Category Archives: Religion

इन पेड़-पौधों को लगाने से प्राप्त होते हैं शुभ फल।

कुदरत ने मनुष्य को पेड़-पौधे के रूप में महत्पूर्ण खज़ाना दिया हैं। वृक्षों की वजह से ही पर्यावरण सुरक्षित हैं। आयुर्वेद इन पेड़-पौधों को औषधीय मानता हैं, और इनके जड़, फूल, पत्ते, छाल आदि से औषधियों का निर्माण करता हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुछ पेड़-पौधे ऐसे हैं, जिन्हें लगाने से शुभ फल प्राप्त होते… Read More »

छछूंदर को भगाने का तरीका और इसके शुभ-अशुभ फल के बारे में जानिए।

छछूंदर एक ऐसा जीव हैं, जिसकी महक काफी दुर्गन्ध वाली होती हैं। छछूंदर को कुत्ते, बिल्ली, लोमड़ी आदि भी खाने से बचते हैं, क्योंकि छछूंदर के लार में काले नाग जैसा ज़हर होता हैं। इसलिए इसे कोई भी जानवर अपना शिकार बनाने से कतराता हैं। हां, उल्लू ही एक ऐसा जीव हैं जो छछूंदर को… Read More »

गरुण पुराण के अनुसार अंतिम संस्कार से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें।

हिन्दू धर्म अपने विशेष रीती-रिवाजों के लिए जाना जाता हैं। इस धर्म में जन्म लेने वाले व्यक्ति के पुरे जीवन में 16 संस्कार होते हैं। गरुण पुराण के अनुसार मनुष्य के अंतिम संस्कार करने के बाद 13 दिनों तक घर में छूत लग जाता हैं और 13 दिनों के पश्चात घर का शुद्धिकरण किया जाता… Read More »

जीवित्पुत्रिका व्रत (जिउतिया) की कथा और इसे कैसे मनाया जाता हैं।

भारत एक ऐसा देश हैं जहाँ पर विभिन्न प्रकार की संस्कृतियां हैं और यहाँ पर अनेकों त्यौहार मनाये जाते हैं। सभी व्रत और त्योहारों से सम्बंधित कुछ कहानियां और मान्यताये भी हैं। इन्ही त्योहारों में से हैं एक हैं जीवित्पुत्रिका व्रत यानी जीवित पुत्र के लिए रखे जाना व्रत। जीवित्पुत्रिका व्रत को जितिया या जिउतिया… Read More »

भीष्म पितामह ने पिछले जन्म में की थी गाय चोरी, इसलिए उन्हें भुगतनी पड़ी यातनाये।

भीष्म पितामह जब बाणों की शय्या पर लेटे थे तो उन्हें काफी ज्यादा पीड़ा हो रही थी। भीष्म पितामह को इच्छा मृत्यु का वरदान प्राप्त था। इसलिए अर्जुन ने जब भीष्म पितामह को अपने बाणों से छलनी कर दिया तो भीष्म पितामह ने अपने प्राण नहीं त्यागे। क्योंकि उस समय सूर्य देव दक्षिणायन में चल… Read More »