हरी दूब घास के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय।

हरी दूब घास के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय।

भारत में हरी दूब घास का इस्तेमाल सिर्फ पूजा पाठ में ही इस्तेमाल किया जाता हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं की दूब की इन कोमल पत्तियों को कई सारी बिमारियों के उपचार में इस्तेमाल किया जा सकता हैं। जी हाँ यह कई सारे रोगों का इलाज हैं। इस हरी दूब की ताज़ी पत्तियों को आप साबुत भी खा सकते हैं और इसका जूस भी बना कर पी सकते हैं। लोग सोचते हैं की यह हरी दूब घास फ़ालतू चीज़ हैं, लेकिन प्यारे मित्रो कुदरत ने हर पौधे में कुछ न कुछ औषधीय गुण भरे हुए हैं, इसलिए किसी भी पौधे को बेकार समझना आपकी नादानी हैं।

स्वाद में कड़वा लगने वाली यह दूब कफ, उल्टी, प्रेगनेंसी सम्बंधित समस्याएं और कब्ज़ को दूर करती हैं। हरी दूब घास में एंटी-सेप्टिक गुण पाए जाते हैं जो जख्मो को भरने का काम करते हैं। Home remedies & health benefits of Green Doob Grass in Hindi.

आइये जानते हैं हरी दूब घास के घरेलु नुस्खे, उपाय और उसके फायदे :-

गठिया का उपचार

बढ़ती उम्र में हड्डियाँ कमजोर होने लगती हैं, जिससे आपको गठिया होने का खतरा ज्यादा रहता हैं। हरी दूब के पत्तियों का रस निकाले और इस तेल से दर्द वाली जगह पर मालिश करे, इससे जल्द से जल्द से आपको आराम मिलने लगता हैं।

जख्म जल्दी भरे

ज़ख्मो को जल्दी से भरने में दूब बहुत ही फायदेमंद उपचार माना जाता हैं। दूब को पीसकर उसे पके हुए फोड़े पर लगाने से फोड़ा बिना किसी दर्द के आसानी से फूट जाता हैं।

मिर्गी के उपचार में फायदेमंद

10 ग्राम हरी दूब का रस सुबह शाम पीने से मिर्गी की बीमारी में लाभ मिलता हैं। स्वाद में यह थोडा कड़वा होता हैं, इसलिए आप इसमें शहद मिला कर भी पी सकते हैं।

फटी एड़ियों को जल्दी भरे

कभी पोल्यूशन के चलते और कैल्शियम की कमी के कारण भी एड़ियाँ फटने लगती हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं की हरी दूब की पत्तियों का पेस्ट बना कर फटी एड़ियों पर लगाने से काफी फायदा होता हैं।

यह भी पढ़े :- फटी एड़ियों को ठीक करने के घरेलु उपाय और तरीके।

स्किन की समस्याओं से राहत दिलाये

हरी दूब घास को हल्दी के साथ मिला कर पीस कर पेस्ट बनाये। इस पेस्ट स्किन पर लगाने से खाज-खुजली, दाद और स्किन से सम्बंधित समस्याओं को दूर करने में मदद मिलती हैं।

झुर्रियां दूर करे

बढ़ती उम्र के कारण आपके चेहरे पर झुर्रियां नज़र आने लगती हैं। इसे दूर करने के लिए आप तमाम तरह की ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं की हरी दूब से भी झुर्रियों को ख़त्म किया जा सकता हैं। 40 ग्राम हरी दूब की जड़ का काढ़ा सुबह-शाम बना कर पीने से चेहरे की झुर्रियां कम होने लगती हैं।

खुजली दूर करे

सर्दियों के दिनों में dryness की वजह से और गर्मियों के दिनों में पसीने के कारण आपके शरीर में खुजली होने लगती हैं। 2 चम्मच दूब के रस को 100 ग्राम तिल के तेल में मिला कर खुजली वाली जगह पर लगाने से खुजली से तुरंत आराम मिलता हैं।

नकसीर के लिए फायदेमंद

गर्मियों के दिनों में कई लोगो के नाक से खून निकलने लगता हैं। इसे नकसीर कहते हैं, इसे बंद करने के लिए हरी दूब घास बहुत ही अच्छा उपाय हैं। इसे जमीन से निकाल कर पानी में धो ले, फिर इसे पीसकर इसका रस निकाल ले। इस रस की 2-2 बूंदे नाक के दोनों छेदों में डालने से नाक से खून निकलना बंद हो जाता हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

2 thoughts on “हरी दूब घास के फायदे और इसके घरेलु नुस्खे और उपाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *