रामदाना यानि राजगिरा खाने के फायदे जानिए

रामदाना यानि राजगिरा खाने के फायदे जानिए

रामदाना जिसे राजगिरा के नाम से भी जाना जाता हैं। इसका इस्तेमाल ज्यादातर व्रत के दिनों में किया जाता हैं। राजगिरे के आटे का परांठा या हलवा आदि बना कर व्रत में खाया जाता हैं। इसके अलावा रामदाना के लड्डू भी नवरात्रि के व्रत में विशेष रूप से खाए जाते हैं। रामदाना (राजगिरा) खाने के फायदे, Benefits of Ramdana in Hindi.

रामदाना स्वाथ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद फलाहार हैं। इससे शरीर को एनर्जी मिलती हैं। आइये जानते हैं रामदाना यानि की राजगिरा खाने के फायदे क्या हैं?

आखिर रामदाना यानि की राजगिरा क्या चीज़ हैं?

राजगिरा (रामदाना) एक खाने वाला आहार हैं। यह Amaranth का बीज होता हैं। Amaranth को हिंदी में चौलाई कहा जाता हैं। यानी की रामदाना चौलाई के बीज हैं, लेकिन यह हरी चौलाई न हो कर लाल चौलाई के बीज होते हैं। लाल चौलाई को लाल साग या लाल भाजी भी कहा जाता हैं। इसी लाल चौलाई के बीजों को राजगिरा या रामदाना कहा जाता हैं।

लाल चौलाई वहीँ साग हैं जिसमे पालक के मुकाबले ज्यादा आयरन और कैल्शियम पाया जाता हैं। चौलाई साग खाने के फायदे भी बहुत हैं। चौलाई के बीजो को रामदाना कहा जाता हैं, जिसके बारे में आज हम जानेंगे।

राजगिरा का पौधा (लाल चौलाई)

रामदाना का नाम शायद भगवान राम के नाम से पड़ा होगा, शायद भगवान राम ने इसे व्रत के दिनों में खाया हो। तभी व्रत के दिनों में रामदाना को फलाहार के रूप में सेवन किया जाता हैं। रामदाना विश्व का सबसे प्राचीन आहार हैं। इसे अंग्रेजी में Amaranth grain कहा जाता हैं।

क्या रामदाना पौष्टिक हैं?

पौष्टिकता की बात करे तो रामदाने में गेंहू की तुलना में ज्यादा आयरन और कैल्शियम पाया जाता हैं। इसे धान और मकई से भी ज्यादा पौष्टिक आहार माना जाता हैं। रामदाना खाने से मछली के सेवन जितना प्रोटीन प्राप्त होता हैं, यानी की शाकाहारी लोगो के लिए रामदाना प्रोटीन का उच्चतम स्रोत हैं।

इसका नाम किसी पहेली से कम नहीं हैं। भारत में यह कहाँ से आया, इसके बारे में कोई प्रमाण नहीं मिले हैं। प्राचीन युग में किसान इसे खा कर उर्जावान बन जाते थे। इसलिए उन्होंने भगवान का धन्यवाद करने के लिए इसका नाम रामदाना यानी की भगवान का दाना रख दिया।

अंग्रेजी में इसे Amaranth कहते हैं, जिसका मतलब मृत्यु के खतरे को कम करना हैं। राजगिरा का आटा और दाना दोनों ही तरीको से खाया जा सकता हैं। जब यह फूल जाते हैं तो इसकी खीर या चिक्की बहुत ही अच्छी बनती हैं।

इसके आटे का आप हल्का या परांठा बना सकते हैं और उपवास के दौरान इसे खा सकते हैं।

इसे क्यों खाना चाहिए?

रामदाना खाने में बहुत ज्यादा हल्का होता हैं। यह प्रोटीन का खजाना माना गया हैं। इसमें फाइबर, आयरन, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, मैंगनीज, कॉपर जैसे मिनरल्स उपयुक्त मात्रा में पाए जाते हैं। राजगिरा में Lysine Amino Acid भी होता हैं। अगर आप रामदाने को अन्य अनाजों के साथ मिला कर खाते हैं, खासकरके मक्की के साथ तो शरीर में ऐसे एमिनो का बैलेंस बनेगा जो मीट और दूध से भी ज्यादा होगा।

रामदाना में पौष्टिक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए उपवास में इसके लड्डू, खीर या इसके आटे से बना हलवा पुड़ी आदि बना कर खाया जाता हैं।

रामदाना (राजगिरा) खाने के फायदे :-

■ विटामिन सी का भंडार

रामदाना में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं।

■ हड्डियों को मजबूत बनाये

इसके सेवन से हड्डियों में कोई बीमारी नहीं होती हैं। इसमें दूध के मुकाबले 10 गुना ज्यादा कैल्शियम पाया जाता हैं, जिससे आपकी हड्डियां काफी ज्यादा मजबूत बन जाती हैं।

■ भूख मिटाता हैं

शोध के अनुसार यह प्रोटीन का बढ़िया सोर्स हैं, जिसकी वजह से इसे खाने से भूख शांत होती हैं। इसलिए व्रत के दिनों में राजगिरे के आटे का हलवा या रामदाना के लड्डू या खीर बना कर खाए जाते हैं। जिससे उपवास करने वाले लोगो को भूख नहीं लगती हैं और उनके शरीर को एनर्जी भी मिलती हैं।

■ ग्लूटेन फ्री होता हैं

जिन लोगो को ग्लूटेन से एलर्जी हैं, वह रामदाना को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। यह ग्लूटेन फ्री होता हैं, ग्लूटेन एक ऐसा तत्व हैं जो गेंहू जैसे अन्य अनाजों में पाया जाता हैं। जिन लोगो को ग्लूटेन से एलर्जी होती हैं, वे ग्लूटेन वाले आहार को पचा नहीं पाते हैं। ऐसे में उन लोगो के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं है।

■ माइग्रेन से आराम दिलाये

राजगिरे के आटे में मैग्नीशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं, जिससे माइग्रेन से राहत मिलती हैं। यह खून की धमनियों को सिकुड़ने से रोकता हैं।

■ गेंहू से बढ़िया

क्या आपको मालूम हैं की रामदाना में गेंहू के मुकाबले 5 गुना ज्यादा आयरन और 3 गुना ज्यादा फाइबर पाया जाता हैं।

■ कोलेस्ट्रॉल कम करे

इसमें अनसैचुरेटेड फैटी एसिड और घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं जो शरीर के ख़राब कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करते हैं। इसलिए रामदाना दिल के लिए भी लाभकारी हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

One thought on “रामदाना यानि राजगिरा खाने के फायदे जानिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *