ज़मीन पर बैठकर भोजन करने के फायदे जानिए।

ज़मीन पर बैठकर भोजन करने के फायदे जानिए।

प्राचीन काल में लोग जमीन पर बैठकर ही भोजन करते थे। आज के समय में हम टेबल आदि पर खाना खाते हैं। पुरानी मान्यतें सिर्फ यूँही नहीं बनी हैं, जमीन पर नीचे बैठकर खाना खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता हैं। आज लोग टी.वी. के सामने बैठकर खाना खाते हैं, चाहे यह आपके लिए आरामदेह ही क्यों न हो, लेकिन स्वास्थ्य की दृष्टि से सही नहीं माना जाता हैं। आइये जानते हैं जमीन (भूमि) पर बैठकर भोजन करने से सेहत को क्या-क्या फायदे होते हैं।

जमीन पर नीचे बैठकर खाना खाने के फायदे :-

पाचन क्रिया दुरुस्त रखे

जब आप भूमि पर बैठकर भोजन ग्रहण करते हैं तो आप सुखासन में बैठते हैं। जो की पाचन में मदद करने वाली मुद्रा मानी जाती हैं। जब आप इस स्तिथि में भोजन करते हैं तो आपको पेट से सम्बंधित समस्याएं बहुत कम होती हैं। इसके अतरिक्त जब आप नीचे जमीन पर बैठकर खाना खाते हैं तो खाते समय आपको आगे की ओर झुकना पड़ता हैं और जब आप निवाला निगल लेते हैं तो फिर अपनी स्तिथि में वापिस आ जाते हैं। इस प्रकार लगातार आगे-पीछे झुकने के कारण आपके पेट के मसल्स सक्रिय हो जाते हैं। साथ ही यह पेट में पाचन रस को भी बढ़ाता हैं, जिससे आपका भोजन आसानी से पच जाता हैं।

दिल के लिए फायदेमंद

भूमि पर बैठकर भोजन करने से ब्लड सर्कुलेशन सुधरता हैं। इस प्रकार दिल शरीर के सभी अंगो को खून की सप्लाई आसानी से करता हैं। लेकिन कुर्सी पर बैठकर खाना खाने पर ब्लड सर्कुलेशन पर उल्टा असर पड़ता हैं। इससे ब्लड सर्कुलेशन पैरों तक होता हैं जो की भोजन करते समय अच्छा नहीं हैं। जबकि जमीन पर भोजन करने से आपका दिल और मांसपेशियां दोनों ही मजबूत बन जाते हैं।

भोजन में ध्यान लगाये

जब आप परिवार के साथ जमीन पर बैठकर भोजन करते हैं तो आपका सारा ध्यान खाने की तरफ लगता हैं। यह सिर्फ आपका ध्यान खाने पर ही फोकस करता हैं, बल्कि खाने से बेहतर पोषन प्राप्त करने में भी मदद करता हैं। क्योंकि जमीन पर बैठकर खाना खाने से आपका मन एक दम शांत रहता हैं जो खाने से भरपूर पोषण प्राप्त करने के लिए तैयार रहता हैं। जमीन पर बैठकर खाना खाना सेहतमंद रहने का सबसे बढ़िया तरीका हैं।

परिवार को आपस में जोड़े

आमतौर पर भूमि पर बैठकर खाना खाने की प्रथा एक पारिवारिक प्रथा हैं। सही समय पर पूरा परिवार एक साथ बैठकर खाना खाए तो इससे आपसी प्यार और एकता बढ़ती हैं। अपनी फैमिली से जुड़ने का यह सबसे अच्छा तरीका हैं। क्योंकि भूमि पर बैठकर भोजन ग्रहण करने पर मन एकदम शांत और सुखद रहता हैं। इसलिए यह परिवार के साथ जुड़ने का अच्छा तरीका हैं।

शरीर को लचीला बनाये

जब आप पद्मासन में बैठते हैं तो आपकी नीचली पीठ, पेट के आसपास और पेट की मांसपेशियां में खिचाव होता हैं। जिसके वजह से पाचन तन्त्र आराम से अपना कार्य कर सकता हैं। इसके अलावा यह पोजीशन पेट पर कोई प्रेशर नहीं डालती हैं जिससे खाने को बेहतर तरीके से पचाने में मदद मिलती हैं।

दिमाग को शांत बनाये

जो लोग नीचे जमीन पर बैठकर भोजन करते हैं उनका दिमाग तनाव मुक्त रहता हैं। क्योंकि यह दिमाग को रिलैक्स और तंत्रिकाओं को शांत करता हैं। आयुर्वेद का मानना हैं की दिमाग को शांत रखकर खाना खाने से पाचन अच्छी तरह से होता हैं। और इससे आप भोजन को मज़े के साथ स्वाद लेकर खाते हैं।

वजन नियंत्रण में रखे

जब आप सुखासन में बैठकर खाना खाते हैं तो आपका दिमाग शांत रहता हैं। डाईंग टेबल पर खाना खाने से भोजन ग्रहण करने की स्पीड तेज़ होती हैं, क्योंकि तब हमारे दिमाग उतना ज्यादा शांत नहीं रहता हैं। जबकि जमीन पर बैठकर भोजन करने पर दिमाग शांत रहता है और आप खाने को धीरे-धीरे खाते हैं और इससे पेट एवं दिमाग को ठीक समय पर तृप्ति होने का अहसास हो जाता हैं। इसलिए आप ज्यादा खाना खाने से भी बच जाते हैं।

बुढ़ापा जल्दी न आने दे

खाना खाने का यह पारम्परिक तरीका आपको जल्दी बुढ़ा भी नहीं होने देता हैं। क्योंकि इस मुद्रा में बैठकर खाना खाने से आपको रीढ़ की हड्डी और पीठ से जुडी समस्याएं जल्दी नहीं होती हैं। साथ ही जो लोग गलत मुद्रा में कन्धों को पीछे ढकेल कर बैठते हैं उन्हें हमेशा दर्द बना रहता हैं। वह लोग भी इस आसन में बैठकर भोजन करे, इससे उनकी समस्या भी दूर हो जाएगी।

उम्र लम्बी करे

एक रिसर्च में यह पाया गया की जो लोग जमीन पर बैठकर भोजन ग्रहण करते हैं, वह लम्बे समय तक जिन्दा रहते हैं। क्योंकि इस स्तिथि में बैठने पर दुबारा उठने के लिए लचीलापन और शारीरिक शक्ति की जरूरत पड़ती हैं।

जोड़ो को लचीला बनाये

पद्मासन और सुखासन में बैठने से आपके समूचे शरीर को फायदा होता हैं। यह सिर्फ आपके पाचन तन्त्र को ही मजबूत नहीं बनाती हैं, बल्कि आपके जोड़ो के लचीलेपन को भी बढ़ाती हैं। इससे आपको गठिया और हड्डियों की कमजोरी जैसी बीमारियाँ नहीं होती हैं। लचीलापन के अलावा जोड़ो में चिकनाइ बनाये रखने में भी यह मदद करता हैं। इसलिए जमीन पर पलथी मार कर बैठकर खाना भोजन करने का सबसे अच्छा तरीका हैं।




Loading...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

तेज पत्ते के फायदे.
खाली पेट दूध में तुलसी मिला कर पीने के फायदे.
कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करने के टिप्स.
फाइबर सबसे ज्यादा खाने वाली कौन सी चीजों में पाया जाता हैं?
ज्यादा समय तक जांघ पर लैपटॉप रखकर काम करने के नुकसान।
सुबह नाश्ता न करने से सेहत को होते हैं यह नुकसान।
अस्थमा यानि दमा की बीमारी को दूर करने के लिए उपयोगी घरेलु नुस्खे और आहार।
तिल के तेल के फायदे, उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय।
सलाद खाने के फायदे और सलाद के प्रकार जानिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *