उपवास (व्रत) करने के फायदे जानिए

उपवास (व्रत) करने के फायदे.

प्रत्येक व्यक्ति को व्रत यानी उपवास जरूर रखना चाहिए। हिन्दू धर्म में उपवास करने का बहुत ज्यादा महत्व हैं। शायद ही कोई ऐसा दिन हो जिस दिन कोई उपवास या व्रत नहीं रखा जा सकता हो। मतलब की हर दिन कोई न कोई  उपवास रखने का दिन होता ही हैं। व्रत का मतलब होता हैं संकल्प या दृढ़ निश्चय। तो दूसरी ओर इसका आध्यात्मिक अर्थ हैं ईश्वर के निकट बैठना। आज के लेख में हम उपवास (व्रत) रखने के फायदे जानने।

दरसल व्रत का सम्बन्ध हमारे शारीरिक और मानसिक शुद्धिकरण से होता हैं। उपवास करते समय भोजन का त्याग करके खाली पेट रहना पड़ता हैं। परन्तु आज के युग में लोग उपवास के नाम पर काफी ज्यादा चीजों का सेवन करने लगे हैं। जिसके कारण उन्हें कई सारी बीमारियाँ भी हो जाती हैं।

व्रत रखने से सेहत को ठीक रखने में मदद मिलती हैं। परन्तु व्रत से पहले बहुत ज्यादा मात्रा में भोजन कर लेने से इससे नुकसान ही होता हैं। इसलिए व्रत के दौरान सिर्फ फलाहार ही खाना चाहिए, जिससे शरीर हेल्दी रह सके। Health Benefits of Fasting in Hindi.

उपवास (व्रत) रखने के फायदे :-

1) उपवास करने से मन शांत और स्थिर होने लगता हैं। जिससे मानसिक तनाव को कम करने में आसानी होती है।

2) व्रत रखने का फायदा यह भी हैं की इससे पाचन तन्त्र को आराम मिलता हैं। जिससे शरीर में जमा ज़हरीले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। साथ ही इससे हमारा पाचन तंत्र भी ठीक रहता हैं।

3) उपवास करने से मोटापे की समस्या से भी निजात मिलती हैं। साथ ही इससे धर्म के मामले में भी लाभ होता हैं।

4) जो मनुष्य कोई न कोई व्रत जरूर रखता हैं, उसका शरीर हमेशा स्वस्थ्य रहता हैं। व्रत रखने से पेट से जुड़ी हुई बिमारियों से मुक्ति भी मिलती हैं।

5) उपवास रखने का लाभ यह भी की अगर मौसम में बदलाव की अवस्था में व्रत रखने से ऋतू संक्रमण काल की बीमारियाँ मनुष्य के निकल नहीं आती हैं। जिससे मौसमी बिमारियों से बचने में मदद मिलती हैं।

6) व्रत रखने से भोजन पर कंट्रोल होने लगता है, जिससे किसी भी बीमारी होने का ख़तरा काफी कम हो जाता हैं। साथ ही इससे बॉडी भी हेल्दी रहती हैं।

7) व्रत रखने से आध्यात्मिक शक्ति में वृद्धि होती हैं। साथ ही इससे विचार, ज्ञान, बुद्धि, पवित्रता का भी विकास होता हैं। इसी वजह से पूजा पद्धति में उपवास को शामिल किया गया हैं।

8) व्रत करने से मनुष्य में भूखे रखने और भूख को सहन करने की इच्छा शक्ति में बढ़ोतरी होती हैं।

9) उपवास करने से गैस, एसिडिटी, अजीर्ण, अरुचि, बुखार, सिरदर्द, मोटापा, कब्ज़ जैसी कई बिमारियों से छुटकारा पाने में मदद मिलती हैं।

10) प्रत्येक व्यक्ति को हफ्ते में एक दिन उपवास जरूर रखना चाहिए। उसे अपना सारा दिन फल और जल पर भी बिताना चाहिए। इससे शरीर की अंदरूनी रूप से सफाई भी हो जाती हैं।







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *