मुलेठी से मिलते हैं यह लाभ.

मुलेठी से मिलते हैं यह लाभ

यदि आपको कभी भी एसिडिटी की समस्या होती है तो आप काफी परेशान हो जाते हैं। क्योंकि आजकल के जंक फूड खाने के बाद यह समस्या होना आम सी बात हो गई है। ऐसे में आप चाहते हैं कि कोई ऐसा उपाय मिले जिससे कि इस समस्या से छुटकारा मिले। हम आपको बताते हैं मुलेठी के बारे में। ये एक ऐसी औषधि है जिससे कि सिर्फ पेट की समस्या ही नहीं बल्कि गले में होने वाले खराश और खांसी से भी छुटकारा पाया जा सकता है।

यदि आपको मुलेठी के बारे में नहीं मालूम है तो हम आपको बताते हैं इसके बारे में। मुलेठी स्वाद में मीठी होती है इसलिए इसे यष्टिमधु भी कहा जाता है। इसका पौधा 1 से 6 फुट तक का होता है। मुलेठी अंदर से पीली, रेशेदार और हल्की गंध वाली होती है और वहीं ये सूखने पर अम्लीय स्वाद का हो जाता है। इसका खास गुण यह होता है कि इसे जड़ से उखाड़ने के बाद भी दो साल तक इसमें औषधिय गुण भरे रहते हैं। प्राचीन काल से ही लोग इस औषधि का इस्तेमाल करते आएं हैं और आज भी यह अपना प्रभाव दिखाता है।

  • इसका प्रयोग करने से पेट संबंधी रोग जैसे गैस्ट्रिक और अल्सर जैसी बीमारियां दूर होती हैं।
  •  इससे सांस में होने वाली तकलीफ से छुटकारा मिलता है।
  •  इससे स्तन संबंधी रोग और योनिगत रोग भी दूर होते हैं।
  •  यह रक्त में होने वाले पीएच स्तर को सामान्य करता है और खाना पचाता है।
  •  रोज दूध या पानी के साथ 10 ग्राम मुलेठी का सेवन करना चाहिए।

हम जो भी खाना खाते हैं वह जब पेट में जाकर ठीक ढंग से पचता नहीं है तो हमारे पेट को उसे पचाने के लिए एक एसिड बनता है। लेकिन कभी-कभी यह खाने को पचाने के बाद अधिक मात्रा में बढ़ जाता है तब वह एसिड का रुप या फिर उसे दूसरे शब्दों में कह सकते हैं सीने में जलन, खट्टे डकार सर में इसकी वजह से दर्द होना। इसे ही फिर एसिडिटी के रुप में जाना जाता है।

यह अधिकतर खान-पान में अनियमितता, खाना ठीक से न खाना, भरपूर पानी के न पीने की वजह से होता है। साथ ही जंक फूड खाने से और मसालेदार खानों का सेवन करने से होता है। यदि आपको स्मोकिंग और ड्रिंकिंग की आदत है तब भी आपको यह समस्या जकड़ सकती है। इसके लिए आपको रोज फल और हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए। योग करने, एक्सरसाइज करने और सुबह टहलने से ये समस्याएं कभी नहीं होती हैं। इसके साथ ही रोज रात को 10 ग्राम मुलेठी दूध या पानी के साथ लेना चाहिए.




Loading...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

मेटाबोलिज्म के बारे में पूरी जानकारी.
परवल खाने के फायदे और घरेलु नुस्खे.
कटहल खाने के फायदे.
भोजन करते समय इन बातों का रखे ख्याल.
जानिए बार-बार भूख लगने के क्या कारण हैं?
बार बार थकान होने के यह हैं कारण।
पीरियड्स के दौरान हैवी ब्लीडिंग को रोकने के उपयोगी घरेलू नुस्खे और उपाय।
शास्त्रों के अनुसार जानिए विभिन्न धातु से बने में बर्तनों में खाना पकाने और खाने के फायदे।
घर के अन्दर जूतें-चप्पल क्यों नहीं ले जाने चाहिए? जानिए इसके पीछे जुड़े हुए वैज्ञानिक और धार्मिक कारण...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *