इलाइची खाने के फायदे और इसके उपयोगी घरेलु नुस्खे और उपाय जानिए।

Elaichi khane ke fayde. Benefits of Cardamom in Hindi.

इलायची खाने में सुगंध बढ़ाने के लिए मसाले के रूप में इस्तेमाल की जाती हैं। आज हम आपको छोटी इलाइची यानी हरी इलाइची खाने के फायदे बताने जा रहे हैं। आइये जानते हैं इलायची खाने के फायदे क्या हैं और भोजन में इलाइची मिला कर क्यों खाना चाहिए? साथ में इलाइची के घरेलु नुस्खे और उपाय भी जानेंगे। Health Benefits of Elaichi in Hindi.

इलायची मसालों की रानी हैं, साथ ही इसका इस्तेमाल माउथ फ्रेशनर के रूप में भी किया जाता हैं। इलाइची का वैज्ञानिक नाम Elettaria Cardamom हैं। वैसे तो इलाइची का इस्तेमाल भोजन में महक और स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता हैं। लेकिन ग्रामीण इलाकों के बुज़ुर्ग इसका इस्तेमाल कई सारी बिमारियों को दूर करने के लिए किया करते हैं। आइये जानते हैं इलाइची के घरेलु नुस्खे, उपाय और इसके फायदे।

इलाइची खाने के फायदे, घरेलु नुस्खे और उपाय :-

1. इलाईची में कैंसर से लड़ने वाले तत्व जैसे की Indole-3, Carbinol, dayaindolila और methane पाए जाते हैं। यह कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकने हैं, ऐसे में इलाइची का सेवन करने से कैंसर होने का ख़तरा काफी कम हो जाता हैं।

2. इलाइची बेहतरीन detox की तरह काम करती हैं। इसके सेवन से मूत्र त्याग की प्रक्रिया तेज़ बनती हैं। यह यूरिन सिस्टम, किडनी और ब्लैडर से मिनरल्स और ज्यादा पानी के अलावा कई तरह के toxins को बाहर निकलने में सहायता करती हैं। यानी की आसान भाषा में कहा जाये तो इलाइची खाने से शरीर की अंदरूनी रूप से सफाई हो जाती हैं।

3. अगर उल्टी आने, चक्कर आने और जी घबराने और मचलाने की समस्या हो रही हैं तो पान के ताज़े हरे पत्ते में इलाइची के दाने मिला कर चबाना चाहिए। इससे आपको काफी ज्यादा फायदा होगा और इन समस्याओं से आराम मिलेगा। उल्टी या मतली आने के बाद इलाइची खाने से काफी ज्यादा राहत मिलती हैं।

4. हरी इलाइची यानि छोटी इलाइची को चबाते रहने से मूंह से आने वाली बदबू दूर हो जाती हैं। साथ ही इससे पेट में गैस और कब्ज़ भी नहीं रहती हैं। यह साँसों से आने वाली गन्दी दुर्गन्ध को दूर करता हैं।

5. पेशाब से सम्बंधित समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए मीठी नीम के जड़ों का रस तैयार करे। इस रस की 20 ग्राम मात्रा में 2 चुटकी इलायची के दाने पीस कर मिलाये। इस रस को रोगी को पिलाये, इससे उसे काफी ज्यादा फायदा होगा।

6. अपच की समस्या होने पर हर्रे के बीजों का चूर्ण एक चम्मच लेकर उसमे एक या 2 चम्मच इलाइची पाउडर और थोड़ी सी अजवाइन मिला कर खाना चाहिए। इससे अपच की समस्या तो दूर होती ही हैं, साथ ही यह प्राचीन घरेलु नुस्खा पाचन क्रिया को सुचारू बना कर कब्ज़ से भी छुटकारा दिलाता हैं।

7. जिन लोगो को पेशाब करते समय दर्द या कठिनाई महसूस होती हैं, उन्हें विदारीकंद, लौंग और इलाइची को बराबर मात्रा में मिला कर दिन में 3 बार चबाना चाहिए। इससे उनकी समस्या धीरे-धीरे करके समाप्त हो जाएगी।

8. पेशाब में जलन की समस्या से जूझ रहे मरीज़ को सफ़ेद मुसली की जड़ों का चूर्ण लगभग 5 ग्राम के साथ 2 से 3 ग्राम इलाईची मिला कर एक कप दूध में उबाल कर दिन में 2 बार पीना चाहिए। इलाइची की तासीर ठंडी होती हैं, यानी की इलाइची शीतल प्रकृति वाली हैं, इसलिए इस नुस्खे को अपनाने से पेशाब में होने वाली जलन की समस्या दूर होने लगती हैं और आपको ठंडक का अहसास भी होता हैं।

9. हर्बल जानकारों के मुताबिक 2 ग्राम छुईमुई की जड़ों को 3 ग्राम सेमल की छाल और 3 से 4 इलाइची को एक साथ मिला कर मिश्रण तैयार करे। इस मिश्रण को रोजाना सोने से पहले एक गिलास दूध के साथ पीने से पुरुषो में मर्दाना ताकत बढ़ने लगती हैं और वीर्य भी गाढ़ा होने लगता हैं।

10. हर्बल जानकारों की माने तो काली मुसली 5 से 10 ग्राम, बादाम एक या 2, चिरोंजी के दाने 2 ग्राम और 3 इलाइची को मिला कर मिश्रण बनाये। इस मिश्रण को रात को सोने से पहले खाए, इससे पुरुषो में होने वाली नपुंसकता धीरे-धीरे करके समाप्त होने लगती हैं। इलाइची दरअसल कमजोरी को दूर करने वाला मसाला हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *