पायरिया दूर करने के असरदार घरेलु नुस्खे, उपाय और तरीके।

पायरिया दूर करने के असरदार घरेलु नुस्खे, उपाय और तरीके।

क्या आप पायरिया दूर करने के घरेलु नुस्खे एवं उपाय के बारे में जानना चाहते हैं? तो यह लेख जरूर पढ़े। Home Remedies & Treatment of Pyorrhea in Hindi.

जो लोग भोजन के पश्चात दांतों की अच्छी तरह से साफ़-सफाई नहीं करते हैं, उन्हें पायरिया की बीमारी हो जाती हैं। पायरिया दांतों में होने वाली खतरनाक बीमारी हैं, जिससे दांतों के आसपास की मसल्स भी प्रभावित हो जाती हैं, जिससे उन्हें काफी नुकसान होता हैं। यह बीमारी सिर्फ दांतों से जुडी हुई नहीं हैं, बल्कि यह बीमारी सेहत से जुड़े हुए कारणों से भी होती हैं। पायरिया की बीमारी दांतों और मसूडो में पैदा होने वाले बैक्टीरिया के कारण होती हैं।

पायरिया की बीमारी होने के लक्षण और इसके होने की वजह :-

पायरिया होने पर मूंह से बदबू आने लगती हैं, मसूड़े फूल जाते हैं और मसूड़ो में सूजन की समस्या देखने को मिलती हैं। पायरिया होने के लक्षण यह हैं की इससे दांतों में बहुत ज्यादा दर्द बना रहता हैं और दांतों पर बहुत ज्यादा मैल जमी नज़र आती हैं। पायरिया होने के संकेत यह हैं की इस बीमारी में मसूड़ो में जलन होने लगती हैं और हल्का सा मसूड़ो को छूने पर मसूड़ो में से खून निकलने लगता हैं। यह सभी लक्षण पायरिया होने के संकेत होते हैं। अगर आप समय रहते इस बीमारी का उपचार नहीं करवाते हैं तो इससे आपके सारे दांत खराब होकर निकल सकते हैं।

कई लोग ऐसे भी हैं जो दांतों को ब्रश से अच्छी तरह से साफ़ कर लेते हैं, लेकिन जीभ की साफ़-सफाई का ध्यान नहीं रखते हैं। वह जीभ को ऐसे ही छोड़ देते हैं, जिस वजह से मूंह में बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। यही बैक्टीरिया आगे चलकर पायरिया की बीमारी होने की वजह बन जाते हैं।

जैसा की बीमारी हैं तो उसका इलाज भी हैं, इसी तरह पायरिया की बीमारी का भी इलाज हैं। आप पायरिया को दूर करने के लिए आयुर्वेद के उपचार एवं घरेलु नुस्खे को अजमा सकते हैं। वक़्त रहते आपको इन उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय को अजमाना चाहिए, नहीं तो आपके मसूड़ो की सड़न से आपके सारे दांत सड़ चुके होंगे। पायरिया से बचने और इसे ख़त्म करने के लिए आप इन उपयोगी घरेलु नुस्खे, उपाय और उपचार को जरूर अजमाए।

पायरिया दूर करने के असरदार घरेलु नुस्खे और उपाय :-

नमक और हल्दी

चुटकी भर नमक और हल्दी में 4 से 5 बूंदे सरसों के तेल की मिलाये और इस पेस्ट को ऊँगली की सहायता से दांतों पर लगाये। इस मिश्रण को दांतों पर 20 मिनट का लगा रहने दे। और मूंह में जब लार आने लगे तो इस लार को मूंह से बाहर निकालते रहे। इस घरेलु इलाज को अजमाने से भी पायरिया को ठीक करने में मदद मिलती हैं।

प्याज से करे पायरिया का उपचार

प्याज के टुकडे को तवे पर गर्म करे और दांतों के नीचे दबाकर रखे और मूंह को बंद करले। इस तरह 10 से 12 मिनट तक प्याज को दांतों के नीचे दबाकर रखे। फिर आपके मूंह में लार जमा होने लगेगी। इस लार को मूंह के चारों ओर घुमाए और फिर इसे थूक दे। दिन में 4 से 5 बार ऐसा करे और इस घरेलु उपचार को 8 से 10 दिन तक अजमाए। इससे पायरिया जड़ से खत्म हो जायेगा। इस उपाय को अजमाने का सबसे बड़ा फायदा यह हैं की इससे दांतों के कीड़े भी मर जाते हैं और मसूड़े मजबूत बन जाते हैं।

सूखे मसाले का दन्त-मंजन

दालचीनी, दक्षिणी सुपारी, जीरा, हरड़ और सेंधा नमक को बराबर मात्रा में मिलाये और इसे बंद बरतने में जला कर पीस ले। इस मंजन से रोजाना दांतों को साफ़ करे, यह पायरिया को ख़त्म करने में काफी असरदार माना जाता हैं।

नीम के पत्तियों से करे पायरिया का इलाज

नीम की पत्तियों को अच्छी तरह से धो ले और इन्हें छाया में सूखा ले। फिर इन पत्तियों को बर्तन में जला कर राख बना ले। जब पत्तियां जल जाये तो बर्तन को ढक ले और इस नीम की पत्तियों की राख में कुछ समय के पश्चात सेंधा नमक मिलाये। इस मिश्रण को शीशी में भरकर रख ले और इस अद्भुत दन्त-मंजन से दिन में 3 से 4 बार दांतों में मंजन करे।

इसके अलावा नीम के पत्तियों की राख में कोयले का चूरा और कपूर मिला कर रोजाना रात को दांतों में लगाकर सोने से भी पायरिया के उपचार में मदद मिलती हैं। इसके अलावा यह मिश्रण मसूड़ो खून आना भी बंद कर देता हैं और मसूड़ो के आसपास पस को पैदा होने से भी रोकता हैं। इससे मूंह से आने वाली बदबू भी दूर हो जाती हैं। आप चाहे तो नीम की दातुन से अपने दांतों को साफ़ कर सकते हैं।

घी और कपूर

घी में कपूर मिलाये और इस मिश्रण को दांतों पर मले। इससे भी पायरिया को ख़त्म करने में आसानी होती हैं।

कच्चे अमरुद का सेवन करे

कच्चे अमरुद में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। जिस कारण यह दांतों और मसूड़ो के लिए काफी लाभकारी होता हैं। पायरिया की समस्या होने पर कच्चे अमरुद पर थोड़ा सा नमक लगा कर खाए। इससे पायरिया के इलाज में काफी ज्यादा लाभ होता हैं।

सरसों का तेल और सेंधा नमक

पायरिया के उपचार हेतु यह बहुत ही प्राचीन और मशहूर घरेलु तरीका हैं। सरसों के तेल में सेंधा नमक मिला कर दांतों पर लगाए। इससे दांतों से आने वाली बदबू और खून निकलना बंद हो जाता हैं। इससे दांत भी मजबूत बनते हैं, इसे पाइरिया को जड़ से ख़त्म करने के लिए काफी कारगर नुस्खा माना जाता हैं।

अरंडी का तेल

200 ml अरंडी के तेल में 5 ग्राम कपूर और 100 ml शहद अच्छी तरह से मिक्स करे। इस मिश्रण को एक कटोरी में रखे और नीम की दातुन को इसमें डुबो कर दांतों पर मलते रहे। ऐसा कई दिन तक लगातार करते रहे। इसे भी पायरिया को दूर करने का अच्छा घरेलु उपाय और इलाज माना जाता हैं।

आंवला

आंवले को जला कर सरसों के तेल में मिलाये और इस पेस्ट से मसूडो पर धीरे-धीरे करके मालिश करे। पाईरिया की बीमारी में काफी ज्यादा फायदा होता हैं।

काली मिर्च

काली मिर्च के चूरे में थोड़ा सा नमक मिला कर दांतों पर मले। इससे भी पायरिया की बीमारी से छुटकारा पाने में आसानी होती हैं।

पायरिया होने पर क्या करे और क्या नहीं करे :-

1. पायरिया की बीमारी होने पर धुम्रपान और तम्बाकू का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि स्मोकिंग और तम्बाकू आदि का सेवन इस समस्या को और भी ज्यादा गंभीर बना देते हैं।

2. इस समस्या में पेट में कब्ज़ न होने दे। गर्म पानी में सेंधा नमक मिला कर नहाने से भी फायदा होता हैं।

3. विटामिन सी वाले फल जैसे की आंवला, संतरे, अमरुद, अनार आदि का सेवन ज्यादा मात्रा में करे।

4. दिन में 2 बार जरूर ब्रश करे। इससे  बीमारी को दूर करने में आसानी होती हैं।

5. पायरिया की बीमारी होने पर ढेर सारा पानी पीजिये, इससे शरीर से ज़हरीले तत्वों को बाहर निकलने में मदद मिलती हैं।

6. पायरिआ के मरीज़ को बिना मसाले वाली उबली सब्जियों को ही खाना चाहिए।

आयुर्वेद की माने तो पायरिया दांतों की सही देखभाल न करने, अस्वस्थ्य खानपान और पेट के साफ़ न होने की वजह से होता हैं। इसलिए इन बातों का भी ख्याल रखे।








इन्हें भी जरूर पढ़े...