ब्रह्मकमल के फायदे और उपयोगी घरेलु नुस्खे एवं उपाय।

ब्रह्मकमल के फायदे और उपयोगी घरेलु नुस्खे एवं उपाय।

ब्रह्मकमल एक ऐसा फूल हैं जो पहाड़ी इलाको में ज्यादा उगता हैं। यह विशेष रूप से उत्तराखंड के हिमालय की चोटियों में ज्यादा उगता हैं। यह एक ऐसा फूल हैं, जिसे हिन्दू धर्म में शुभता का प्रतीक माना जाता हैं। यह फूल रात के समय खिलता हैं और यह जून से सितम्बर महीने में फूल देता हैं। ऐसी मान्यता हैं की सिर्फ भाग्यशाली व्यक्ति ही ब्रह्मकमल को खिलता हुआ देख सकते हैं। आइये इस अनमोल ब्रह्मकमल के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय आदि के बारे में जानते हैं।

ब्रह्मकमल के फायदे :-

भूख बढ़ाता हैं

इसका टेस्ट चाहे कड़वा ही क्यों न हो, लेकिन इसमें न्यूट्रिशन ज्यादा मात्रा में होते हैं। इसे फूल को रोजाना खाने से भूख खुल कर लगने लगती हैं।

छिलने-कटने  का इलाज

छिलने या कटने पर उस स्थान पर ब्रह्मकमल के फूल का रस लगाना चाहिए। इस फूल के रस में एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते है जो घाव को जल्दी भरने का काम करते हैं।

बुखार दूर करे

इस फूल के रस का सेवन करने से बुखार को दूर करने में मदद मिलती हैं। यह बुखार के इलाज के लिए किसी दवाई से कम नहीं हैं। इसके लिए इसके फूल का अर्क निकाल ले और 50 ml की मात्रा को पीजिये। दिन में 2 बार इसका सेवन करने से बुखार जड़ से ख़त्म हो जाता हैं।

जरूर पढ़े :- बुखार दूर करने के घरेलु नुस्खे और उपाय।

यौन रोगों से मुक्ति दिलाये

ज्यादातर स्त्री और पुरुष अब यौन रोगों से ग्रसित होते चले जा रहे हैं। ब्रम्ह कमल के फूल का सेवन करने से इन सभी समस्याओं से निजात मिलता हैं।

युटीआई इन्फेक्शन दूर करे

मूत्रमार्ग में इन्फेक्शन को दूर करने के लिए ब्रम्हकमल लाभकारी हैं। स्त्रियों को इसका रस पीने से युटीआई इन्फेक्शन को दूर करने में मदद मिलती हैं।

हड्डियों के लिए फायदेमंद

इस फूल की पत्तियां हड्डियों में होने वाला दर्द को दूर करती हैं।

सर्दी-जुकाम दूर करे

सर्दी-जुकाम दूर करने के लिए इस फूल का जूस पीना चाहिए। क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती हैं, जिससे सर्दी जुकाम से जल्दी आराम मिलने लगता हैं।

लीवर का इन्फेक्शन दूर करे

ब्रह्मकमल के सेवन से लीवर के इन्फेक्शन को दूर करने में मदद मिलती हैं। लीवर को हेल्दी बनाये रखने के लिए इस फूल का सूप बना कर पीना चाहिए।

जरूर पढ़े ;- फैटी लीवर से बचने के लिए कुछ जरूरी टिप्स और आहार।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *