कच्चा केला खाने के फायदे और नुकसान जरूर पढ़े.

Kaccha Kela khane ke fayde aur nuksaan kya hain? What is the health Benefits & Side-effects of Raw/Green Banana in Hindi.

कच्चा केला खाने के फायदे और नुकसान जानने के लिए जरूर पढ़े यह लेख. कच्चा केला जिसे Green Banana भी कहा जाता हैं, सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं. Benefits & Side effects of Raw/Green Banana in Hindi.

कच्चा केला दिखने में जितना अच्छा होता हैं, उतना खाने में भी. ज़्यादातर इसका सेवन सब्ज़ी और नमकीन के लिए किया जाता हैं. केला कच्चा हो या पका, सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं. इसमें मौज़ूद बहुत सारे विटमिन्स, मिनरल्स, फाइबर्स ब्लड शुगर कंट्रोल करने के साथ ही कोलेस्टरॉल और वजन को कम करने में मददगार होते हैं.

कच्चा केला खाने के फायदे जरूर पढ़े :-

स्टार्च का बेहतरीन सोर्स हैं.

रेज़िस्टेंट स्टार्च एक अलग तरह का स्टार्च होता हैं जो शरीर के लिए एक ज़रूरी तत्व हैं. यह शरीर की कई प्रकार की आंतरिक क्रियाओं को सुचारू रूप से संपन्न करने में अहम भूमिका निभाता हैं. कच्चे केले में इसकी काफ़ी अधिक मात्रा पाई जाती हैं. रिसर्च में यह बात सामने आई हैं की भोजन में रेज़िस्टेंट स्टार्च की मात्रा डायबिटीज, अपच, गैस और दिल की बीमारियो के साथ ही कोलेस्टरॉल लेवल को भी कंट्रोल करती हैं. यह अच्छी सेहत के लिए बहुत ही ज़रूरी हैं. इसके साथ ही यह फुड को ज़रूरी एनर्जी में बदलता हैं, जो वजन कम करने में भी कारगर होता हैं.

विटामिन सी की उचित मात्रा

कच्चे केले का भोजन में उपयोग कर शरीर के लिए ज़रूरी विटामिन सी की कमी को पूरा किया जा सकता हैं. शरीर को स्वस्थय रखने के लिए विटामिन सी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं. विटामिन सी एंटी-ऑक्सिडेंट्स के तौर पर काम करता हैं जो स्किन इन्फेक्शन से बचाने के साथ ही कई बीमारियो से लड़ने में सहायक होता हैं. इसकी कमी से स्कर्वी, एनीमिया, मसूड़ो के समस्या और हार्ट रिलेटेड कई समस्याओं का ख़तरा बना रहता हैं.

फाइबर की अच्छी मात्रा

कच्चे केले में फाइबर की पर्याप्त मात्रा होती हैं. एक कप उबले कच्चे केले में 3.6 ग्राम फाइबर पाया जाता हैं, जो पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में मदद करता हैं. इसके साथ ही यह डायबिटीज और दिल की बीमारियो के ख़तरे को भी कम करता हैं. खाने में इसे शामिल करने से जल्दी ही वजन कम किया जा सकता हैं. शरीर को रोजाना करीब 14% फाइबर मिले तो पेट संबंधित कई सारी बीमारिया दूर रहती हैं. केला खाने से पर्याप्त मात्रा में फाइबर की पूर्ति हो जाती हैं.

पोटैशियम का ख़ज़ाना

सभी हरी सब्ज़िया पोटैशियम का ख़ज़ाना होती हैं. कच्चा केला भी उनमे से एक हैं. ज़्यादातर लोग अपनी डेली डाइट में पोटैशियम की उतनी मात्रा नही ले पाते , जितनी शरीर को ज़रूरत होती हैं. दिन भर इसकी कमी को कुछ ना कुछ खा कर पूरा कर पाना मुश्किल हैं. इसके लिए ज़रूरी हैं पोटैशियम से भरपूर मात्रा वाले खाद्य पदार्थ का सेवन केला खा कर इसकी कमी को पूरा किया जा सकता हैं. इसकी भरपूर मात्रा शरीर में फ्लूइड और एलेक्ट्रोलाइट्स के बैलेंस को सही रखती हैं. साथ ही मसल्स, नर्वस सिस्टम भी सही ढंग से काम करते हैं.

विटामिन बी6 का सोर्स

विटामिन बी6 की सबसे ज़्यादा मात्रा कच्चे केले में पाई जाती हैं. यह पानी में आसानी से घुलने वाला विटामिन हैं, जो कारबोहाइड्रेट, प्रोटीन और मेटाबॉलिज़म के लिए ज़िम्मेवार केमिकल्स के बनने के लिए बहुत ही ज़रूरी होता हैं. मोटापे को कंट्रोल करने के लिए भी कच्चा केला बहुत ही ज़्यादा फायदेमंद होता हैं. विटामिन बी6 हीमोग्लोबिन के बनाने में भी सहायक होता हैं, जिससे सेल्स टिश्यू और बाकी अंगो को ज़रूरी मात्रा में ऑक्सिजन की सप्लाइ हो जाती हैं.

कच्चे केला से होने वाले नुकसान

कच्चे केले में पके हुए केले के मुक़ाबले एंटी-ऑक्सिडेंट्स की मात्रा बहुत ज़्यादा पाई जाती हैं, जो कई बार सेहत के लिए नुक़सानदायक होती हैं. इसके अलावा, इसमे मौज़ूद स्टार्च की मात्रा से गैस की प्राब्लम भी हो सकती हैं.







अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *