बवासीर होने की वजह यह भी हैं

बवासीर यानि की पाइल्स क्यों होता हैं?

बवासीर होने के मुख्य लक्षण यह है की मलत्याग करने में परेशानी होती हैं, पेट के निचले हिस्से में दर्द होता हैं, मलत्याग करते समय खून निकलता हैं, कब्ज़ और खुजली होती हैं। वैसे बवासीर मुख्य रूप से पाचन तंत्र की खराबी की वजह से होते हैं। लेकिन कई ऐसे कारण भी हैं जो बवासीर होने की वजह बन जाते हैं।

बवासीर का इलाज करना बहुत ही जरूरी हैं। अगर आपने शुरू में ही इसका उपचार नहीं करवाया तो यह आगे चलकर रेक्टर अल्सर और कैंसर की वजह भी बन सकता हैं। आइये जानते हैं ऐसे कारण, जिनकी वजह से भी बवासीर यानि पाइल्स की समस्या हो सकती हैं।

बवासीर होने के मुख्य कारण :-

पेट में कब्ज़ होना

अगर आपके पेट में लगातार कब्ज़ बनी रहती हैं तो आपको इससे बवासीर भी हो सकता हैं। क्योंकि आंतो में फंसी टट्टी, गुदा की नसों को तोड़ देता हैं। क्योंकि यह नसे बाहर की ओर आने लगती हैं। इसलिए बवासीर से बचने के लिए सबसे पहले अपनी कब्ज़ से छुटकारा पाए।

दस्त लगने की वजह से

जब आपको लूज मोशन यानि की दस्त लग जाते हैं तो आप दिनभर में कई बार टॉयलेट जाते हैं। ज्यादा मलत्याग करने की वजह से गुदा की नसें फट सकती हैं, जिसके कारण आपको बवासीर भी हो सकता हैं।

बहुत ज्यादा कसरत करना

कई लोग बहुत ज्यादा कसरत करते हैं, इसकी वजह से भी उन्हें पाइल्स हो सकती हैं। क्योंकि कसरत करने से पेट के निचले हिस्से पर ज्यादा जोर पड़ता हैं। खास करके पैरों की एक्सरसाइज करते समय ज्यादा जोर लगता हैं।

कसरत बिल्कुल भी न करना

अगर आप नियमित रूप से कसरत नहीं करते हैं तो इससे भी आपको मलत्याग करने में परेशानी आती हैं। इससे आपको बवासीर भी हो सकती हैं।

ज्यादा वजन उठाना

ज्यादा वजन और भारी सामान उठाने की वजह से भी आपको बवासीर हो सकती हैं। क्योंकि ज्यादा भारी वजन उठाने पर आपके शरीर के निचले हिस्से पर ज्यादा जोर पड़ता हैं। जिससे आपकी गुदामार्ग की नसे टूटने का ख़तरा होता हैं।

प्रेगनेंसी के समय

गर्भावस्था के समय महिलाओं में पाइल्स होने का ख़तरा ज्यादा रहता हैं। क्योंकि गर्भ में पल रहा बच्चा गुदा पर ज्यादा जोर डालता हैं।

ज्यादा फ़ास्ट फ़ूड खाने के कारण

जो लोग ज्यादा ऑयली, मसालेदार, ज्यादा फैट वाले खाद्य पदार्थ, फ़ास्ट फ़ूड जैसी चीज़े ज्यादा खाते है। उनका मल टाइट हो जाता हैं, जिससे उन्हें मलत्याग करते समय काफी परेशानी होती हैं। मल के कड़ा हो जाने पर मलत्याग करने से बवासीर भी हो सकती हैं।

टॉयलेट में ज्यादा समय तक बैठे रहना

अगर आप टॉयलेट में ज्यादा देर तक बैठे रहते हैं और मलत्याग करने के लिए ज्यादा जोर लगाते हैं तो आपके गुदाद्वार की नसों में सूजन आ सकती हैं। जिससे आपको पाइल्स की समस्या भी हो सकती हैं।




Loading...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

यह हैं प्रेगनेंसी होने के शुरुवाती लक्षण.
आंवले के घरेलु उपाय और नुस्खे.
एंटीऑक्सीडेंट क्या होते हैं? इसके उपयोग और किस्मे बताये?
दाल खाने के फायदे - Benefits of Pulses in Hindi.
झींगा मछली खाने के फायदे -Benefits of prawn in Hindi.
काजू खाने के फायदे और नुकसान के बारे में जानिए।
पाचन तंत्र को मजबूत एवं दुरुस्त बनाने के लिए यह फल जरूर खाए।
डायबिटीज होने के लक्षण क्या हैं? Diabetes Symptoms in Hindi
सर्दी-जुकाम दूर करने के लिए लहसून का करे ऐसे इस्तेमाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *