डिप्रेशन से बचने के तरीके एवं उपाय जानिए।

डिप्रेशन यानि अवसाद से बचने के तरीके और उपाय

अगर आप डिप्रेशन यानि अवसाद से बचना चाहते है तो इस लेख को जरूर पढ़े। क्योंकि आज हम आपको डिप्रेशन से बचने के उपाय और तरीके बताने जा रहे हैं। आज के भागम-भाग वाली ज़िन्दगी में लोगो को डिप्रेशन यानि अवसाद ज्यादा होने लगा हैं।

डिप्रेशन किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता हैं। क्योंकि आज छोटे बच्चे से लेकर बूढ़े तक सभी टेंशन में जी रहे हैं। जिसके चलते उन्हें अवसाद की समस्या हो सकती हैं। जैसे की बच्चों को पढ़ाई में अच्छे नंबर लाने की चिंता लगी रहती हैं तो युवाओं को जॉब और अच्छे पैसे कमाने की चिंता लगी रहती हैं। तो वहीँ माता-पिता को अपने बच्चों के भविष्य और उनके पालन-पोषक एवं पढ़ाई-लिखाई की चिंता लगी रहती हैं। इससे आज के युग में सभी लोग एक मानसिक युद्ध का सामना कर रहे हैं, जिसमे असफल होने पर लोग डिप्रेशन के मरीज़ बन रहे हैं।

टेंशन ज्यादा लेने के कारण मन अशांत हो जाता हैं और आप दुःख एवं निराशा का अनुभव करने लगते हैं। ऐसी स्तिथि में आप सही ढंग से काम नहीं कर पाते हैं। इससे शारीरिक और मानसिक दोनों ही तरीको से आप बीमार बनने लगते हैं।

अगर आप डिप्रेशन यानी अवसाद से बचना चाहते हैं तो खुद पर कण्ट्रोल करे। सिर्फ आप अपनी दिनचर्या और कुछ आदतों को सुधार लेंगे तो यह डिप्रेशन जैसी मानसिक बीमारी आपको छु भी नहीं पायेगी। अपनी सेहत का ख्याल रखे और ताज़े फलों और सब्जियों का सेवन करे। आइये जानते हैं डिप्रेशन से बचने का तरीका क्या हैं? इन तरीके और उपाय को अजमा कर आप डिप्रेशन जैसी गंभीर समस्या से कोसो दूर रहते हैं।

डिप्रेशन से बचने का तरीका और उपाय :-

1. अच्छे दोस्त बनाए

जब आपके पास अच्छे दोस्त होंगे तो वह आपको जरूरी सहानभूति देते हैं। इसके अलावा डिप्रेशन के समय अच्छे दोस्त आपको अच्छी सलाह भी देते हैं। इसके अलावा डिप्रेशन के समय अच्छा दोस्त आपको नेगेटिव विचारों और संदेहों को दूर करने में आपकी मदद भी करता हैं। इसलिए ज़िन्दगी में एक अच्छा दोस्त तो होना ही चाहिए।

2. आत्मिक जागरूकता हैं जरूरी

लोग डिप्रेशन के शिकार इसलिए हो जाते हैं क्योंकि वह अपने जीवन में घट रही घटनाओं को अच्छी तरह से जान नहीं पाते हैं और जीवन को धक्का दे दे कर चलाते हैं। वह स्तिथि के अनुसार आत्मिक जागरूकता की कमी की वजह से स्वयं को डिप्रेशन का शिकार बना लेते हैं।

3. पालतू जानवर घर में जरूर पाले

क्या आपको पता हैं की पालतू कुत्ते अपने मालीक से भली-भाँती जुड़ जाते हैं। रिसर्च के अनुसार जो लोग घर में पालतू जानवर रखते है, वे लोग डिप्रेशन से बहुत जल्दी बाहर निकल सकते हैं। जो लोग घर में अकेले रहते हैं वे डिप्रेशन की और भी गम्भीर स्तिथि में पहुच जाते हैं। जब आप इमोशनली अपने पालतू जानवर से जुड़ जाते हैं तो आपके नेगेटिव विचार अपने-आप दूर होने लगते हैं।

जरूर पढ़े :- घर में विभिन्न सुख पाने के लिए कौन सा जानवर रखना चाहिए? 

4. नौकरी को अलविदा कहे

अगर आपका जॉब और आपकी प्रोफेशनल लाइफ आपको ज्यादा टेंशन दे रहे है तो इसे छोड़ दे। इससे आपको मानसिक रूप से शान्ति मिलेगी। दिन ख़त्म होने पर अपने लक्ष्यों का मुल्यांकन करे और अपने संतुष्टि और खुशियों की तुलना जरूर करे। अगर आपकी नौकरी आपकी खुशियों में रूकावट बन रही हैं तो ऐसी नौकरी को छोड़ने में ही भलाई हैं।

5. मनोवैज्ञानिक की सलाह ले

डिप्रेशन दूर करने का सबसे आसान तरीका यह हैं की आप मनोवैज्ञानिक से परामर्श करे। साइक्लोगिस्ट की सलाह से डिप्रेशन को जल्दी ठीक करने और इसे दूर करने में आसानी होती हैं।

6. वजन को नियंत्रण में रखे

अगर मोटापे की वजह से आप depressed रहते हैं तो वजन को कम करके हैप्पी रखने की कोशिश करे। शारीरिक रूप से तंदुरस्त रहने पर आपके मन में पॉजिटिव ख्याल आने लगते हैं।

7. अपने आपको दुनिया से दूर करने से बचे

जब आप डिप्रेशन से पीड़ित हो जाते हैं तो अपने आपको दुनिया से अलग करना आसान होता हैं। लेकिन ऐसा करने से बचे, क्योंकि ऐसा करने पर आप अवसाद से बाहर नहीं निकल पाएंगे। इसलिए डिप्रेशन होने के बावजूद लोगो से मिलते-जुलते रहे, लोगो के बीच में रहे, इससे निराशा वाले विचारों से ध्यान हटाने में आसानी होती हैं।

8. अच्छी नींद लेनी हैं जरूरी

एक अच्छी नींद लेने से मन में पॉजिटिव एनर्जी का संचार होता हैं। रिसर्च के अनुसार जो लोग 7 से 8 घंटे की अच्छी नींद लेते हैं, उनमे कम सोने वाले लोगो के मुकाबले डिप्रेशन होने का ख़तरा काफी कम होता हैं।

जरूर पढ़े :- अच्छी नींद लेने के लिए 10 जरूरी टिप्स।

9. Blogging करे

आप अपनी रोजाना की जानी वाली गतिविधियों को भावनाओं को डायरी या फिर ब्लॉग पर जरूर लिखे। इससे आपको आत्मनिरीक्षण और विश्लेषण करने में आसानी होती हैं। जब आप ब्लॉग या डायरी पर रोजाना जीवन के बारे में लिखते हैं तो इससे आपको पता चलता हैं की आप इस समय क्या फील कर रहे हैं। जिससे डिप्रेशन को दूर करने में मदद मिलती हैं।

10. वर्तमान में जीना सीखे

अपनी पुरानी गलतियों और गीले-शिकवों या भूलों को भूल जाये। यानी की जो बीत गया उसके बारे में सोचना भी बेकार हैं। इसी तरह आने वाले भविष्य के बारे में सोचना भी फालतू हैं। इससे आपको व्यर्थ में चिंता हो जाएगी और क्योंकि बीता हुआ कल और आने वाले कल पर आपका कोई नियंत्रण नहीं हैं। इसलिए आज यानी वर्तमान में जीने की कोशिश करे। कहाँ, क्यों और कब का ख्याल छोड़ दीजिये और टेंशन और डिप्रेशन से छुटकारा पाए।

11. दुसरो को दोष न दे

ज्यादातर लोग बुरी स्तिथि में दूसरो को दोष देते रहते हैं। ऐसा करने से कुछ भी ठीक नहीं होता हैं। जब कोई आपके कण्ट्रोल में नहीं हैं तो उसे दोष देने से क्या फायदा। इसलिए दुसरो को दोष देना बंद करे।

12. संतुलित भोजन करे

भोजन में फल, सब्जियां, मीट, फल्लियाँ और कार्बोहाइड्रेट्स आदि का संतुलित आहार जरूर ले। इससे मन प्रसन्न रहता हैं, क्योंकि बैलेंस्ड डाइट के सेवन से न सिर्फ तन स्वस्थ्य बनता हैं बल्कि निराश मन भी अच्छा बन जाता हैं।

जरूर पढ़े :- संतुलित आहार के विभिन्न तत्व कौन से हैं?

13. प्रतिदिन व्यायाम जरूर करे

रोजाना कसरत करना डिप्रेशन से बचने और इसे दूर भगाने का बहुत ही सरल तरीका माना जाता हैं। इससे आपकी सेहत में सुधार होता हैं, जिससे शरीर में पॉजिटिव एनर्जी का संचार होता हैं। रोजाना एक्सरसाइज करने से बॉडी में सेरोटोनिन और टेस्टोंस्टेरोन हॉर्मोन्स का लेवल बढ़ता हैं, जिससे दिमाग को शान्ति मिलती हैं और डिप्रेशन पैदा करने वाले बुरे विचार दूर हो जाते हैं।

जरूर पढ़े :- सुबह कसरत करने के फायदे।

14. हर किसी ने आश न रखे की वह आपको समझे

लोग अपनी ज़िन्दगी दुसरो को खुश करने के लिए जीते हैं और इसमें असफल होने पर डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। सबको खुश रखना मुमकिन नहीं हैं, इसलिए अपनी संतुष्टि पर ज्यादा ध्यान दे। बजाये की दुसरो को खुश करने के।

15. कामेक्षा को नज़रंदाज़ न करे

वैसे तो डिप्रेशन के समय सम्भोग का आनंद लेने में दिक्कत महसूस होती हैं। लेकिन बहुत से लोग यह मानते हैं की सेक्स करने से डिप्रेशन को दूर करने में मदद मिलती हैं। इस क्रिया को करने से शरीर में जो हॉर्मोन्स उत्पन्न होते हैं, वह डिप्रेशन को दूर करते हैं और टेंशन से मुक्ति दिलाते हैं।

16. बुरी स्तिथि के बारे में न सोचे

वैसे तो यह माना जाता हैं की इंसान को आने वाली बुरी स्तिथि के बारे में जरूर सोचना चाहिए की कैसे बुरी स्तिथि का सामना करना हैं। लेकिन यह बात पुरानी हो चुकी हैं। ऐसा करने से आपका आगे बढ़ने का उत्साह कम होने लगता हैं, ऐसे में बुरी स्तिथि के बारे में सोचने से आप जीवन में कभी सफल नहीं हो पाएंगे।

17. नेगेटिव लोगो से दूरी बनाए

ऐसे लोगो से दूर रहे जो किसी दुसरो को निचा दिखाने का काम करते हो। जब आप नेगेटिव लोगो से दूर रहते है तो आपका मन शांत रहता हैं, जिससे आपका मन विवेकवान बन जाता हैं जिससे आपको काफी मदद मिलती हैं।

18. मदद मांगे

जीवन के मुश्किल हालातों में किसी से हेल्प मांगने में कोई बुराई नहीं हैं। क्योंकि कोई भी व्यक्ति जिंदगी का बोझ अकेला नहीं उठा सकता हैं। अपने बुरे समय में अपनी पत्नी, बच्चों, दोस्तों, सहकर्मियों आदि से मदद मांगने से आपको काफी रिलैक्स फील होगा।

19. संगीत का सहारा ले

जब आप अवसाद से घिर जाये तो अच्छा सा गाना या संगीत सूने। इससे आपका खराब मूड जल्दी सही होने लगता हैं। म्यूजिक में मूड को बदलने वाला गुण पाया जाता हैं। melody म्यूजिक सुनने से मन की निराशा दूर होने लगती हैं। लेकिन आपको ज्यादा भावनाताम्क संगीत नहीं सुनना चाहिए, वर्ना यह आपको और भी ज्यादा निराश कर सकते हैं। डिप्रेशन होने पर ऐसा संगीत सूने, जिसमे पॉजिटिव एनर्जी का संचार हो। और गम वाले गानों से दूर रहना भी जरूरी हैं।

जरूर पढ़े :- म्यूजिक (संगीत) सुनने के फायदे।

20. काम से छुटियाँ भी लेते रहे

अगर आप डिप्रेशन महसूस कर रहे हैं तो काम से छुट्टी ले और किसी टूर पर निकल जाये। जब आप नयी जगह पर घूमने के लिए चले जायेंगे तो आपको डिप्रेशन से बाहर निकलने में भी आसानी होगी। जो लोग नियमित रूप से छुट्टियों पर जाते है, उन्हें लाइफ की बोरनेस से निकलने में आसानी होती हैं और वे लोग डिप्रेशन से भी बचे रहते हैं।








इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *