अस्थमा यानि दमा की बीमारी को दूर करने के लिए उपयोगी घरेलु नुस्खे और आहार।

अस्थमा यानि दमा की बीमारी को दूर करने के लिए उपयोगी घरेलु नुस्खे और आहार।

अस्थमा जिसे दमा भी कहा जाता हैं, साँसों से सम्बंधित बीमारी हैं। दमा होने पर रोगी को सांस लेने और छोड़ने में दिक्कत होने लगती हैं। दमा की बीमारी में रोगी ज़ोर ज़ोर खांसता हैं और उसे ऐसा महसूस होता हैं की जैसे उसके प्राण ही निकल जायेंगे। आज हम आपको अस्थमा यानि दमा दूर करने के लिए उपयोगी घरेलू नुस्खे और उपाय के बारे में बताएँगे। साथ ही हम आपको यह भी जानकारी देंगे की दमा होने पर क्या खाना चाहिए? ऐसी कौन सी चीज़े हैं, जिन्हें खाने पर दमा में आराम मिलता हैं? Home Remedies & Best Food for Asthma in Hindi.

अस्थमा के पेशेंट को साँस बाहर निकालने में सबसे ज्यादा परेशानी होती हैं। ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि श्वशन प्रणाली में सूजन हो गयी होती हैं। इसके अलावा जिस समय दमे के मरीज़ को दौरा पड़ता हैं, उस समय उसकी हालत बहुत ज्यादा नाज़ुक हो जाती हैं। दमा का दौरा पड़ने पर रोगी को तुरंत इलाज की जरूरत होती हैं, नहीं तो उसकी जान भी जा सकती हैं।

दमा होने की वजह क्या हैं?

दमा होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे की धूल, धुँआ, प्रदूषण, खराब मौसम, इत्र, एलर्जी वाली चीजों का सेवन आदि।

दमा के उपचार के लिए घरेलु नुस्खे और उपाय और क्या खाना चाहिए : –

1) लहसुन के प्रयोग से करे दमा का इलाज

दमे की बीमारी को ख़त्म करने के लिए लहसुन बहुत ही असरदार घरेलु नुस्खा हैं। लहसुन की 10 कलियों को 30 ml दूध में उबाले और इस मिश्रण को दिन में एक बार जरूर पीजिये। इससे न सिर्फ दमा दूर हो जायेगा, बल्कि पूरा शरीर ही स्वस्थ्य बन जाता हैं।

2) करेले की जड़ों से दमे से पाए छुटकारा

करेला की जडें मेडिकल गुणों से भरपूर होती हैं। इसके इस्तेमाल से शरीर की कई सारी बिमारियों को ठीक किया जा सकता हैं। करेले की जड़ों को पीस ले (लगभग 1 चम्मच जितना) और उतनी ही मात्रा में शहद मिलाये। शहद की जगह पर आप तुलसी के पत्तो का रस भी मिला सकते हैं। इस मिश्रण को 1 महीने तक रोजाना रात के समय पिए। इससे दमा जड़ से ख़त्म हो जायेगा, क्योंकि यह दमा के उपचार के लिए रामबाण घरेलु उपाय माना जाता हैं।

3) शहद का घरेलु नुस्खा

अस्थमा की बीमारी में शहद काफी ज्यादा लाभकारी होता हैं। अस्थ्मे के रोगी की नाक के नीचे एक जगह शहद रख दिया जाता हैं। ऐसा करने के बाद जो वायु शहद के संपर्क में आती हैं, उस शहद वाली हवा को जब दमा का मरीज़ नाक से अन्दर खिचता हैं। तो उसे दमे के दौरे से फ़ौरन ही आराम मिलने लगता हैं।

4) अदरक की चाय और अदरक शहद का काढ़ा

दमा से आराम पाने के लिए मरीज़ को अदरक वाली चाय को जरूर पीना चाहिए। इससे कफ़ शरीर से बाहर निकल जाती हैं, जिससे सांस लेने और छोड़ने में आसानी होती हैं। इसके अलावा 1 कप पानी मे थोड़ा अदरक मिला कर उबाल ले और इसमें आप थोड़ा शहद भी मिला ले। इस अदरक वाले काढ़े को दिन में 2 से 3 बार पीने से लाभ मिलता हैं।

5) निम्बू पानी पीजिये

निम्बू के सेवन से अस्थमा का मरीज़ अंदरूनी रूप से मजबूत बन जाता हैं और निम्बू दमे का दौरा पड़ने से भी बचाता हैं। भोजन करते समय एक गिलास निम्बू पानी जरूर पीना चाहिए। इससे शरीर बहुत ज्यादा ताकतवर बन जायेगा, जिससे दमा का असर कम करने में मदद मिलती है। इससे अलर्जन्स का प्रभाव भी आप पर कम पड़ेगा।

6) अंजीर का सेवन करे

दमे के मरीजों को अंजीर जरूर खाना चाहिए। यह दमे से राहत दिलाता हैं। इसके सेवन से शरीर से कफ़ बाहर निकालने में मदद मिलती हैं, जिसके कारण रोगी आसानी से सांस ले पाता हैं।

7) सहजन की पत्तियों से करे उपचार

सहजन की पत्तियों से कई सारी बिमारियों का इलाज किया जाता हैं। इस औषधीय गुणों से भरपूर पत्तियों से दमे का उपचार भी किया जा सकता हैं। इसके लिए सहजन की पत्तियों को पानी में उबाल कर सूप बनाये और फिर इस सूप को ठंडा करके इसमें काली मिर्च और स्वादानुसार नमक मिला कर पीजिये। इस सूप को रोजाना पीने से दमे से मुक्ति मिलती हैं।

सम्बंधित लेख जिन्हें आपको जरूर पढ़ना चाहिए :- 

सूखी खांसी से राहत दिलाते हैं यह 10 उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय। 

फेफड़ो को हेल्दी रखने वाले सर्वोतम आहार। 

सर्दी-जुकाम दूर करने के आसान घरेलु नुस्खे। 

गले की खराश और दर्द को दूर करने के घरेलु नुस्खे और उपाय। 

बंद नाक को खोलने के घरेलु तरीके और उपाय। 



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...