स्तनपान करवाने से माँ और बच्चे दोनों को होते हैं फायदे।

स्तनपान करवाने से माँ और बच्चे दोनों को होते हैं फायदे।

स्तनपान करवाने से माँ और उसके बच्चे को क्या-क्या फायदे होते हैं? माँ का दूध बच्चे के लिए सबसे बेहतर क्यों माना जाता हैं? Benefits of Breastfeeding in Hindi. नवजात बच्चे को माँ का दूध ही क्यों पीना चाहिए?

माँ का दूध किसी अमृत से कम नहीं हैं। गर्भावस्था के समय से ही माँ का अपने बच्चे के साथ एक खास लगाव जुड़ जाता हैं। जो बच्चे के जन्म के बाद और भी गहरा और मजबूत हो जाता हैं। माँ के लिए बच्चे की हर जरूरत बहुत ही मायने रखती हैं, इसमें स्तनपान भी शामिल हैं। माँ का बच्चे को दूध पिलाना (स्तनपान करवाना) न सिर्फ बच्चे के लिए, बल्कि माँ के लिए भी फायदेमंद होता हैं। आइये जानते हैं इससे स्तनपान करवाने से बच्चे के साथ साथ माँ को क्या क्या लाभ होते हैं? बच्चे को 3 साल तक माँ का दूध पिलाना कई तरह से बहुत ही फायदेमंद माना जाता हैं।

बच्चे को माँ का दूध पिलाने के फायदे :-

भावनात्मक संतुष्टि मिलती हैं

स्तनपान करनवाले से बच्चे और माँ के बीच में एक रिश्ता बनता हैं, जो की काफी भावनात्मक होता हैं। इससे शिशु के साथ साथ उसकी माँ को भी संतुष्टि मिलती हैं और यह दोनों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी भी होता हैं। इसलिए सभी माओं को अपने बच्चों को अपना दूध जरूर पिलाना चाहिए।

बिमारियों से दूर रखता हैं

कई सारी रिसर्च में यह बात साबित हो चुकी हैं की शिशुओं में होने वाली पेट और सांस की बीमारियाँ और कई तरह के इन्फेक्शन आदि, माँ का दूध पीने से दूर रहते हैं। Breastfeeding करने वाला बच्चा ज्यादा स्वस्थ्य रहता हैं। किसी भी नवजात शिशु को जन्म से 6 महीने तक सिर्फ स्तनपान ही करवाना चाहिए। यह उसके विकास के लिए जरूरी होता हैं। स्तनपान करने वाले बच्चे ज्यादा दिनों तक जीवित रहते हैं, उन्हें कम उम्र में होने वाली बीमारियाँ जैसे की डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल और पेट के रोग जल्दी नहीं होते हैं।

मोटापे से बचाए

माँ का दूध बच्चों को मोटापे से बचाता हैं। क्योंकि इसमें फैट न के बराबर पाया जाता हैं। ब्रैस्टफीडिंग से मोटापे की समस्या को बढती उम्र में भी कण्ट्रोल किया जा सकता हैं। माँ का दूध पीने वाले बच्चों में लेप्टिन हॉर्मोन का विकास होता हैं जो फैट को बर्न करने में बहुत ही ज्यादा कारगर माना गया हैं।

कैंसर से बचाए

माँ का दूध सिर्फ बच्चे के विकास और स्वास्थ्य के लिए नहीं ही जरूरी, बल्कि यह खुद माँ के लिए भी उतना ही ज्यादा जरूरी होता हैं। स्तनपान करवाने वाली महिला में ब्रेस्ट कैंसर और ओवेरियन कैंसर होने का खतरा काफी कम हो जाता हैं। इसलिए जितना हो सके, उतना बच्चे को अपना दूध पिलाना चाहिए।

बच्चे के दिमागी विकास के लिए जरूरी

एक अध्यन में यह पाया गया की उन बच्चों का दिमागी विकास ज्यादा हुआ, जिन्होंने ने माँ का दूध पिया था, बजाये उनके जिन्होंने माँ का दूध नहीं पिया था। माँ के दूध में ग्लूकोज़ और प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो मष्तिक के विकास के लिए फायदेमंद होते हैं।

एलर्जी से बचाए

गाय का दूध या सोया मिल्क पीने वाले बच्चों में एलर्जी होने की सम्भावना माँ का दूध पीने वाले बच्चों से कंही अधिक होती हैं। रिसर्च में यह पता चला की माँ के दूध में Secretory IgA पाया जाता हैं जो बच्चों के आंतो में लेयर बनाने का काम करता हैं, जिससे उनमे एलर्जी होने का खतरा काफी कम हो जाता हैं। जिन बच्चों को माँ का दूध नहीं मिलता, उनमे एलर्जी, सूजन और विभिन्न प्रकार की बीमारियाँ आसानी से अपना शिकार बना लेती हैं।

2 बच्चों के बीच में गैप रखने में मदद करे

स्तनपान करवाने वाली महिलाओं में गर्भवती होने की सम्भावना कम होती हैं। यह प्रकृतिक गर्भनिरोधक के तौर पर काम करता हैं। इसलिए 2 बच्चों के बीच में गैप रखने के लिए breastfeeding करवाना एक अच्छा उपाय साबित हो सकता हैं।

SIDS की बीमारी दूर रहती हैं

वर्ष 2009 में प्रकाशित के रिपोर्ट के अनुसार, SIDS की समस्या जिसमे नवजात शिशु की अचानक मृत्यु हो जाती हैं। इस बीमारी को माँ का दूध पीकर काफी हद तक कम किया जा सकता हैं। माँ के दूध में कई सारे मिनरल्स पाए जाते हैं जो बच्चे को कई सारी खतरनाक और जानलेवा बिमारियों से बचाते हैं।

माँ का दूध बच्चे को कब तक पिलाना चाहिए?

डॉक्टर मानते हैं की माँ का उसके बच्चे को कम से कम 6 महीने तक स्तनपान जरूर करवाना चाहिए। लेकिन उसकी कोई सीमा नहीं हैं। माँ अगर स्वस्थ्य हैं तो वह अपने बच्चे को 2 से 3 साल तक अपना दूध पिला सकती हैं। यह किसी भी सूरत में नुकसानदायक नहीं होगा।

स्तनपान करवाने को लेकर भ्रम :-

बहुत सी महिलाएं अपने बच्चों को इसलिए भी स्तनपान नहीं करवाती हैं क्योंकि उनके मन में एक भ्रम हैं की इससे उनका फिगर खराब हो जायेगा और स्तन ढीले हो जायेंगे। यह सरासर गलत धारणा हैं, इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं हैं। डॉक्टर्स का यह मानना हैं की दूध पिलाने वाली माओं की सुन्दरता और भी ज्यादा बढ़ जाती हैं। साथ ही दूध के बाहर निकल जाने से स्तन भी सही आकार में बने रहते हैं, इससे उनकी शेप भी सही रहती हैं।




Loading...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए?
अनानास खाने के 10 नुकसान के बारे में जरूर जानिए.
खुबानी खाने के फायदे जरूर जानिए.
हरी प्याज खाने के फायदे.
बड़ी इलायची खाने के 12 बेमिसाल फायदे.
महिलाओं का वज़न कम करने वाले बेस्ट फूड।
खाना बनाते समय इन बातों का रखे ख्याल, ताकि भोजन में पोषण की कमी न हो सके।
अचार खाने के फायदे और नुकसान जरूर पढ़े यह लेख।
दालचीनी से होने वाले नुकसान के बारे में जानिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *