कटहल खाने के फायदे.

Kathal khane ke fayde. Benefits of Jack fruit in Hindi.

कटहल सब्जी और फल दोनों ही हैं। शायद अपने इसी गुण के कारण इसे अंग्रेजी में Jackfruit कहा जाता हैं। क्योंकि एक तो आप कटहल की सब्जी बना कर खा सकते है, दूसरा पका हुआ कटहल आप फल की तरह खा सकते हैं। दोनों ही तरीकों से कटहल खाने के फायदे होते हैं। कटहल बाहर से निकलने में सख्त होता है, लेकिन अंदर से मुलायम होता हैं। कटहल विशेष करके साउथ-ईस्ट एशिया में ज्यादा पैदा होता हैं जिसमे थाईलैंड और वियतनाम देश शामिल हैं।

और बढ़िया बात यह हैं की भारत में भी कटहल अच्छी मात्रा में पैदा होता हैं। कटहल का पेड़ अलग-अलग देशों में अलग-अलग प्रजातियों का होता हैं, जिसके चलते कटहल अलग-अलग देशों में अलग-अलग आकार और विभिन्न प्रकार के स्वाद में मिलता हैं। कटहल की सब्जी देखने में मटन की तरह दिखाई देती हैं। यह खाने में इतनी ज्यादा स्वादिष्ट होती हैं, की इसे वेजेटेरियन और नॉन-वेजेटेरियन दोनों ही तरह के लोग बड़े चाव के साथ खाना पसंद करते हैं।

कटहल में फैट न के बराबर होता है, परन्तु कटहल खाने से शरीर को एनर्जी पर्याप्त मात्रा में प्राप्त होती है। कई सारे देशों में कटहल को शुगर सिरप में डाल कर इस्तेमाल किया जाता हैं। इसके अलावा कई सारे देशों में कटहल के गुदे से केक, जैम, जैली, कैंडी, चटनी और विभिन्न प्रकार की मिठाईयां आदि भी बनाये जाते हैं। कटहल का गुदा फाइबर का बढ़िया स्रोत हैं। साथ ही कटहल के बीज भी सेहत के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होते हैं। कई देशों में कटहल के बीजों को स्नैक्स के रूप में भी खाया जाता हैं। आइये जानते हैं कटहल खाने से सेहत को क्या-क्या लाभ होते हैं? Health Benefits of Jackfruit in Hindi.

कटहल खाने के फायदे :-

1. हड्डियों को मजबूत बनाये

कटहल में कैल्शियम ज्यादा मात्रा में पाया जाता हैं। जिससे यह हड्डियों को हेल्दी रखता हैं और उन्हें मजबूत बनाता हैं। कटहल के सेवन से ऑस्टियोपोरोसिस, आर्थराइटिस जैसी बिमारियों से बचने में मदद मिलती हैं। वैसे तो शरीर में कैल्शियम की पूर्ति के लिए डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करने की सलाह दी जाती हैं, लेकिन कुछ फल और सब्जियां ऐसी भी हैं, जिन्हें खाने से शरीर में कैल्शियम को पूरा किया जा सकता हैं।

2. ब्लड प्रेशर कंट्रोल करे

पोटैशियम ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करने के लिए जरूरी माना गया हैं। शरीर को रोजाना 4700 ml पोटैशियम की आवश्यकता होती हैं, ताकि शरीर में सोडियम का लेवल बैलेंस रखा जा सके। पोटैशियम का बैलेंस बिगड़ने से धमनियों और दिल से जुड़ी बीमारियाँ होने का ख़तरा काफी ज्यादा बढ़ जाता हैं। इन सबके अलावा पोटैशियम हार्ट मसल्स की फंक्शनिंग सही बनाये रखता हैं। कठहल में पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम होता हैं। यह fluid लेवल के साथ इलेक्ट्रोलाइट लेवल के बैलेंस को सही बनाये रखता हैं। इससे ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल में रहता हैं, जिससे स्ट्रोक और हार्ट अटैक आने का ख़तरा कम हो जाता हैं।

3. आँखों के लिए फायदेमंद

कटहल विटामिन ए का अच्छा स्रोत हैं, जिससे आँखों को काफी ज्यादा लाभ होता हैं। यह आँखों से जुड़ी बीमारियाँ और इन्फेक्शन से बचाता हैं। जैसे की मोतियाबिंद, आँखों का सूखापन, आँखों से पानी आना आदि आँखों से सम्बन्धित काफी गम्भीर बीमारियाँ हैं। कटहल को खाने से आँखों की नेत्र ज्योति (आँखों की रोशनी) भी बढ़ती हैं। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट होता हैं तो आँखों को सुरज की हानिकारक अल्ट्रा-वायलेट किरणों से भी सुरक्षा प्रदान करता हैं।

4. खून बढ़ाता हैं

ब्लड में रेड सेल्स की कमी होने से हीमोग्लोबिन और एनीमिया जैसी समस्याओं को पैदा करती हैं। जिसके कारण ऑक्सीजन की जरूरी मात्रा शरीर के सभी अंगो तक सप्लाई नहीं हो पाती हैं और आपको थकान, सूजन और चेहरे पर कालेपन जैसे लक्षण दिखाई देने लगते है। कटहल में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। जिससे शरीर में खून की कमी को दूर करने में आसानी होती हैं। कटहल में कॉपर और मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स भी पाए जाते हैं जो खून की मात्रा को बढ़ाते हैं।

