आंवला के घरेलु नुस्खे और उपाय और उससे होने वाले फायदे।

आंवला के घरेलु नुस्खे और उपाय और उससे होने वाले फायदे।

आंवला बहुत ही गुणकारी फल हैं। इसलिए अच्छे स्वास्थ्य के लिया इसका सेवन जरूर करना चाहिए। आंवले का इस्तेमाल ज्यादातर मुरब्बा या आचार के रूप में किया जाता हैं। विज्ञान और आयुर्वेद दोनों ही आंवले के स्वास्थ्यवर्धक लाभ को मानते हैं। आंवले का इस्तेमाल कई उपयोगी घरेलु नुस्खो में भी किया जाता हैं। चलिए जानते हैं आंवले के उपयोगी घरेलु नुस्खे और उनसे होने वाले लाभ के बारे में।

Amla ke gharelu nuskhe aur Fayde. Benefits & Home Remedies of Amla in Hindi.

आंवले के घरेलु नुस्खे और उसके फायदे :-

1. आंवला चूर्ण को अश्वगंधा की जड़ में बराबर मात्रा में मिला कर पीस ले। इस चूर्ण को दिन में कम से कम 2 बार खाए। यह मधुमेह को कण्ट्रोल करने का सबसे बढ़िया उपाय हैं और यह पुरुषो की कमजोरी को भी दूर करने के लिए जाना जाता हैं।

2. आंवले को पीस कर कर घी में भून ले, इस मिश्रण को सूंघने से नकसीर यानि की नाक से खून निकलना ख़त्म हो जाता हैं। इस मिश्रण को नाक के बाहर लगाने से भी नकसीर में आराम मिलता हैं।

3. आंवले को तिल के साथ मिला कर 20 दिन तक लगातार सुबह खाली पेट खाने से शरीर चुस्त-दुरुस्त हो जाता हैं। यह बहुत ही स्वास्थ्यवर्धक मिश्रण हैं।

4. आंवले की चूर्ण को शहद के साथ मिला कर खाने से यौन शक्ति बढ़ती हैं।

5. डायबिटीज को दूर करने के लिए एक गिलास आंवले के जूस में 2 ग्राम हल्दी पाउडर मिला कर पीने से डायबिटीज कण्ट्रोल में रहती हैं और शरीर में स्फूर्ति बनी रहेगी। रिसर्च भी आंवले और हल्दी का यह मिश्रण डायबिटीज के उपचार में बहुत ही लाभदायक बताते हैं।

6. शारीरिक शक्ति और मजबूती के लिए आंवले के चूरन में गिलोय के तने का चूर्ण मिला कर लेने से शरीर में उर्जा का संचार होता हैं। इस मिश्रण में छोटा गोखरू की जड़ो के चूर्ण को भी मिला लिया जाये और दूध के साथ इसे रात को सोने से पहले पिया जाये तो आपको शारीरिक ताकत प्राप्त होगी।

7. सूखे आंवले और सूखे आंवले की पत्तियों की 4-4 ग्राम मात्रा को पीस ले। पर इस पाउडर में हल्दी पाउडर मिलाये। दिन में कम से कम 2 बार इस पाउडर को लेने से डायबिटीज में बहुत ही ज्यादा फायदा होता हैं।

8. आंवले के रस करीब 5 मिली लीटर तैयार करे और इसमें 5 ग्राम देसी गाय का घी मिलाये। इसे प्रतिदिन रात को सोने से पहले लेने से वीर्य में शुक्राणुओं की कमी को दूर किया जा सकता हैं। एक महीने तक लगातार प्रयोग करने पर आपको फर्क दिखाई देने लगेगा।

9. आंवले को चित्रक की पत्तियां और पीपल की छाल की 6-6 ग्राम मात्रा को 40 मिली पानी के साथ उबाले, फिर इस काढ़े को बुखार से ग्रस्त रोगी को दिन में 4 से 5 घंटो को अंतर पर पिलाये। इससे बुखार उतर जाता हैं।

10. मूंह में छालें होने पर आंवले की पत्तियां बहुत ही फायदेमंद साबित होती हैं। मूंह के छालों से राहत पाने के लिए आंवले की पत्तियों को चबाये, इससे आपको आराम मिलेगा। कई बार खाना खाते समय जीभ दांतों के नीचे आ जाता हैं और खून निकलने लगता हैं, तब ही आंवले की पत्तियों को चबाने से आराम मिल जाता हैं।

11. पेशाब में जलन की समस्या से परेशान हैं तो आंवले के रस में स्वादानुसार चीनी, शहद और घी मिला कर पीने से पेशाब की जलन दूर हो जाती हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...