शरीर में पोटैशियम की कमी होने के लक्षण क्या हैं और इसे कैसे पूरा करे?

शरीर में पोटैशियम की कमी होने के लक्षण क्या हैं और इसे कैसे पूरा करे?

एक स्वस्थ्य शरीर के लिए सभी प्रकार के मिनरल्स और विटामिन्स की आवश्यकता होती हैं। उनकी मिनरल्स में पोटैशियम भी सबसे जरूरी तत्व हैं। शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए पोटैशियम की जरूरत पड़ती हैं। अगर शरीर में पोटैशियम की कमी हो जाये तो आपको कई तरह की बीमारियाँ हो सकती हैं।

पोटैशियम एक तरह का इलेक्ट्रोलाइट भी हैं, जो सोडियम, क्लोराइड और मैग्नीशियम के साथ मिलकर शरीर में इलेक्ट्रिक के बैलेंस को बनाये रखता हैं। पोटैशियम की कमी की वजह से आपको स्ट्रेस ज्यादा होने लगता हैं, यह दिल को सही तरह से चलाने में मदद करता हैं, इसके अलावा यह पाचन क्रिया को दुरुस्त बनाता हैं। पोटैशियम हड्डियों और मांशपेशियों के संकुचन को रोकने में मदद करता हैं।

पोटैशियम की कमी का मतलब क्या हैं?

शरीर में पोटैशियम की कमी होने को हाईपोक्लेमिया कहा जाता हैं। वहीँ अगर शरीर में पोटैशियम की ज्यादा मात्रा बढ़ जाये तो उसे हाईपरक्लेमिया कहा जाता हैं। यानी की शरीर में पोटैशियम की कमी और ज्यादा होना दोनों ही नुकसानदायक होते हैं।

रोजाना शरीर को कितनी मात्रा में पोटैशियम की जरूरत पड़ती हैं?

अमूमन एक adult मनुष्य को रोजाना 4700 मिलीग्राम पोटैशियम की आवश्यकता पड़ती हैं। पोटैशियम की कमी होने पर आपके दिल और दिमाग दोनों पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता हैं। शरीर में पोटैशियम की मात्रा बैलेंस बनाये रखने के लिए खून में सोडियम और मैग्नीशियम की मात्रा पर निर्भर रहना पड़ता हैं। लेकिन खाने वाली ज्यादातर चीजों में सोडियम की मात्रा ज्यादा पायी जाती है, जिसे बैलेंस्ड करने के लिए पोटैशियम की जरूरत पड़ती हैं।

आइये जानते हैं पोटैशियम की कमी होने के लक्षण या संकेत :-

1. उल्टी या मतली आना

अगर आपको बिना कारण उल्टी या मतली आ रही हैं तो यह भी शरीर में पोटैशियम की कमी होने के लक्ष्ण होते हैं। पोटैशियम की कमी की वजह से आपको बार-बार उल्टी या मतली आती रहती हैं। इसे दूर करने के लिए आपको पोटैशियम युक्त आहार खाने की जरूरत हैं।

2. तनाव होना

पोटैशियम की कमी होने पर आपका मानसिक स्वास्थ्य भी प्रभावित होता हैं। इससे आप टेंशन में जीने लगते हैं। डिप्रेशन जैसी बीमारी भी कुछ हद तक पोटैशियम की कमी की वजह से ही होती हैं।

3. नींद न आना

पोटैशियम की कमी होने पर अनिंद्रा की शिकायत होने लगती हैं। इससे व्यक्ति को नींद नहीं आती हैं। नींद कम आने पर सेहत पर बहुत ही बुरा असर पड़ता हैं।

4. स्किन ड्राई हो जाती हैं

जब बॉडी में पोटैशियम की कमी हो जाती हैं, तो इससे स्किन ड्राई और खुश्क हो जाती हैं। इसके अलावा आपको पसीना भी ज्यादा आने लगता हैं।

5. झुनझुनी होना

पोटैशियम की कमी होने पर शरीर के कई हिस्सों में झुनझुनी होने लगती हैं। ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि पोटैशियम आपके नर्वस सिस्टम और ब्लड सर्कुलेशन को सुचारू रूप से चलाने का काम करता हैं। ऐसे में इसकी कमी होने पर शरीर में झुनझुनी होना स्वभाविक हैं।

6. हाइपरटेंशन की समस्या

शरीर में पोटैशियम की कमी होते ही शरीर की रक्तवाहिनीयों में प्रोब्लम आने लगती हैं। जिसकी वजह से मष्तिक तक रक्त का संचार अच्छी तरह से नहीं हो पाता हैं। इससे आपके सोचने समझने की क्षमता में परेशानी आने लगती हैं। इससे व्यक्ति उलझनों में घिर जाता हैं और यह बहुत ही गंभीर दुष्परिणाम माना गया हैं।

7. मसल्स कमजोर हो जाते हैं

जिन लोगो की मांसपेशियां में हमेशा दर्द, ऐंठन और टिस बनी रहती हैं। यह शरीर में पोटैशियम की कमी की वजह से भी हो सकता हैं।

8. दिल के धड़कने की गति तेज़ हो जाती हैं

पोटैशियम की कमी की वजह से हमारा दिल बहुत तेज़ी के साथ धड़कने लगता हैं। क्योंकि दिल के मसल्स में संकुचन आ जाता हैं।

9. कब्ज़ की समस्या

पोटैशियम की कमी से आपकी पाचन क्रिया सुचारू रूप से काम नहीं कर पाती हैं, जिससे आपको कब्ज़ भी हो सकता हैं।

पोटैशियम की कमी को दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए?

पोटैशियम की कमी को दूर करने के लिए आप पोटैशियम से भरपूर फूड खाए। यह विशेषरूप से फलों एवं सब्जियों में पाया जाता हैं। इसे आप साबुत अनाज, दूध, डेयरी प्रोडक्ट्स आदि से भी प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अलावा मीट, मछली, अंडे आदि में भी पोटैशियम पाया जाता हैं। केला, खुबानी, आलू, टमाटर, स्ट्रॉबेरी, पत्ता गोभी, ब्रोकली, बैंगन, शिमला मिर्च, एवोकाडो, खीरा, फूल गोभी, हल्दी, अजवाइन, पालक, संतरा आदि को पोटैशियम का सबसे उच्चतम स्रोत माना जाता हैं।

नोट :- शरीर में पोटैशियम की कमी न होने दे। अगर आपके शरीर में पोटैशियम की कमी हो गयी हैं तो इसकी कमी को दूर करने के लिए बाज़ार में मिलने वाली पोटैशियम की गोलियां न खाए, अगर आपको पोटैशियम की दवाई खानी ही पड़े, तो इसे खाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले।








इन्हें भी जरूर पढ़े...