5. एनर्जी बढ़ाये

बहुत ही कम फल और सब्जियां ऐसी हैं, जिन्हें एनर्जी देने वाली श्रेणी में रखा गया हैं। कटहल भी उन गिनी चुनी सब्जियों और फलों में से एक हैं जो शरीर को एनर्जी देता हैं। इसमें एनर्जी देने वाले 2 तत्व कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी पर्याप्त मात्रा में होते हैं। इसके अलावा इसमें बॉडी में आसानी से घुलने और पचने वाले शुगर जैसे की फ्रक्टोज़ और सुक्रोस भी पाए जाते हैं। डायबिटीज के मरीज़ भी बिना किसी दिक्कत के कटहल खा सकते हैं। ध्यान रखे की रोजाना कटहल खाना बुरा नहीं हैं, लेकिन उसके साथ रोजाना कसरत करनी जरूरी हैं।

जरूर पढ़े :- स्टैमिना बढ़ाने वाले फूड और आहार।

6. बवासीर से बचाए

गुदाद्वार के आसपास ब्लड वेसल्स में सूजन होने के कारण बवासीर की दर्दनाक बीमारी हो जाती हैं। जब पेट साफ़ नहीं होता हैं तो यह बीमारी और भी ज्यादा गंभीर बन जाती हैं। बवासीर ज्यादा बढ़ने पर ऑपरेशन करने की नौबत भी आ जाती हैं। बवासीर की शुरुवात कब्ज़ की वजह से होता हैं। ऐसी में कटहल खाने से पेट से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती हैं। इसमें मौजूद रेशे (फाइबर) पेट को अच्छी तरह से साफ कर देते हैं और पेट की परेशानियों को ख़त्म करके पेट को तंदरुस्त बनाते हैं।

7. इम्यून सिस्टम मजबूत बनाये

कटहल में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। साथ ही इसमें जरूरी Methanol और Ethanol भी होता हैं। इसलिए कटहल खाने से बॉडी का इम्यून सिस्टम मजबूत बनता हैं। जिससे सीजनल बुखार, सर्दी-जुकाम, खांसी आदि से बचने में मदद मिलती हैं। यह बॉडी की इम्युनिटी को बढ़ाता हैं, जिससे आप बार-बार और जल्दी बीमार नहीं पड़ते हैं।

8. अस्थमा में फायदेमंद

पोल्यूशन, धूल-मिट्टी और खराब इम्यून सिस्टम की वजह से हर साल अस्थमा के मरीजों की संख्या बढ़ रही हैं। कटहल अस्थमा के रोगियों के लिए काफी ज्यादा लाभकारी होता हैं। कटहल खाने से सांस लेने में परेशानी, अटैक आदि जैसी दूर हो जाती हैं।

9. स्किन के लिए फायदेमंद

इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट स्किन के लिए काफी ज्यादा लाभदायक होते हैं। कटहल के सेवन से चेहरे पर असमय होने वाले बुढ़ापे के लक्षण जैसे की झुर्रियां आदि को रोकने और उन्हें ख़त्म करने में मदद मिलती हैं। कटहल नियमित रूप से खाने से स्किन इन्फेक्शन, कैंसर और ट्यूमर जैसी प्रॉब्लम से लड़ने में आसानी होती हैं।

10. पाचन क्रिया दुरुस्त बनाये

कटहल को काटने के बाद इसमें मौजूद आपको रेशे आसानी के साथ दिखाई दे जायेंगे। यह पाचन क्रिया के लिए काफी ज्यादा लाभकारी हैं। प्रति 100 ग्राम कटहल में 1.5 ग्राम फाइबर की मात्रा होती हैं, जिससे खाने को पचाने में मदद मिलती हैं। इसका सेवन करने से कब्ज़, अपच जैसी समस्याओं से भी मुक्ति मिलती हैं। साथ ही इससे पेट की गैस भी दूर होती हैं।

11. कोलन कैंसर से बचाए

कटहल खा कर कोलन कैंसर जैसी सीरियस बीमारी से भी आराम मिलता हैं। कटहल का गुदा ही नहीं, बल्कि इसके बीज भी कैंसर से लड़ने में मददगार होते हैं। कटहल में ऐसे गुण और एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते है जो शरीर से बेकार toxins को बाहर निकाल देते हैं, जिससे शरीर तंदरुस्त बनता हैं। इससे कैंसर का इलाज तो नहीं किया सकता हैं, लेकिन कैंसर होने के खतरे को काफी हद तक कम करने में मदद मिलती हैं।



अगर लेख अच्छा लगा हो तो निचे सोशल मीडिया बटन से अपने दोस्तों में शेयर करना न भूले, क्योंकि आपका एक शेयर इस वेबसाइट को आगे जारी रखने के लिए हमें प्रेणना देगा...

इन्हें भी जरूर पढ़े...

जानिए पानी पीने के तरीके के बारे में आयुर्वेद क्या कहता हैं?
बादाम को भिगो कर क्यों खाना चाहिए?
ज्यादा अदरक की चाय पीने से होते हैं यह नुकसान।
बरगद के पेड़ के फायदे, इसके घरेलु नुस्खे और उपाय।
लेमन ग्रास टी पीने से सेहत को होते हैं यह बेहतरीन फायदे।
इन गलतियों की वजह से आँखों के खराब होने का ख़तरा ज्यादा रहता हैं।
पुदीने के तेल से होते हैं यह गज़ब के फायदे।
भिन्डी का पानी पीने के फायदे और इसे बनाने और लेने का तरीका जानिए।
डेंगू के बुखार से राहत दिलाते हैं यह हेल्दी जूस।
चावल और रोटी दोनों में कौन हैं ज्यादा बेहतर?
घबराहट और बेचैनी होने पर इन टिप्स को जरूर अजमाए।
दिवाली के बाद शरीर की अंदरूनी सफाई करने के टिप्स जानिए।