शहतूत खाने के 9 बेमिसाल फायदे.

Shahtoot khane ke fayde. Benefits of Mulberry in Hindi.

नर्म-नर्म मीठी-मीठी शहतूत खाना सभी को अच्छा लगता हैं. यह फल काले रंग का होता है, वैसे तो यह लाल और हरे रंग का भी होता हैं. लेकिन हरे रंग का सहतूत खाने में खट्टा लगता हैं, जैसे जैसे यह फल पकने लगता हैं तो यह लाल रंग का और फिर पूरी तरह से पक जाने पर काले रंग का हो जाता हैं. शहतूत को आम बोल चाल की भाषा में तूत भी कहते हैं, आज हम सहतूत खाने के फायदे के बारे में जानेंगे. Benefits of Mulberry in Hindi.

शहतूत खाने के फायदे बहुत हैं. शहतूत के खास औषधिय गुण हैं जो लू से निपटने के लिए इसका खूब इस्तेमाल किया जाता हैं. आज हम आपको बताएँगे शहतूत के पेड़ के बारे में जो हमे मीठे और खट्टे फल तो देता ही हैं. साथ ही इस पेड़ की पत्तिया और तने का उपयोग अनेक हर्बल नुस्खे के तौर पर भी किया जाता हैं.

आइए जानते हैं शहतूत खाने के फायदे (Benefits of Mulberry in Hindi.) :-

1. सन स्ट्रोक से बचाता हैं

हर्बल एक्सपर्ट्स गर्मी के दीनो में शहतूत के फलो के रस (Mulberry जूस) में चीनी में मिला कर पीने की सलाह देते हैं. उनके अनुसार शहतूत की तासीर ठंडी होती हैं, जिसके कारण गर्मी में होने वाले स्ट्रोक से बचा जा सकता हैं.

2. आँखों की रोशिनी बढ़ाता हैं.

शहतूत को इंग्लीश में मलबेरी कहा जाता हैं. इसका साइंटिफिक नाम Morus Alba हैं. जंगल के अलावा इसे सड़को के किनारो और बाग-बगीचो में देखा जा सकता हैं. शहतूत के फलो के रस के सेवन से आँखों की रोशिनी तेज़ होती हैं और इसका शरबत बना कर भी पिया जाता हैं.

3. पेट के कीड़े मारता हैं

शहतूत में विटामिन A, कैल्शियम, फॉस्फोरस और पोटैशियम अधिक मात्रा में पाए जाते हैं. इसके सेवन से बच्चो को ज़रूरी न्यूट्रियेंट्स तो मिलते ही हैं, साथ ही यह पेट के कीड़ो को भी ख़त्म कर देता हैं.

4. थकान दूर करने में कारगर

गर्मियो में बार-बार प्यास लगने की शिकायत होने पर इसके फलो को खाने से प्यास शांत हो जाती हैं. जंगल में पहाड़ो में ट्रैकिंग के दौरान शहतूत खाने को मिल जाए तो उससे बेहतर कुछ नही होगा, क्योंकि यह थकान दूर को करने में भी कारगर हैं.

5. कोलेस्टरॉल कंट्रोल करता हैं

शहतूत का रस दिल के रोगियो के लिए लाभकारी होता हैं. हर रोज सुबह इसका शहतूत का जूस पीने से दिल हेल्दी होता हैं. साथ ही कोलेस्टरॉल का लेवल भी कंट्रोल में रहता हैं.

6. मुहासो की समस्या दूर होती हैं.

शहतूत की छाल और नीम की छाल को बराबर मात्रा में कूट कर इसके लेप को लगाने से मुहांसे ठीक हो जाते हैं.

7. खून साफ़ करता हैं.

शहतूत खाने से खून से जुड़ी सभी बीमारिया दूर हो जाती हैं. शहतूत, अनंतमूल, अंगूर और गुलाब की पंखूड़ियो से बने रस में चीनी मिला कर पीने से खून साफ होता हैं.

8. सूजन की समस्या से राहत मिलती हैं.

हर्बल एक्सपर्ट्स के अनुसार शरीर में कन्हि भी सूजन होने पर शहतूत के रस में शहद मिला कर लेप करने से सूजन में काफ़ी आराम मिलता हैं.

9. जलन की समस्या ख़त्म होती हैं.

शहतूत का जूस पीने से हाथ-पैर, खास करके तलवो में होने वाली जलन से राहत मिलती हैं. मधुमेह के रोगियो को इसके अधपके फल को चबा कर खाना चाहिए.








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *