बर्फ वाला पानी पीने के नुकसान क्या हैं और इसे क्यों नहीं पीना चाहिए?

बर्फ वाला पानी पीने के नुकसान क्या हैं? Side-Effects of Ice Cold water in Hindi. Barf wala paani kyon nahi peena chahiye, iske nuksan kya hain?

अपनी प्यास को बुझाने के लिए हम पानी पीते हैं। कई लोगो को बर्फ वाला पानी पीना बहुत अच्छा लगता हैं। लोग कहते हैं की गर्मी के दिनों में बर्फ वाला पानी पीने से शरीर में ठंडक मिलती हैं, लेकिन जनाब ठहरिये जरा! बर्फ वाला ठंडा पानी पीने के नुकसान के बारे में आप जानेंगे तो आप इसे न पीना ही पसंद करेंगे।

अगर आप बर्फ वाला पानी पीते हैं तो इससे आपकी सेहत को भी हानि होती हैं और आने वाले समय में आप बिमारियों को न्योता देते हैं। बर्फ वाला पानी चाहे पीने में मज़ा क्यों न आये, लेकिन यह शरीर के लिए नुकसानदेह ही होता हैं।

बर्फ वाला पानी क्यों नहीं पीना चाहिए?

बरफ वाला पानी इसलिए नहीं पीना चाहिए क्योंकि हमारे शरीर का तापमान 37 डिग्री सेल्सियस हैं, इसके अनुसार मनुष्य को 20 से 22 डिग्री सेल्सियस के तापमान वाला पानी ज्यादा फायदेमंद होता हैं। जबकि ज्यादा ठंडा पानी पीने से उसे पचाने में ज्यादा समय लगता हैं। बर्फ वाला पानी पीने से उसे पचाने में कम से कम 6 घंटे लगते हैं। पानी को उबाल कर ठंडा करके पीने या नार्मल ठण्डे पानी को 3 घंटे में पचाया जा सकता हैं। जबकि गुनगुना पानी सिर्फ 1 घंटे के अन्दर ही पच जाता हैं। इसलिए फ्रीज वाला या बर्फ वाला पानी नहीं पीना चाहिए।

इन सबके अलावा बर्फ वाला ठण्डा पानी पीने से क्या नुकसान होते हैं इसके बारे में जानते हैं। Side-Effects of Ice/fridge cold water in Hindi.

बर्फ वाला पानी पीने के नुकसान :-

प्रतिरक्षा प्रणाली पर बुरा प्रभाव

बर्फ वाला ठंडा पानी पीने से शरीर की इम्यून सिस्टम कमजोर बनता हैं। बर्फ वाला पानी पीने वाले लोगो को सर्दी-जुकाम जल्दी होने का खतरा ज्यादा रहता हैं। ठंडा पानी पीने से शरीर में बलगम जम जाता हैं। इसलिए बर्फ वाला पानी नहीं पीना चाहिए, वर्ना आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाएगी और आपको बीमारियाँ आसानी से अपना शिकार बना लेंगी।

पाचन क्रिया के लिए नुकसानदेह

ठंडा पानी पीने से उसे पचाने में ज्यादा समय लगता हैं, जिससे कारण ऐसा पानी पी लेने पर भूख लंगने की प्रक्रिया पर असर पड़ता हैं। बर्फ वाला ठंडा पानी पीने से खून की धमनियां सिकुड़ जाती हैं जिस कारण पाचन प्रतिबंधित हो जाता हैं और शरीर भी ठीक तरह से हाइड्रेट भी नहीं पाता हैं, जिससे खाने को पचाने में देरी लगती हैं। खाना खाने के तुरंत बाद ठंडा पानी या खाने के बीच बीच तो बिलकुल भी नहीं पीना चाहिए, क्योंकि आपका शरीर खाने को पचाने और उससे पोषण प्राप्त करने की बजाये शरीर की सारी एनर्जी बॉडी के टेम्परेचर को बैलेंस करने में खर्च कर देगा। इससे आपको काफी नुकसान होगा।

पोषण में कमी आती हैं

आपका शरीर खाने से ही पोषण को ग्रहण करता हैं, जब आप ठंडा पानी पीते हैं तो शरीर की उर्जा भोजन से न्यूट्रीएंट्स को सोखने की बजाये शरीर के तापमान को संतुलित करने में ख़त्म हो जाती हैं, इससे आपको वाटर लोस होता हैं।

बवासीर और आंत के रोग होने का खतरा

जब आप फ्रिज वाला या बर्फ वाला ठंडा पानी पीते हैं तो यह आंत में मल को जमा देती हैं। जिससे मल सख्त और कठोर हो जाता हैं, जिससे मल त्याग करने में परेशानी आती हैं और आपको बवासीर यानि की पाइल्स की बीमारी भी हो सकती हैं। इसके अलावा आपको आंतो में घाव भी हो सकते हैं।

शरीर की एनर्जी का बेकार में उपयोग होना

ज्यादा ठण्डा पानी पीने से शरीर की एनर्जी बॉडी के टेम्परेचर को बैलेंस करने में खर्च हो जाती हैं। हाँ यह बात सच हैं की कैलोरी बर्न करने के लिए ठंडा पानी ज्यादा असर करता हैं। लेकिन कैलोरी बर्न करने के और भी कई तरीके हैं, तो भला फ्रिज वाला ठण्डा पानी पीने की क्या जरूरत हैं? जिससे आपकी सेहत को नुकसान ही होता हैं।

फैट को हजम करने में शरीर को परेशानी

अगर आप ठण्डे पानी या किसी ठंडे पेय को पीते हैं तो वह भोजन में मौजूद फैट को पेट के अंदर जमा देता हैं, जिससे आपके शरीर को उसे हजम करने में दुगना मेहनत करना पड़ता हैं।

धमनियों पर बुरा प्रभाव

बर्फीला पानी पीने से शरीर की धमनियों पर बुरा प्रभाव पड़ता हैं और वे संकुचित यानि की सिकुड़ जाती हैं। जो की किसी भी हालत में सही नहीं माना जाता हैं।

उपरोक्त लिखी बातों को पढ़कर आपने जाना की बर्फ वाला पानी नहीं पीना चाहिए। बरफ वाले पानी पीने की बजाये नार्मल पानी ही पीना ज्यादा फायदेमंद रहेगा, इससे खाना भी जल्दी पचेगा, पेट भी अच्छी तरह से साफ होगा और शरीर के लिए भी यह फायदेमंद रहेगा। इसलिए बर्फ वाला पानी पीने से बचना चाहिए और नार्मल पानी ही पीना चाहिए।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *