मतली आती हैं। लेकिन इससे उन्हें काफी परेशानी महसूस होती हैं।

दिन की शुरुवात होने के बाद सुबह के समय गर्भवती महिला को सिरदर्द होना, पुरे दिन मिचली आना और उल्टी होना आम बात हैं। गर्भावस्था के दिनों में गर्भवती महिलाओं को शुरुवाती दौर में उलटी और मतली क्यों आती हैं? इसके बारे में सही तरह से पता नहीं चल पाया हैं। लेकिन जानकारों का यह मानना हैं की प्रेगनेंसी पीरियड में महिला में शारीरिक और मानसिक परिवर्तन आते हैं, साथ ही शरीर के अंदर हॉर्मोन्स काफी तेज़ी के साथ बढ़ते हैं, जिससे शरीर के अंगो पर तनाव आने लगता हैं और परिणामस्वरूप उल्टी और मतली आने लगती हैं।

गर्भवती महिला को ज्यादातर सुबह के समय और शाम के समय उल्टियां होती हैं। डॉक्टर्स के अनुसार प्रेगनेंसी में उल्टी आना अच्छी बात हैं, क्योंकि इससे यह पता चलता हैं की बच्चे का विकास सही तरह से हो रहा हैं। लेकिन जब गर्भवती महिला को ज्यादा उल्टी आने लगे तो डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए। वैसे तो गर्भावस्था के दौरान उल्टी रोकने के कई सारे घरेलु नुस्खे और उपाय भी मौजूद हैं, जिनके इस्तेमाल से प्रेगनेंसी के दौरान उल्टी और मतली को बंद करने में मदद मिलती हैं। आज के लेख में गर्भावस्था के दिनों में उल्टी रोकने या बंद करने के उपयोगी घरेलु नुस्खे, उपाय और उपचार आदि के बारे में चर्चा करेंगे, इन घरेलु नुस्खों का इस्तेमाल करके गर्भवती महिलाएं उलटी आने की समस्या को दूर कर सकती हैं और अच्छी बात हैं यह की इन घरेलु उपायों के साइड-इफ़ेक्ट भी न के बराबर हैं। Best Home Remedies to stop Vomiting in Pregnancy (Tips in Hindi.)

प्रेगनेंसी में उल्टी रोकने या कम करने के तरीके, उपाय और घरेलु नुस्खे :-

नींबू का इस्तेमाल करे

नींबू अपने प्रकृतिक गुणों से उलटी और मतली को रोकने का काम करता हैं। इसके लिए गर्भवती महिलाओं को निम्बू का इस्तेमाल उल्टी और मतली आने की समस्या से बचने के लिए जरूर करना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को सुबह के समय एक गिलास पानी में नींबू का रस और थोड़ा सा शहद मिला कर पीना चाहिए। इससे उल्टी आना बंद हो जाता हैं। नींबू में उपस्तिथि विटामिन सी गर्भवती महिला और उसके होने वाले बच्चे को भी फायदा पहुचाता हैं।

विटामिन बी-6 से भरपूर चीजों का सेवन करे

विटामिन बी-6 प्रेगनेंसी के समय बहुत ही जरूरी तत्व होता हैं। इससे प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली मतली और उल्टी से बचने में मदद मिलती हैं। विटामिन बी-6 केला, चावल, एवोकाडो, मछली, भुट्टा और बादाम आदि में प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। इसके अलावा आप डॉक्टर की सलाह से इसका सप्लीमेंट भी ले सकती हैं।

अदरक का इस्तेमाल करे

अदरक गर्भावस्था के समय होने वाली उल्टियों को रोकने का कारगर तरीका हैं। इससे पाचन तंत्र सही बना रहता हैं और पेट में बन रहे एसिड शांत रहते हैं। जब भी उल्टी आने की सम्भावना हो, तो आप अदरक को सूंघे, अदरक की खुशबू से उल्टी आनी रूक जाती हैं। इसके अलावा आप अदरक के ताज़े टुकड़े पर नमक छिड़क कर चूसे, या अदरक के जूस में नींबू का रस मिला कर ले। इससे भी प्रेगनेंसी के समय आने वाली उल्टी को रोकने में मदद मिलती हैं।

पानी थोड़ा थोड़ा करके पीते रहना चाहिए

प्रेगनेंसी के समय मतली और उल्टी की समस्या से निजात पाने का आसान तरीका हैं की प्रत्येक एक घंटे के अंतराल पर एक गिलास पानी जरूर पीते रहे। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी और प्रेगनेंसी के दौरान पानी की जरूरत भी पड़ती हैं। रात को सोने से पहले बिस्तर के पास एक गिलास पानी जरूर रख कर सोये। जिससे आपको जब भी प्यास लगे, तो आप आसानी के साथ पानी पी सकती हैं। साथ ही सुबह उठते ही पानी पीजिये, इससे सुबह के समय होने वाली उल्टी से बचने में मदद मिलती हैं।

सौंफ का सेवन करे

गर्भवती महिलाओं को सौंफ का सेवन करने से उल्टी और मतली आने की समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती हैं। सौंफ खाने से पाचन तंत्र दुरुस्त बनता हैं, जिससे उल्टी आने की सम्भावना काफी कम होने लगती हैं। इसलिए गर्भवती महिला को हमेशा अपने पास सौंफ जरूर रखना चाहिए और थोड़ी-थोड़ी देर में सौंफ को चबाते रहना चाहिए। इसके अलावा आप गर्म पानी में एक चम्मच सौंफ डाल कर उबाल ले और इसे छान कर पिए। आप चाहे तो सौंफ वाले पानी में निम्बू का रस या फिर शहद भी मिला कर पी सकती हैं। यह भी उल्टी रोकने का कारगर तरीका हैं।

पुदीना भी हैं उपयोगी

गर्भावस्था के दिनों में पुदीने का सेवन करने से उल्टी आनी कम हो जाती हैं। इसके लिए कुछ पुदीने की पत्तियों को गर्म पानी में डाल कर उसमे चीनी या शहद मिला कर 5 मिनट तक उबालना चाहिए। यह एक किस्म की पुदीने की चाय बन जाएगी जो गर्भावस्था के दौरान आने वाली उल्टी और मतली को दूर करती हैं। इस उपाय को सुबह के समय अजमाए, और पुदीने की यह स्पेशल चाय सुबह के समय जरूर पिए, क्योंकि सुबह के समय ही प्रेग्नेंट महिला को ज्यादा उल्टियाँ आती हैं। इससे उल्टी आना रूक जाता हैं। लेकिन कई गर्भवती स्त्रियों को पुदीने की खुशबू से एलर्जी होती हैं, जिसके चलते उन्हें और भी ज्यादा उल्टियाँ आने लगती हैं, ऐसी स्तिथि में आपको पुदीने का सेवन करने से परहेज़ ही करना चाहिए।

प्रेगनेंसी पीरियड में उल्टी रोकने के अन्य उपाय :-

भोजन करने के पश्चात थोड़ा सा अजवाइन जरूर खाना चाहिए। इससे मिचली और उल्टी आना बंद हो जाते हैं।

आधा चम्मच जीरे के पाउडर में आधा चम्मच शहद और इमली मिलाये। इस मिश्रण को सुबह उठते ही खाए, इससे उल्टी आने की समस्या काफी हद तक कम हो जाती हैं। यह उल्टी से निजात पाने का अचूक तरीका हैं।

एक चम्मच तुलसी के पत्तियों का रस पीने से भी गर्भावस्था के दिनों में होने वाली उल्टी की समस्या दूर होती हैं।

2 चम्मच मीठी नीम (करी पत्ता) के जूस में एक चम्मच नींबू का रस और शहद मिला कर पीना चाहिए। इसे आप सुबह के समय नाश्ता करने से पहले ही पिए या फिर जब आपको उल्टी महसूस हो तो तब इसका सेवन करे। इससे उल्टी की समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती हैं। इस मिश्रण का सेवन करने से पाचन तंत्र भी ठीक रहता हैं।

सुबह उठने से पहले ही बिस्कुट या टोस्ट खाने से पेट में हो रही बेचैनी को कम करने में मदद मिलती है और बिस्तर से उठने के बाद उल्टी नहीं होती होती हैं।

प्रेगनेंसी में उल्टी से बचने का रामबाण तरीका हैं की आप दिन में 2 बार आंवले का मुरब्बा खाए। इससे उल्टी आने की समस्या से भी निजात मिलेगा और आप हेल्दी भी रहेंगी।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *