फल खाना और फलों का जूस पीना, दोनों में से कौन हैं सेहत के लिए ज्यादा अच्छा?

फल खाना और फलों का जूस पीने में क्या ज्यादा अच्छा होता हैं? Whole Fruits Vs Fruit Juice Which is better?

जो लोग सुबह की शुरुवात फलों का जूस पी कर करते हैं, उन्हें सावधान हो जाने की जरूरत हैं। इससे आपका वजन तो कम होगा, लेकिन सेहत को नुकसान भी होता हैं। वैसे अमूमन लोग यह सोचते हैं की फलों के जूस में फलों के जितना ही पोषक तत्व पाया जाता हैं। जो की एक गलत फहमी हैं। क्योंकि फल खाना, फलों के जूस पीने से काफी ज्यादा अच्छा होता हैं। यानी की हम यह कह सकते हैं की फलों का जूस पीने से हमें उतना फायदा नही मिल पाता हैं, जितना फायदा हमें फल खा कर मिलता हैं।

फलों का जूस पीने से नुकसान भी हो सकते हैं। दरअसल फलों के जूस में फाइबर की कमी हो जाती हैं। जबकि फल खाने से फाइबर प्रचुर मात्रा में शरीर को प्राप्त होता हैं। इसलिए एक्सपर्ट्स का यह मानना हैं की जूस पीने की बजाये, फल खाना ज्यादा बेहतर हैं। आइये जानते हैं फल खाना या जूस पीना दोनों में कौन सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता हैं। Whole Fruit Vs Fruit Juice which is better for health? (Tips in Hindi.)

■ जूस में शुगर ज्यादा मात्रा में होती हैं

अगर आप यह सोच कर जूस पी रहे हैं की यह सेहत के लिए फायदेमंद हैं तो यह जानकर आपको हैरानी होगी की, फलों के जूस में शुगर की मात्रा ज्यादा होती हैं। इसके अलावा जूस में फाइबर भी कम मात्रा में होता हैं। जिससे शरीर का ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। ज्यादा मात्रा में जूस पीने से आपको कई तरह की समस्याएं जैसे की थकान और चिडचिडापन आदि भी होने लगती हैं।

■ जूस पीने से वजन कम करने में मुश्किल आती हैं

अगर आप वजन कम करने का के लिए 4 संतरे का जूस निकाल कर पीते हैं। लेकिन आपकी पेट की भूख मिटती नहीं हैं और आप दोबारा से कुछ न कुछ खा लेंगे। इससे आपके वजन को कम करने वाला डाइट प्लान खराब हो जायेगा। इसलिए डाइटीशन का यह मानना हैं की डाइटिंग करने वाले लोगो को जूस न पीकर फल खा कर ही डाइटिंग करनी चाहिए।

■ दांतों के लिए फायदेमंद  हैं फलों का सेवन

फलों का जूस पीने से बॉडी में इंस्टेंट एनर्जी और पोषक तत्व भी प्राप्त होते हैं। लेकिन फिर भी जूस पीने के मुकाबले फल खाना ज्यादा अच्छा हैं। क्योंकि जब आप फलों को दांतों से काट कर खाते हैं तो इससे दांत और जबड़ों की कसरत भी हो जाती हैं और वे तंदरुस्त बने रहते हैं। इसलिए नाश्ते में फ्रूट जूस न पीकर, बल्कि फलों को सीधा ही खाए।

■ जूस जल्दी हजम हो जाता हैं

फ्रूट जूस बॉडी में जल्दी से पच जाता हैं और उससे प्राप्त एनर्जी भी जल्दी समाप्त हो जाती हैं। इससे शरीर में थकान महसूस होने लगती हैं। जबकि फलों को खाने से यह धीरे-धीरे करके पचते हैं और शरीर को लम्बे समय तक उर्जावान बनाये रखते हैं। इसलिए जूस पीने की बजाये, फल खाना ही ज्यादा अच्छा होगा।

क्या फिर जूस पीना पूरी तरह से  बंद कर देना चाहिए?

नहीं, ऐसा भी नहीं हैं की आप जूस पीना पूरी तरह से बंद कर दे। जूस पीना भी सेहत के लिए अच्छा होता हैं। लेकिन अगर आप तंदरुस्त हैं और आसानी के साथ फल खा सकते हैं तो आपको जूस पीने की बजाये, फल ही खाना चाहिए। इससे शरीर में फाइबर की प्राप्ति ज्यादा होती हैं। फल खाने से हाजमा दुरुस्त रहता हैं और बॉडी का मेटाबोलिज्म रेट सही बना रहता हैं। जबकि अगर आप फल खाने में असमर्थ हैं तो आप जूस पी सकते हैं।

फलों का जूस पीने के टिप्स :- फलों का ताज़ा जूस पीना चाहिए। जबकि डिब्बाबंद जूस सेहत के लिए नुकसानदायक होता हैं। इसलिए अगर आप जूस ही पीना चाहते है तो पैक्ड जूस न पिए, बल्कि फलों से ताज़ा जूस निकाल कर ही पिए।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *