शरीर में कैल्शियम की कमी होने के लक्षण यह हैं।

शरीर में कैल्शियम की कमी होने के लक्षण यह हैं।

कैल्शियम हड्डियों और दांतों की सरंचना के लिए सबसे जरूरी तत्व हैं। इसके अलावा यह हार्ट बीट रेट को कण्ट्रोल करने, ब्लड क्लोटिंग करने के लिए भी जरूरी हैं। मसल्स के संकुचन के लिए भी कैल्शियम की जरूरत पड़ती हैं। आज हम कैल्शियम की कमी होने के लक्षण के बारे में जानेंगे। Calcium lack symptoms in Hindi.

वर्तमान समय में अब सिर्फ बूढ़े लोगो में ही कैल्शियम की कमी नहीं होती है, बल्कि जवान और बच्चे भी इसकी कमी से जूझ रहे हैं। ऐसा इसलिए हो रहा हैं की लोग अब जंक फ़ूड ज्यादा खा रहे हैं और कसरत भी कम कर रहे हैं। जिससे शरीर में कैल्शियम की कमी होने लगी हैं। कैल्शियम की कमी को जानने के लिए ब्लड टेस्ट करवाना चाहिए और डॉक्टर द्वारे बताये गये अन्य टेस्ट भी करवाने चाहिए। आइये जानते हैं की शरीर में जब कैल्शियम की कमी हो जाती हैं तो इसके संकेत क्या होते हैं?

कैल्शियम की कमी के लक्षण :-

नाखूनों का कमजोर होना

नाखूनों को मजबूत बनाने के लिए कैल्शियम की जरूरत पड़ती हैं। अगर शरीर में कैल्शियम की कमी हो गयी हैं तो नाखून कमजोर होने लगते हैं। इससे नाखून बीच-बीच में से टूटने लगते हैं।

बालों का गिरना

कैल्शियम की कमी होने पर बालों पर भी बुरा असर पड़ता हैं। इससे बाल काफी ज्यादा हार्ड हो जाते हैं और इनमे रूखापन आ जाता हैं। अगर बाल खराब हो गये हैं और झड़ रहे हैं तो यह भी कैल्शियम की कमी होने के संकेत होते हैं।

हड्डियाँ कमजोर होना

कैल्शियम की कमी होने का मुख्य लक्षण यह हैं की इससे हड्डियाँ कमजोर हो जाती हैं। इससे हड्डियाँ आसानी से टूट जाती हैं और हड्डियों में मामूली चोट लगने के कारण भी फ्रैक्चर हो जाता हैं। इससे मसल्स में अकड़न और दर्द भी ज्यादा होने लगता हैं। कभी कभार तो रिकेट्स नाम की बीमारी भी हो जाती हैं।

दांतों का कमजोर होना

कैल्शियम की कमी होने पर दांतों पर बुरा असर पड़ता हैं। अगर बच्चों में कैल्शियम की कमी हो जाये तो उनके दांत काफी देरी के बाद निकलते हैं। इसके अलावा बड़ों में कैल्शियम की कमी होने पर दांत टूट कर गिरने लगते हैं।

थकान महसूस होना

जब शरीर की हड्डी और मांसपेशियों में हमेशा दर्द बना रहेगा तो निश्चित ही आपको हमेशा थकान महसूस होगी। कैल्शियम की कमी से आपको नींद भी नहीं आती हैं और टेंशन भी बढ़ जाता हैं। अगर आप हमेशा थके-थके से रहते हैं तो आपको कैल्शियम की जांच जरूर करवानी चाहिए।

महिलाओं के पीरियड्स में गड़बड़ी होना

जिन स्त्रियों के शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती हैं, उन्हें पीरियड्स आने में गड़बड़ी होने लगती हैं। कैल्शियम की कमी की वजह से किशोरियों में यौवन भी देरी के साथ आता हैं। इसके अलावा कई लड़कियों को मासिक धर्म के समय काफी ज्यादा दर्द भी होता हैं।

सम्बन्धित  लेख  जिन्हें आपको जरूर पढ़ना चाहिए :- 

कैल्शियम की कमी को दूर करने के  तरीके।

बढ़ती उम्र और  गर्भवती महिलाओं के कैल्शियम क्यों हैं जरूरी? 








इन्हें भी जरूर पढ़े...