आखिर 4G और 4G LTE में क्या अन्तर हैं?

आखिर 4G और 4G LTE में क्या अन्तर हैं?

आजकल स्मार्टफोन का चलन तेज़ी से बढ़ रहा हैं और इससे टेलीकॉम इंडस्ट्री को फायदा हो रहा हैं। पहले जब मोबाइल पर 2G के जरिये कालिंग होती थी। इसके बाद 3G की टेक्नोलॉजी आई। इसमें यूजर कॉल के साथ इन्टरनेट भी चला सकते थे। अब लोगो का अपने मोबाइल पर ज्यादा इन्टरनेट का इस्तेमाल करने लगे। लेकिन कंपनियों ने नेट की स्पीड को और ज्यादा तेज़ बनाने के लिए 4G की टेक्नोलॉजी अपनाई। इसमें बताया गया की 3G के मुकाबले इसकी स्पीड 3 से 4 गुणा ज्यादा तेज़ होगी। लेकिन 4G के आने से पहले ही 4G LTE लांच हो गया। अगर आप जानना चाहते हैं की आखिर 4G और 4G LTE में क्या अंतर हैं तो यह लेख पूरा पढ़े।

आखिर 4G क्या हैं ?

आसान लफ्जों में कहे तो 4G एक वायरलेस मोबाइल टेक्नोलॉजी हैं। 4G यानी की Fourth Generation, मोबाइल नेटवर्क सर्विस हैं जो इन्टरनेट के मामले में 3G से कंही ज्यादा तेज़ होगी। यानी की इसमें 3जी के मुकाबले डाटा को अपलोड और डाउनलोड करने की सुविधा काफी तेज़ होती हैं। जहां 3G नेटवर्क पर आपको एवरेज 14एमबीपीएस की डाउनलोडिंग स्पीड मिलती हैं और अपलोडिंग स्पीड 5 एमबीपीएस होती हैं, वहीँ पर 4G में Downloading Speed 100 MBPS और Uploading Speed 50 MBPS होने की बात कही जाती हैं।

4G LTE क्या हैं?

LTE, Long Term Evolution नयी वायरलेस मोबाइल ब्रॉडबैंड तकनीक हैं। 4G टेक्नोलॉजी भी इसी तकनीक पर ही काम करता हैं। इस तकनीक को खास करके डाटा ट्रांसमिशन के लिए बनाया गया हैं। जिससे यह बहुत ही तेज़ी के साथ डाटा को ट्रांसफर करता हैं। इसके तहत डाटा के ट्रांसफर में Spectrum की वही भूमिका होती हैं जो यातायात के लिए हाइवे की होती हैं।

4G और 4G LTE में अंतर क्या हैं?

4G सर्विस लाने की जब बात हुयी थी तो Regularity Authority ने 4G स्पीड की एक लिमिट तय की थी। इसकी स्पीड 3G से कई गुणा ज्यादा होगी। हालाँकि सभी टेलिकॉम कंपनियों ने अपने बैंडविथ पर 4G डाटा ट्रेवल करवाना शुरू कर दिया था। लेकिन यह टेलिकॉम कंपनिया अपने वादों पर खरा नहीं उतर सकी और 4G की वह स्पीड नहीं दे सकी जो हकीकत में 4G की स्पीड मानी जाती हैं। ऐसे में 4G LTE का कांसेप्ट सामने आया। उन्होंने सोचा की हम यूजर को 4G की स्पीड दे पाने में क्षक्षम नहीं हैं तो 3G और 4G के बीच का रास्ता अपनाया जाये। इसलिए उन्होंने 4G LTE टेक्नोलॉजी को अपनाया जिसमे इसकी स्पीड 3G से ज्यादा तो होगी, लेकिन 4G जितनी नहीं होगी। लेकिन इसे 4G LTE इसलिए कहते हैं क्योंकि यह  Fourth Generation से जुड़ी हुआ हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

गंगा नदी से जुड़ी हुई रोचक बातें और जानकारी।
फ़ोन को चार्ज करते समय जरूर याद रखे यह 5 बातें।
GST बिल क्या हैं और इसके क्या फायदे हैं?
मौलवी की दाढी बनी मुसीबत, पत्नी ने कहा शेव नहीं कराई तो...
सूरज के बारे में 21 रोचक जानकारी जरूर पढ़े.
घरों में इस्तेमाल होने वाले स्टेनलेस स्टील के बर्तन अब नहीं टूटेंगे
PPF क्या हैं और इसका अकाउंट खुलवाने के क्या फायदे हैं?
आखिर 20 रुपये का नोट गुलाबी रंग का क्यों होता हैं?
जानिए घर में अकेले होने पर लड़कियां क्या करती हैं?
मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी क्यों बनाई और चढ़ाई जाती हैं?
क्या नूडल्स खाना चाहिए या नहीं? नूडल्स सेहत के लिए अच्छा हैं या बुरा?
रियल लाइफ के ऐसे लोग जिनके पास सचमुच में सुपर नेचुरल शक्तियाँ हैं।

6 thoughts on “आखिर 4G और 4G LTE में क्या अन्तर हैं?

    1. admin Post author

      दिपक जी कहने का मतलब यह हैं की 4G के नाम पर जो टेलिकॉम कंपनिया 4G की सर्विस दे रही हैं, असल में वह 4G की स्पीड नहीं दे पा रही हैं तो उन्होंने 3G से थोडा ज्यादा स्पीड और 4G से थोड़े कम स्पीड यानी की बीच का रास्ता अपना लिया हैं.. जिसे वह 4G LTE का नाम दे रहे हैं.. इस 4G LTE में 4G तकनीक का ही इस्तेमाल किया गया हैं, लेकिन यह 4G स्पीड के मुकाबले उतना ज्यादा तेज़ नहीं हैं…

    1. admin Post author

      VoLTE में voice कालिंग के लिए भी 4G LTE का ही इस्तेमाल किया जाता हैं… कहने का मतलब यह हैं की VoLTE में voice कालिंग करने के लिए डाटा का इस्तेमाल होता हैं.. इसमें आवाज़ को भी डाटा के जरिये ही एक जगह से दूसरी जगह भेजा जाता हैं…

Comments are closed.